Asianet News Hindi

वैलेंटाइन डे पर IAS अधिकारी ने किया पुलिसवाली को प्रपोज, मान गई तो ड्यूटी पर ही कर ली चटपट शादी

First Published Feb 15, 2020, 10:23 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता. देश-दुनिया में 14 फरवरी 2020 को पूरे धूमधाम से वैलेटाइन डे मनाया गया। मोहब्बत और प्यार के दिन प्रेमी जोड़े एक दूसरे का साथ निभाने की कसमें खाते दिखे। इस बीच पुलिस महकमे से भी मोहब्बत का पैगाम देने वाली एक खबर सामने आई है। पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में एक आईएएस (IAS) अधिकारी ने आईपीएस (IPS) प्रेमिका से शादी रचाकर वैलेंटाइन डे को यादगार बना दिया। 

ये अनोखी प्रेम कहानी है आईएएस तुषार सिंगला की जो 2015 बैच के बंगाल कैडर के अफसर हैं। उन्होंने आईपीएस नवजोत सिम्मी को वैलेटाइन डे पर शादी के लिए प्रपोज किया था। सिम्मी बिहार कैडर की 2018 बैच की आईपीएस हैं। सिम्मी अभी एसीपी के तौर पर पटना में तैनात हैं, दोनों अधिकारी पंजाब के रहने वाले हैं।

ये अनोखी प्रेम कहानी है आईएएस तुषार सिंगला की जो 2015 बैच के बंगाल कैडर के अफसर हैं। उन्होंने आईपीएस नवजोत सिम्मी को वैलेटाइन डे पर शादी के लिए प्रपोज किया था। सिम्मी बिहार कैडर की 2018 बैच की आईपीएस हैं। सिम्मी अभी एसीपी के तौर पर पटना में तैनात हैं, दोनों अधिकारी पंजाब के रहने वाले हैं।

तुषार के प्रपोजल पर सिम्मी ने भी हामी भर दी और दोनों का वैलेटाइन डे शादी तक पहुंच गया। मैरिज रजिस्ट्रेशन के बाद दोनों अपने करीबियों की मौजूदगी में शादी के बंधन में बंध गए। इस दौरान तुषार ने साधारण कोट पैंट कपड़े पहने और सिम्मी ने लाल साड़ी पहन शादी के मौके को और खूबसूरत बना दिया।

तुषार के प्रपोजल पर सिम्मी ने भी हामी भर दी और दोनों का वैलेटाइन डे शादी तक पहुंच गया। मैरिज रजिस्ट्रेशन के बाद दोनों अपने करीबियों की मौजूदगी में शादी के बंधन में बंध गए। इस दौरान तुषार ने साधारण कोट पैंट कपड़े पहने और सिम्मी ने लाल साड़ी पहन शादी के मौके को और खूबसूरत बना दिया।

इस पूरे मामले में चौंकाने वाली बात ये है कि दोनों की शादी एडमिनिस्ट्रेशन दफ्तर में ही हुई। उन्होंने अपने दफ्तर में ही शादी को लेकर पंजीकरण संबंधी औपचारिकता को पूरा किया। शुक्रवार को तुषार के दफ्तर में ही शादी का पंजीकरण हुआ, पंजीकरण की प्रक्रिया पूरा होने के बाद यह जोड़ा पूजा-पाठ करने के लिए मंदिर पहुंच गया।

इस पूरे मामले में चौंकाने वाली बात ये है कि दोनों की शादी एडमिनिस्ट्रेशन दफ्तर में ही हुई। उन्होंने अपने दफ्तर में ही शादी को लेकर पंजीकरण संबंधी औपचारिकता को पूरा किया। शुक्रवार को तुषार के दफ्तर में ही शादी का पंजीकरण हुआ, पंजीकरण की प्रक्रिया पूरा होने के बाद यह जोड़ा पूजा-पाठ करने के लिए मंदिर पहुंच गया।

शादी को लेकर जब सवाल उठे तो राज्य के मंत्री और हावड़ा जिले के अध्यक्ष अरूप रॉय ने जवाब दिया कि इसमें कुछ गलत नहीं है। रजिस्ट्री के जरिये शादी करना भी एक कानूनी प्रक्रिया है। इसलिए इसे लेकर कोई विवाद नहीं है कि सरकारी दफ्तर में शादी हुई। दोनों लोगों ने पंजीकरण के दस्तावेजों पर सिग्नेचर किया है।"

शादी को लेकर जब सवाल उठे तो राज्य के मंत्री और हावड़ा जिले के अध्यक्ष अरूप रॉय ने जवाब दिया कि इसमें कुछ गलत नहीं है। रजिस्ट्री के जरिये शादी करना भी एक कानूनी प्रक्रिया है। इसलिए इसे लेकर कोई विवाद नहीं है कि सरकारी दफ्तर में शादी हुई। दोनों लोगों ने पंजीकरण के दस्तावेजों पर सिग्नेचर किया है।"

अरूप रॉय ने आगे कहा, "सरकारी दफ्तर में किसी भोज का आयोजन नहीं किया गया था। इस स्थिति में विवाद का कोई सवाल ही नहीं है। मुझे नहीं लगता कि सरकारी कार्यालय में दो लोगों की शादी में कोई समस्या है। यह मेरे लिए कोई अपराध नहीं है। शायद वह ड्यूटी पर थे, जिसकी वजह से उन्होंने कार्यालय में यह किया। इन दोनों ने शादी करने के लिए सिर्फ कागजों पर हस्ताक्षर किए लेकिन कोई उत्सव नहीं हुआ। इसलिए मुझे इसमें कुछ गलत नहीं लगता है।" सोशल मीडिया पर दोनों अधिकारी की इस अनोखी लव स्टोरी और शादी पर लोग प्यार बरसा रहे हैं। उन्हें देशभर से बधाई संदेश मिल रहे हैं।

अरूप रॉय ने आगे कहा, "सरकारी दफ्तर में किसी भोज का आयोजन नहीं किया गया था। इस स्थिति में विवाद का कोई सवाल ही नहीं है। मुझे नहीं लगता कि सरकारी कार्यालय में दो लोगों की शादी में कोई समस्या है। यह मेरे लिए कोई अपराध नहीं है। शायद वह ड्यूटी पर थे, जिसकी वजह से उन्होंने कार्यालय में यह किया। इन दोनों ने शादी करने के लिए सिर्फ कागजों पर हस्ताक्षर किए लेकिन कोई उत्सव नहीं हुआ। इसलिए मुझे इसमें कुछ गलत नहीं लगता है।" सोशल मीडिया पर दोनों अधिकारी की इस अनोखी लव स्टोरी और शादी पर लोग प्यार बरसा रहे हैं। उन्हें देशभर से बधाई संदेश मिल रहे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios