Asianet News Hindi

बिना कारण जाने राज्य में घुसने की अनुमति नहीं दूंगी... मोदी सरकार के फैसले पर भड़कीं ममता बनर्जी

First Published Apr 20, 2020, 8:06 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देश में कोरोना महामारी के बीच केंद्र और राज्य सरकारों के बीच जंग जारी है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार के एक फैसले का कड़ा विरोध किया। दरअसल, केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल सहित कुछ राज्यों में इंटर मिनिस्ट्रीयल सेंट्रल टीम (आईएमसीटी) भेजने का फैसला किया। ये टीम राज्यों में लॉकडाउन के जमीनी हालात पर केंद्र सरकार को अपनी रिपोर्ट भेजेंगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पत्र लिखकर इसका कड़ा विरोध किया।
 

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर बताया, हम कोरोना महामारी के खिलाफ केंद्र सरकार के सहयोग और सुझावों का स्वागत करते हैं। हालांकि केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल समेत कुछ अन्य राज्यों में आईएमसीटी को भेजने का जो फैसला लिया है, उसका उद्देश्य समझ से परे है।
 

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर बताया, हम कोरोना महामारी के खिलाफ केंद्र सरकार के सहयोग और सुझावों का स्वागत करते हैं। हालांकि केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल समेत कुछ अन्य राज्यों में आईएमसीटी को भेजने का जो फैसला लिया है, उसका उद्देश्य समझ से परे है।
 

पश्चिम बंगाल सीएम ने PM मोदी को पत्र में लिखा, केंद्रीय टीमों ने राज्य सरकार को पूरी तरह से अंधेरे में रखा और रसद सहायता के लिए BSF और SSB जैसे केंद्रीय बलों से संपर्क किया। गृह मंत्री ने राज्य में अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय टीमों की यात्रा के बारे में दोपहर 1 बजे टेलीफोन पर मुझसे बात की। दुर्भाग्य से हमारी बातचीत से बहुत पहले टीमें सुबह 10:10 बजे कोलकाता में उतर चुकी थीं।

पश्चिम बंगाल सीएम ने PM मोदी को पत्र में लिखा, केंद्रीय टीमों ने राज्य सरकार को पूरी तरह से अंधेरे में रखा और रसद सहायता के लिए BSF और SSB जैसे केंद्रीय बलों से संपर्क किया। गृह मंत्री ने राज्य में अंतर-मंत्रालयी केंद्रीय टीमों की यात्रा के बारे में दोपहर 1 बजे टेलीफोन पर मुझसे बात की। दुर्भाग्य से हमारी बातचीत से बहुत पहले टीमें सुबह 10:10 बजे कोलकाता में उतर चुकी थीं।

ममता ने कहा, बिना कारण जाने, नहीं दूंगी अनुमति- केंद्र ने कहा कि पश्चिम बंगाल के कोलकाता, हावड़ा, पूर्वी मेदिनीपुर, उत्तरी 24 परगना, दार्जीलिंग, कैलिमपोंग और जलपाईगुड़ी में हालात ठीक नहीं हैं। इस पर ममता बनर्जी ने आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि  मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से राज्य के इन जिलों को चुने जाने का आधार पूछती हूं। मुझे यह कहते हुए अफसोस हो रहा है कि बिना किसी स्पष्ट कारण के मैं इसकी अनुमति नहीं दे पाऊंगी, क्योंकि यह संघ की भावना के खिलाफ है।
 

ममता ने कहा, बिना कारण जाने, नहीं दूंगी अनुमति- केंद्र ने कहा कि पश्चिम बंगाल के कोलकाता, हावड़ा, पूर्वी मेदिनीपुर, उत्तरी 24 परगना, दार्जीलिंग, कैलिमपोंग और जलपाईगुड़ी में हालात ठीक नहीं हैं। इस पर ममता बनर्जी ने आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि  मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से राज्य के इन जिलों को चुने जाने का आधार पूछती हूं। मुझे यह कहते हुए अफसोस हो रहा है कि बिना किसी स्पष्ट कारण के मैं इसकी अनुमति नहीं दे पाऊंगी, क्योंकि यह संघ की भावना के खिलाफ है।
 

पश्चिम बंगाल में कोरोना की स्थिति- 20 अप्रैल तक पश्चिम बंगाल में कोरोना के 339 केस सामने आ चुके हैं। इसमें से 261 एक्टिव केस हैं। 66 लोग ठीक हो चुके हैं और 12 लोगों की मौत हो चुकी है। कोलकाता में 11, हावड़ा में 1, उत्तरी 24 परगना में 4, कैलिमपोंग में 1 केस सामने आया है। 

पश्चिम बंगाल में कोरोना की स्थिति- 20 अप्रैल तक पश्चिम बंगाल में कोरोना के 339 केस सामने आ चुके हैं। इसमें से 261 एक्टिव केस हैं। 66 लोग ठीक हो चुके हैं और 12 लोगों की मौत हो चुकी है। कोलकाता में 11, हावड़ा में 1, उत्तरी 24 परगना में 4, कैलिमपोंग में 1 केस सामने आया है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios