Asianet News Hindi

किसान परेड में होने लगीं मौतें, 4 किसानों की दर्दनाक मौत, किसी को ट्रैक्टर ने रौंदा तो कोई ऐसे मर गया

First Published Jan 26, 2021, 5:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


अमृतसर (पंजाब). गणतंत्र दिवस के अवसर पर एक तरफ जहां देश के हजारों किसान राजधानी दिल्ली में ट्रैक्‍टर परेड निकाल रहे हैं। तो वहीं कुछ किसान उग्र होते हुए उत्पात मचाने लगे हैं। इसी बीच अब किसानों के आंदोलन से हादसों की खबरें भी आने लगी हैं। दिल्ली के ITO के पास ट्रैक्टर पलटने से एक और किसान की मौत हो गई। वहीं पंजाब के अमृतसर में भी एक बड़ा हादसा हो गया, जहां एक ट्रैक्टर से ड्राइवर ने अचानक नियंत्रण खो दिया और वह रैली में चल रहीं महिलाओं को रौंदता हुआ निकल गया। हादसे में दो महिलाओं की मौत हो गई, वहीं पांच महिलाएं घायल हो गईं। जबकि कुंडली बॉर्डर भी एक किसान ने संदिग्ध अवस्था में दम तोड़ दिया। इस तरह अभी तक चार लोगों की इस आंदोलन में मौत हो चुकी है।


दरअसल, अमृतसर के अटारी-वेरका बाईपास पर स्थित वल्ला गांव में एक ट्रैक्टर ने महिलाओं को रौंद डाला। यहां किसानों के समर्थन में आसपास के इलाके के लोग भारी संख्या में एकत्रित होकर रैली निकाल रहे थे। जिसमें कई महिलाओं के साथ बच्चे भी शामिल थे। इसी दौरान पानी का टैंकर लेकर आ रहे एक ट्रैक्टर चालक ने  इस पर से नियंत्रण खो दिया। वह रैली में जा रही महिलाओं को रौंदते हुए निकल गया। जिसमें दो की तो मौक पर ही मौत हो गई, जबकि कई महिलाओं को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
 


दरअसल, अमृतसर के अटारी-वेरका बाईपास पर स्थित वल्ला गांव में एक ट्रैक्टर ने महिलाओं को रौंद डाला। यहां किसानों के समर्थन में आसपास के इलाके के लोग भारी संख्या में एकत्रित होकर रैली निकाल रहे थे। जिसमें कई महिलाओं के साथ बच्चे भी शामिल थे। इसी दौरान पानी का टैंकर लेकर आ रहे एक ट्रैक्टर चालक ने  इस पर से नियंत्रण खो दिया। वह रैली में जा रही महिलाओं को रौंदते हुए निकल गया। जिसमें दो की तो मौक पर ही मौत हो गई, जबकि कई महिलाओं को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
 


इस ट्रैक्टर हादसे के बाद से इलाके में हककंप मच गया। रैली भाग ले रहे किसानों ने चालक को पकड़ लिया। जहां उसके पुलिस के हवाले कर दिया गया। हादसे के बाद वल्ला गांव में शोक की लहर दौड़ गई और ट्रैक्टर परेड भी स्थगित हो गई।     


इस ट्रैक्टर हादसे के बाद से इलाके में हककंप मच गया। रैली भाग ले रहे किसानों ने चालक को पकड़ लिया। जहां उसके पुलिस के हवाले कर दिया गया। हादसे के बाद वल्ला गांव में शोक की लहर दौड़ गई और ट्रैक्टर परेड भी स्थगित हो गई।     


कुंडली बॉर्डर पर चल रहे किसान ट्रैक्टर परेड में शामिल होने आए किसान की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। बताया जाता  है कि उसके सीने में अचानक दर्द उठा था। जहां साथी किसान उसे पास के अस्पताल लेकर गए, लेकिन पहुंचते ही उसने दम तोड़ दिया। मृतक किसान की पहचान राजेश (47) के रूप में हुई है जो मदीना गांव के रहने वाला बताया जाता है। वह ट्रैक्टर परेड में भाग लेने अपने साथियों के साथ 24 जनवरी को कुंडली बॉर्डर पर आया था। 


कुंडली बॉर्डर पर चल रहे किसान ट्रैक्टर परेड में शामिल होने आए किसान की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। बताया जाता  है कि उसके सीने में अचानक दर्द उठा था। जहां साथी किसान उसे पास के अस्पताल लेकर गए, लेकिन पहुंचते ही उसने दम तोड़ दिया। मृतक किसान की पहचान राजेश (47) के रूप में हुई है जो मदीना गांव के रहने वाला बताया जाता है। वह ट्रैक्टर परेड में भाग लेने अपने साथियों के साथ 24 जनवरी को कुंडली बॉर्डर पर आया था। 


बता दें कि ITO के पास ट्रैक्टर पलटने से एक और किसान की मौत हो गई। इसके बाद प्रदर्शनकारी  दिल्ली पुलिस मुख्यालय के पास किसान का शव लेकर धरने पर बैठ गए हैं। यहां धरना स्थल पर धीरे-धीरे किसानों की भीड़ लगने लगी है। हालांकि अभी तक मृतक किसान की पहचान नहीं हो पाई है।
 


बता दें कि ITO के पास ट्रैक्टर पलटने से एक और किसान की मौत हो गई। इसके बाद प्रदर्शनकारी  दिल्ली पुलिस मुख्यालय के पास किसान का शव लेकर धरने पर बैठ गए हैं। यहां धरना स्थल पर धीरे-धीरे किसानों की भीड़ लगने लगी है। हालांकि अभी तक मृतक किसान की पहचान नहीं हो पाई है।
 


वहीं मंगलवार सुबह चिल्ला बॉर्ड पर स्टंट करते हुए एक ट्रैक्टर पलट गया। जिसके नीचे दो युवक दब गए, हालांकि स्थानीय लोगों की मदद से दोनों युवकों को सकुशल निकाल लिया गया। बता दें कि  इसमें बैठे दो लोग ट्रैक्टर को घुमा-घुमाकर स्टंट करके दिखा रहे थे कि तभी चालक ने बैलेंस खो दिया और ट्रैक्टर पलट गया।


वहीं मंगलवार सुबह चिल्ला बॉर्ड पर स्टंट करते हुए एक ट्रैक्टर पलट गया। जिसके नीचे दो युवक दब गए, हालांकि स्थानीय लोगों की मदद से दोनों युवकों को सकुशल निकाल लिया गया। बता दें कि  इसमें बैठे दो लोग ट्रैक्टर को घुमा-घुमाकर स्टंट करके दिखा रहे थे कि तभी चालक ने बैलेंस खो दिया और ट्रैक्टर पलट गया।


फरीदाबाद में किसान उत्पात मचाते हुए दिल्ली में जबरन घुसने लगे। साथ ही सीमा के आसपास लगे बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की।  पुलिस ने इसके बाद लाठीचार्ज किया। तनाव के बाद यहां धारा 144 लागू कर दी गई है। फरीदाबाद-पलवल सीमा पर किसानों की ट्रेक्टर परेड पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन का इस्तेमाल कर रही है।


फरीदाबाद में किसान उत्पात मचाते हुए दिल्ली में जबरन घुसने लगे। साथ ही सीमा के आसपास लगे बैरिकेडिंग तोड़ने की कोशिश की।  पुलिस ने इसके बाद लाठीचार्ज किया। तनाव के बाद यहां धारा 144 लागू कर दी गई है। फरीदाबाद-पलवल सीमा पर किसानों की ट्रेक्टर परेड पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन का इस्तेमाल कर रही है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios