Asianet News Hindi

सबसे बड़ी खबर: जानिए 14 अप्रैल के बाद ट्रेनें चलेंगी या नहीं, उड़ानों का क्या होगा? सरकार का बड़ा ऐलान

First Published Apr 14, 2020, 12:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया है। वहीं, रेलवे ने भी साफ कर दिया कि 3 मई तक ट्रेनें नहीं चलेंगी। उधर, उड्डयन मंत्रालय ने भी साफ कर दिया है कि 3 मई तक सभी उड़ानें रद्द रहेंगी। हालांकि, रेलवे ने कहा है कि इस दौरान के बुक सभी टिकटों के पैसे वापस मिल जाएंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान किया। इससे पहले 25 मार्च को 21 दिनों का लॉकडाउन लगाया गया था। यह लॉकडाउन 14 अप्रैल को खत्म होना था। लेकिन राज्य सरकारों की सलाह के बाद इसे बढ़ाने का फैसला किया गया।
 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, भारतीय रेलवे ने बताया, सभी यात्री ट्रेनों को 3 मई तक रद्द कर दिया है। इस दौरान की यात्रा के लिए बुक किए गए टिकटों के पैसे अपने आप ही वापस मिल जाएंगे। हालांकि, जरूरी सेवाओं की पूर्ति के लिए रेलवे अपनी सेवा जारी रखेगी।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, भारतीय रेलवे ने बताया, सभी यात्री ट्रेनों को 3 मई तक रद्द कर दिया है। इस दौरान की यात्रा के लिए बुक किए गए टिकटों के पैसे अपने आप ही वापस मिल जाएंगे। हालांकि, जरूरी सेवाओं की पूर्ति के लिए रेलवे अपनी सेवा जारी रखेगी।

पहले माना जा रहा था कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म होने के बाद ट्रेन और उड़ानें शुरू की जा सकती हैं। लेकिन ज्यादातर राज्य इसे बढ़ाने के पक्ष में थे। केंद्र सरकार ने राज्य सरकार के सुझावों को मानते हुए लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान किया। 

पहले माना जा रहा था कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म होने के बाद ट्रेन और उड़ानें शुरू की जा सकती हैं। लेकिन ज्यादातर राज्य इसे बढ़ाने के पक्ष में थे। केंद्र सरकार ने राज्य सरकार के सुझावों को मानते हुए लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान किया। 

भारत में कोरोना की बात करें तो 14 अप्रैल सुबह 10 बजे तक कोरोना के 10,543 केस आ चुके हैं। इसमें 8902 एक्टिव केस हैं और 1193 लोग ठीक हो चुके हैं। हालांकि इस दौरान कोरोना से 358 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य हैं। महाराष्ट्र में कोरोना के 2334 केस और 160 मौत हुई है। दिल्ली में 1510 केस और 28 मौत हुई है। वहीं तमिलनाडु में 1173 संक्रमित और 11 की मौत हुई है।

भारत में कोरोना की बात करें तो 14 अप्रैल सुबह 10 बजे तक कोरोना के 10,543 केस आ चुके हैं। इसमें 8902 एक्टिव केस हैं और 1193 लोग ठीक हो चुके हैं। हालांकि इस दौरान कोरोना से 358 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य हैं। महाराष्ट्र में कोरोना के 2334 केस और 160 मौत हुई है। दिल्ली में 1510 केस और 28 मौत हुई है। वहीं तमिलनाडु में 1173 संक्रमित और 11 की मौत हुई है।

इससे पहले मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से भी खबरें चल रही थीं कि कुछ कंडीशन के साथ कुछ रूट्स पर ट्रेनें चलाई जा सकती हैं।

इससे पहले मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से भी खबरें चल रही थीं कि कुछ कंडीशन के साथ कुछ रूट्स पर ट्रेनें चलाई जा सकती हैं।

साथ ही कहा जा रहा था कि ट्रेन सेवाएं शुरू करने के लिए देश के रेल नेटवर्क को रेड, येलो और ग्रीन जोन में बांटा जाएगा। रेड जोन में वह जगहे होंगी, जहां पर कोरोना संक्रमण का खतरा सबसे ज्यादा है। रेड जोन में कोई भी ट्रेन नहीं चलाई जाएगी। येलो जोन में वह क्षेत्र रखे जाएंगे जहां पर कोरोना का खतरा तो है, लेकिन बहुत सीमित है। यहां पर सीमित संख्या में ट्रेने चलाई जा सकती है।

साथ ही कहा जा रहा था कि ट्रेन सेवाएं शुरू करने के लिए देश के रेल नेटवर्क को रेड, येलो और ग्रीन जोन में बांटा जाएगा। रेड जोन में वह जगहे होंगी, जहां पर कोरोना संक्रमण का खतरा सबसे ज्यादा है। रेड जोन में कोई भी ट्रेन नहीं चलाई जाएगी। येलो जोन में वह क्षेत्र रखे जाएंगे जहां पर कोरोना का खतरा तो है, लेकिन बहुत सीमित है। यहां पर सीमित संख्या में ट्रेने चलाई जा सकती है।

 तीसरा है ग्रीन जोन। ग्रीन जोन में वह क्षेत्र आएंगे जहां पर कोरोना का खतरा ना के बराबर है। यहां पर ट्रेनें पूरी तरह से शुरू कर दी जाएंगी। हालांकि अभी तक रेलवे ने सिर्फ यह प्लान तैयार किया है अभी इसपर फैसला होना बाकी है।

 तीसरा है ग्रीन जोन। ग्रीन जोन में वह क्षेत्र आएंगे जहां पर कोरोना का खतरा ना के बराबर है। यहां पर ट्रेनें पूरी तरह से शुरू कर दी जाएंगी। हालांकि अभी तक रेलवे ने सिर्फ यह प्लान तैयार किया है अभी इसपर फैसला होना बाकी है।

हालांकि, अब रेलवे ने साफ कर दिया कि ट्रेन सेवा 3 मई तक बंद रहेगी। हालांकि, उसके बाद इस प्लान के तहत रेल सेवा शुरू की जा सकती है।

हालांकि, अब रेलवे ने साफ कर दिया कि ट्रेन सेवा 3 मई तक बंद रहेगी। हालांकि, उसके बाद इस प्लान के तहत रेल सेवा शुरू की जा सकती है।


इससे पहले भी रेल मंत्रालय ने इसपर कुछ भी स्पष्ट नहीं किया था। रेल मंत्रालय ने साफ कहा कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद यात्रा के लिए अब तक कोई प्रोटोकॉल जारी नहीं किया गया है। इस संबंध में निर्णय लेना अभी बाकी है।


इससे पहले भी रेल मंत्रालय ने इसपर कुछ भी स्पष्ट नहीं किया था। रेल मंत्रालय ने साफ कहा कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद यात्रा के लिए अब तक कोई प्रोटोकॉल जारी नहीं किया गया है। इस संबंध में निर्णय लेना अभी बाकी है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios