Asianet News Hindi

शॉकिंग मर्डर: हत्यारे पति ने यह भी नहीं सोचा कि पत्नी के पेट में उसका बच्चा पल रहा है...

First Published Jun 11, 2020, 10:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

पटियाल, पंजाब. पत्नी से लगातार नाराज चल रहे पति ने चाकू घोंपकर उसकी हत्या कर दी। पत्नी 8 महीने की गर्भवती थी। आरोपी ने महिला के पेट और पीठ पर वार किए। इससे महिला और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे दोनों की मौत हो गई। आरोपी महिला को लहूलुहान नहर किनारे फेंककर भाग निकला। महिला की उम्र महज 21 साल थी। वहीं, आरोपी 22 साल का है। आरोपी घटनास्थल पर अपनी बाइक छोड़कर चला गया। कपल अलग किराये से रहता था। आरोपी गंगा कुमार पत्नी सरोज के साथ राजपुरा में पंजाबी एनक्लेव में रहता था। घटना मंगलवार की है। महिला और उसके बच्चे की बुधवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस को गंडा खेड़ी नहर के पास आरोपी की बाइक पड़ी मिली। आरोपी की मां कविता रानी ने बताया कि दोनों किराये के मकान में रहते थे। आगे पढे़ं इसी घटना के बारे में..

मृतका सरोज के भाई सूरज ने बताया कि उसकी बहन का इलाज चल रहा था। मंगलवार को वो मायके में दवा लेने आई थी। जीजा बहन के इलाज पर पैसे खर्च नहीं करता था। अकसर झगड़ते रहता था। मायके वाले उसके इलाज पर 80 हजार रुपए खर्च कर चुके थे, फिर भी जीजा बहन को परेशान करता था। आगे पढ़ें जब मां बनी हत्यारी..

मृतका सरोज के भाई सूरज ने बताया कि उसकी बहन का इलाज चल रहा था। मंगलवार को वो मायके में दवा लेने आई थी। जीजा बहन के इलाज पर पैसे खर्च नहीं करता था। अकसर झगड़ते रहता था। मायके वाले उसके इलाज पर 80 हजार रुपए खर्च कर चुके थे, फिर भी जीजा बहन को परेशान करता था। आगे पढ़ें जब मां बनी हत्यारी..

दिल दहलाने वाला यह मामला जालंधर का है। यहां शाहकोट कस्बा के सोहल जागीर गांव में सोमवार रात करीब 10 बजे एक मां ने अपने 6 साल के बेटे को चाकू से गोदकर मार डाला। इसके पीछे पारिवारिक झगड़ा बताया जाता है। बच्चे के दादा अवतार सिंह ने पुलिस को बताया कि उनकी पत्नी चरणजीत कौर और बहू कुलविंदर के बीच झगड़ा हो गया था। इसके बाद बहू पोते को लेकर कमरे में चली गई। उसने कमरा बंद करके चाकू से अपने ही बेटे को मार डाला। उसकी चीखें सुनकर सब दौड़े, लेकिन आरोपी महिला ने अंदर से कमरा बंद कर लिया था। इसके बाद आरोपी चाकू लेकर बाकियों को भी मारने दौड़ी। आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में...

दिल दहलाने वाला यह मामला जालंधर का है। यहां शाहकोट कस्बा के सोहल जागीर गांव में सोमवार रात करीब 10 बजे एक मां ने अपने 6 साल के बेटे को चाकू से गोदकर मार डाला। इसके पीछे पारिवारिक झगड़ा बताया जाता है। बच्चे के दादा अवतार सिंह ने पुलिस को बताया कि उनकी पत्नी चरणजीत कौर और बहू कुलविंदर के बीच झगड़ा हो गया था। इसके बाद बहू पोते को लेकर कमरे में चली गई। उसने कमरा बंद करके चाकू से अपने ही बेटे को मार डाला। उसकी चीखें सुनकर सब दौड़े, लेकिन आरोपी महिला ने अंदर से कमरा बंद कर लिया था। इसके बाद आरोपी चाकू लेकर बाकियों को भी मारने दौड़ी। आगे पढ़ें इसी खबर के बारे में...

बताते हैं कि घटना के बाद बौखलाई महिला ने छत से छलांग लगा दी। उसे गंभीर हालत में जालंधर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कुलविंदर का पति इटली में है। आरोपी को भी इटली जाना था, लेकिन लॉकडाउन के चलते वो नहीं जा पाई। पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है कि कुलविंदर का अपनी सास चरणजीत से अकसर झगड़ा होता था। लेकिन बात इतनी बिगड़ जाएगी, किसी ने सोचा नहीं था। आगे पढ़िए छत्तीसगढ़ की दो शॉकिंग कहानियां..

बताते हैं कि घटना के बाद बौखलाई महिला ने छत से छलांग लगा दी। उसे गंभीर हालत में जालंधर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। कुलविंदर का पति इटली में है। आरोपी को भी इटली जाना था, लेकिन लॉकडाउन के चलते वो नहीं जा पाई। पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है कि कुलविंदर का अपनी सास चरणजीत से अकसर झगड़ा होता था। लेकिन बात इतनी बिगड़ जाएगी, किसी ने सोचा नहीं था। आगे पढ़िए छत्तीसगढ़ की दो शॉकिंग कहानियां..

यह मामला छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के तहत आने वाले गांव बदौली का है। यहां 37 वर्षीय धर्मपाल गोंड अपनी पत्नी 30 वर्षीय बिलासो और दो बच्चों के साथ रहता था। 16 मई की रात करीब 12 बजे काम से घर लौटा। उस वक्त पत्नी बच्चों के साथ सो रही थी। जब उसने काफी देर बाद दरवाजा खोला, तो पति को गुस्सा आ गया। उसने पत्नी की पिटाई कर दी। इसके बाद पत्नी को भी गुस्सा आ गया। उसने आंगन में सो रहे पति के ऊपर मिट्टी का तेल छिड़कर आग लगा दी। उसे अंबिकापुर के मिशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां 18 मई को उसकी मौत हो गई। पत्नी ने माना कि पति उसके साथ संबंध नहीं बनाता था। इससे वो गुस्से में थी। आगे पढ़िए जब पति नहीं सुधरा..तो पत्नी ने कर दी हत्या..

यह मामला छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के तहत आने वाले गांव बदौली का है। यहां 37 वर्षीय धर्मपाल गोंड अपनी पत्नी 30 वर्षीय बिलासो और दो बच्चों के साथ रहता था। 16 मई की रात करीब 12 बजे काम से घर लौटा। उस वक्त पत्नी बच्चों के साथ सो रही थी। जब उसने काफी देर बाद दरवाजा खोला, तो पति को गुस्सा आ गया। उसने पत्नी की पिटाई कर दी। इसके बाद पत्नी को भी गुस्सा आ गया। उसने आंगन में सो रहे पति के ऊपर मिट्टी का तेल छिड़कर आग लगा दी। उसे अंबिकापुर के मिशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां 18 मई को उसकी मौत हो गई। पत्नी ने माना कि पति उसके साथ संबंध नहीं बनाता था। इससे वो गुस्से में थी। आगे पढ़िए जब पति नहीं सुधरा..तो पत्नी ने कर दी हत्या..

यह मामला भी छत्तीसगढ़ के बलरामपुर का है। यह मामला पुराना है। इस महिला ने शराब नहीं छोड़ने पर पति को मार डाला था। घटना के वक्त उसके दो मासूम बच्चे मौजूद थे। मामला बलरामपुर जिले के ही थाना रेहरा बाजार के ग्राम बैरिया सुर्जनपुर का है। उदय भान की उसकी पत्नी सरस्वती ने हत्या कर दी थी। महिला ने बताया था कि पति आये दिन उसके साथ मारपीट करता था। शराब की लत नहीं छोड़ रहा था। इसके बाद गुस्से में आकर उसने पति पर धारदार हथियार से ताबड़तोड़ वार कर दिए।

यह मामला भी छत्तीसगढ़ के बलरामपुर का है। यह मामला पुराना है। इस महिला ने शराब नहीं छोड़ने पर पति को मार डाला था। घटना के वक्त उसके दो मासूम बच्चे मौजूद थे। मामला बलरामपुर जिले के ही थाना रेहरा बाजार के ग्राम बैरिया सुर्जनपुर का है। उदय भान की उसकी पत्नी सरस्वती ने हत्या कर दी थी। महिला ने बताया था कि पति आये दिन उसके साथ मारपीट करता था। शराब की लत नहीं छोड़ रहा था। इसके बाद गुस्से में आकर उसने पति पर धारदार हथियार से ताबड़तोड़ वार कर दिए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios