Asianet News Hindi

शक्ल देखकर नहीं होता कोरोना..मुंबई से ये भी संक्रमित होकर लौटे हैं, पहचानिए कौन?

First Published Jun 13, 2020, 5:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चंडीगढ़. कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए सावधानी रखें। क्योंकि कोरोना जात-पात, उम्र या शक्ल नहीं देखता। यह हैं सचिन तेंदुलकर के हमशक्ल बलवीर चंद। ये पिछले 25 सालों से सचिन के हमशक्ल के तौर पर पहचाने जाते हैं। मास्टर ब्लास्टर के हमशक्ल होने का इन्हें बहुत फायदा मिला। पैसा मिला..काम मिला। लेकिन कोरोना ने कोई लिहाज नहीं किया। पंजाब के नवांशहर जिले में पिछले दिनों 5 नए मरीज सामने आए हैं। इनमें एक सोना गांव, जबकि 4 साहलों गांव से है। साहलों के रहने वाले बलवीर चंद भी सक्रमित निकले हैं। वे मुंबई से लौटे हैं। बता दें कि पंजाब में अब तक 2,986 मरीज सामने आ चुके हैं। इनमें से 63 की मौत हो चुकी है। हालांकि 2,282 ठीक हो चुके हैं।

बता दें कि बलवीर को सचिन के डुप्लिकेट के तौर पर सबसे पहले 1998 में पहचान मिली थी। 1999 में एक मैच के दौरान सुनील गावस्कर ने दर्शक दीर्घा से उन्हें बुलाकर इंटरव्यू लिया था। आगे देखिए कोरोना काल में पंजाब की कुछ तस्वीरें..

बता दें कि बलवीर को सचिन के डुप्लिकेट के तौर पर सबसे पहले 1998 में पहचान मिली थी। 1999 में एक मैच के दौरान सुनील गावस्कर ने दर्शक दीर्घा से उन्हें बुलाकर इंटरव्यू लिया था। आगे देखिए कोरोना काल में पंजाब की कुछ तस्वीरें..

चंडीगढ़ में घुड़सवार पुलिस लॉकडाउन गश्त करते हुए।

चंडीगढ़ में घुड़सवार पुलिस लॉकडाउन गश्त करते हुए।

मास्क को लेकर लोग धीरे-धीरे जागरूक होते जा रहे हैं।

मास्क को लेकर लोग धीरे-धीरे जागरूक होते जा रहे हैं।

इन लड़कियों ने मास्क लगाना तो सीख लिया, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना नहीं।

इन लड़कियों ने मास्क लगाना तो सीख लिया, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना नहीं।

कोरोना संक्रमण के बीच किसान खेतों में मेहनत करते देखे जा सकते हैं।

कोरोना संक्रमण के बीच किसान खेतों में मेहनत करते देखे जा सकते हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios