Asianet News Hindi

शरीर पर डरावने जख्म, चेहरे पर गहरा गड्ढा... दिशा का शव लेने पहुंचे एम्बुलेंस ड्राइवर ने बताई पूरी कहानी

First Published Sep 21, 2020, 4:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. दिशा सलियन की मौत संदेह के घेरे में है। मुंबई पुलिस ने दिशा की मौत को आत्महत्या बताया था, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से कुछ सवाल और खुलासे ऐसे हैं जो शक पैदा करते हैं कि कहीं दिशा की हत्या तो नहीं हुई? इतना ही नहीं, दिशा की मौत का दूसरा छोर सुशांत केस से भी जोड़कर देखा जा रहा है। इस बीत दिशा को लेकर रिपब्लिक मीडिया ने बड़ा खुलासा किया है।  

दिशा सलियन के मृत शरीर को ले जाने के लिए बुलाई गई एम्बुलेंस के ड्राइवर पंकज सादाने ने रिपब्लिक टीवी से 8-9 जून की घटना का खुलासा किया। उसने बताया कि दिशा का शव किस हालत में था।
 

दिशा सलियन के मृत शरीर को ले जाने के लिए बुलाई गई एम्बुलेंस के ड्राइवर पंकज सादाने ने रिपब्लिक टीवी से 8-9 जून की घटना का खुलासा किया। उसने बताया कि दिशा का शव किस हालत में था।
 

एम्बुलेंस के ड्राइवर पंकज सादाने ने बताया, मुझे कल्याण नगर से लगभग 1.45 बजे (रात) फोन आया कि किसी ने आत्महत्या कर ली है, जल्दी से एम्बुलेंस ले आओ। 
 

एम्बुलेंस के ड्राइवर पंकज सादाने ने बताया, मुझे कल्याण नगर से लगभग 1.45 बजे (रात) फोन आया कि किसी ने आत्महत्या कर ली है, जल्दी से एम्बुलेंस ले आओ। 
 

उसने बताया, 10 मिनट में मैं वहां पहुंच गया। कॉल मुंबई पुलिस का था। लेकिन जब मैं वहां पहुंचा तो उन्होंने मुझे बताया कि शव को पहले ही एक निजी कार में हॉस्पिटल ले जाया गया था। 
 

उसने बताया, 10 मिनट में मैं वहां पहुंच गया। कॉल मुंबई पुलिस का था। लेकिन जब मैं वहां पहुंचा तो उन्होंने मुझे बताया कि शव को पहले ही एक निजी कार में हॉस्पिटल ले जाया गया था। 
 

एम्बुलेंस ड्राइवर पंकज ने बताया, जब मैं वहां पहुंचा, तब वहां पर कई लोग इकट्ठा हुए थे। पुलिस की कई गाड़ियां थीं। उन्होंने मुझसे कहा कि पड़ोसी या कोई दोस्त पहले ही बॉडी को हॉस्पिटल ले गया। 
 

एम्बुलेंस ड्राइवर पंकज ने बताया, जब मैं वहां पहुंचा, तब वहां पर कई लोग इकट्ठा हुए थे। पुलिस की कई गाड़ियां थीं। उन्होंने मुझसे कहा कि पड़ोसी या कोई दोस्त पहले ही बॉडी को हॉस्पिटल ले गया। 
 

पंकज ने बताया, इसके बाद किसी दूसरे मामले में दूसरी बॉडी लेकर शताब्दी हॉस्पिटल पहुंचा। इसमें मुझे करीब 30 मिनट लगा होगा। उस वक्त हॉस्पिटल में कुछ लोग दिशा के शव को उतार रहे थे। फिर नीचे ट्राली पर ले गए तो डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।
 

पंकज ने बताया, इसके बाद किसी दूसरे मामले में दूसरी बॉडी लेकर शताब्दी हॉस्पिटल पहुंचा। इसमें मुझे करीब 30 मिनट लगा होगा। उस वक्त हॉस्पिटल में कुछ लोग दिशा के शव को उतार रहे थे। फिर नीचे ट्राली पर ले गए तो डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।
 

उसने बताया, दिशा के शरीर पर चोट के कई निशान थे। पूरा शरीर बुरी तरह घायल था।  उसकी ठुड्डी के बगल में 1.5 इंच का छेद था। उसकी आंखें, नाक, दांत से खून बह रहा था। उसका हाथ भी मुड़ गया था। स्पॉट पंचनामा किया गया।
 

उसने बताया, दिशा के शरीर पर चोट के कई निशान थे। पूरा शरीर बुरी तरह घायल था।  उसकी ठुड्डी के बगल में 1.5 इंच का छेद था। उसकी आंखें, नाक, दांत से खून बह रहा था। उसका हाथ भी मुड़ गया था। स्पॉट पंचनामा किया गया।
 

एम्बुलेंस ड्राइवर ने यह भी कहा कि दिशा सलियन का पूरा शरीर कपड़े से ढका था। उसने लाल रंग की टॉप और ग्रे रंग की लेगिंग पहन रखी थी। उसने बताया, जब उसे पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया तब उसके कपड़े हटा दिए गए और बदल गए।
 

एम्बुलेंस ड्राइवर ने यह भी कहा कि दिशा सलियन का पूरा शरीर कपड़े से ढका था। उसने लाल रंग की टॉप और ग्रे रंग की लेगिंग पहन रखी थी। उसने बताया, जब उसे पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया तब उसके कपड़े हटा दिए गए और बदल गए।
 

ड्राइवर ने कहा, कोरोनोवायरस के कारण किसी भी व्यक्ति को अंदर प्रवेश करने की अनुमति नहीं थी। मुंबई पुलिस ने कहा कि उसके दो दोस्त उसकी बॉडी लेने आए थे।
 

ड्राइवर ने कहा, कोरोनोवायरस के कारण किसी भी व्यक्ति को अंदर प्रवेश करने की अनुमति नहीं थी। मुंबई पुलिस ने कहा कि उसके दो दोस्त उसकी बॉडी लेने आए थे।
 

उन्होंने यह भी कहा कि दो निजी अस्पतालों ने उसे लेने से इनकार कर दिया था। वे पहले एवरशाइन गए, फिर तुंगा, फिर वे आखिरकार शताब्दी आए।
 

उन्होंने यह भी कहा कि दो निजी अस्पतालों ने उसे लेने से इनकार कर दिया था। वे पहले एवरशाइन गए, फिर तुंगा, फिर वे आखिरकार शताब्दी आए।
 

दिशा सलियन 8 जून और 9 की रात को मुंबई के मलाड में एक इमारत के 14 वें मंजिल के फ्लैट से गिर गई थीं। यह वही फ्लैट था जिसमें रोहन राय रह रहे थे। कहा जा रहा है कि वह इस फ्लैट को छोड़ने वाले थे।
 

दिशा सलियन 8 जून और 9 की रात को मुंबई के मलाड में एक इमारत के 14 वें मंजिल के फ्लैट से गिर गई थीं। यह वही फ्लैट था जिसमें रोहन राय रह रहे थे। कहा जा रहा है कि वह इस फ्लैट को छोड़ने वाले थे।
 

मुंबई पुलिस ने इसे 'आत्महत्या' कहा था, हालांकि रहस्यमय परिस्थितियों को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। बीजेपी विधायक नितेश राणे ने मांग की है कि रोहन राय को सीबीआई द्वारा तलब किया जाए।
 

मुंबई पुलिस ने इसे 'आत्महत्या' कहा था, हालांकि रहस्यमय परिस्थितियों को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। बीजेपी विधायक नितेश राणे ने मांग की है कि रोहन राय को सीबीआई द्वारा तलब किया जाए।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios