इस तारीख से अपने आप बदल जाएगा आपका मोबाइल नंबर, 10 की जगह अब लोगों को दबाने पड़ेंगे 11 अंक

First Published Nov 27, 2020, 11:17 AM IST

टेक डेस्क: अभी तक किसी को कॉल लगाने के लिए आपको 10 अंक  दबाने पड़ते। थे लेकिन 1 जनवरी 2021 से ये नियम बदल जाएगा। अब आपको किसी को भी कॉल करने के लिए 10 नहीं बल्कि 11 अंक मिलाने पड़ेंगे। नए साल से मोबाइल नंबर को लेकर नियम बदलने वाले हैं। नए नियम के तहत लोगों को अब 10 की जगह 11 अंक मिलाने होंगे तभी सामने घंटी बजेगी। ऐसा लैंडलाइन से किसी मोबाइल में कॉल लगाने पर होगा। आइये आपको बताते हैं कैसे 10 से 11 अंक का हो जाएगा आपका मोबाइल नंबर। साथ ही ये भी बताएंगे कि क्या इसके लिए आपको कुछ ख़ास काम करना है या ऐसा अपने आप हो जाएगा। 
 

<p><br />
1 जनवरी 2021 से किसी भी मोबाइल पर कॉल अगर लैंडलाइन से लगाया जाएगा तो सामने वाले को 10 की जगह 11 अंक दबाने पड़ेंगे। ये अनिवार्य कर दिया गया है। अगर ऐसा नहीं होगा तो कॉल कनेक्ट ही नहीं होगा। &nbsp;</p>


1 जनवरी 2021 से किसी भी मोबाइल पर कॉल अगर लैंडलाइन से लगाया जाएगा तो सामने वाले को 10 की जगह 11 अंक दबाने पड़ेंगे। ये अनिवार्य कर दिया गया है। अगर ऐसा नहीं होगा तो कॉल कनेक्ट ही नहीं होगा।  

<p>अब आप सोच रहे होंगे कि 10 डिजिट का मोबाइल नंबर आखिर 11 में कैसे बदलेगा? तो इसके लिए आपको किसी तरह का कोई फॉर्म नहीं भरना या किसी तरह की कोई फॉर्मेलिटी नहीं करनी।&nbsp;</p>

अब आप सोच रहे होंगे कि 10 डिजिट का मोबाइल नंबर आखिर 11 में कैसे बदलेगा? तो इसके लिए आपको किसी तरह का कोई फॉर्म नहीं भरना या किसी तरह की कोई फॉर्मेलिटी नहीं करनी। 

<p>दरअसल, अब अगर कोई लैंडलाइन से किसी के मोबाइल में कॉल लगाएगा तो नंबर्स से पहले उसे शून्य यानी जीरो ऐड करना पड़ेगा। नंबर के आगे 0 लगाने के बाद ही किसी का कॉल लग पाएगा। &nbsp;</p>

दरअसल, अब अगर कोई लैंडलाइन से किसी के मोबाइल में कॉल लगाएगा तो नंबर्स से पहले उसे शून्य यानी जीरो ऐड करना पड़ेगा। नंबर के आगे 0 लगाने के बाद ही किसी का कॉल लग पाएगा।  

<p>दूरसंचार विभाग यानी टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने ट्राई (भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण) द्वारा इसके लिए जारी प्रस्ताव को मान लिया है। इस अप्रूवल के बाद से ही अब 1 &nbsp;जनवरी से इस नियम को लागू कर दिया जाएगा। &nbsp;<br />
&nbsp;</p>

दूरसंचार विभाग यानी टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने ट्राई (भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण) द्वारा इसके लिए जारी प्रस्ताव को मान लिया है। इस अप्रूवल के बाद से ही अब 1  जनवरी से इस नियम को लागू कर दिया जाएगा।  
 

<p><br />
&nbsp;ट्राई ने पहले इस नियम के 29 मई 2020 से लागू करने की शिफारिश की थी। लेकिन ऐसा हो नहीं पाया था। इसके बाद अब जाकर इसे 1 जनवरी से लागू किया जाएगा। इसके लिए सर्कुलर 20 नवंबर को ही जारी कर दिया गया है।&nbsp;</p>


 ट्राई ने पहले इस नियम के 29 मई 2020 से लागू करने की शिफारिश की थी। लेकिन ऐसा हो नहीं पाया था। इसके बाद अब जाकर इसे 1 जनवरी से लागू किया जाएगा। इसके लिए सर्कुलर 20 नवंबर को ही जारी कर दिया गया है। 

<p>अब आप सोच रहे होंगे कि नंबर के आगे &nbsp;जीरो लगाने की जरुरत क्यों पड़ी? इसके पीछे वजह बताई जा रही है कि अब इस नियम से मोबाइल कंपनियों को ज्यादा नंबर्स बनाने की सुविधा मिलेगी।&nbsp;</p>

अब आप सोच रहे होंगे कि नंबर के आगे  जीरो लगाने की जरुरत क्यों पड़ी? इसके पीछे वजह बताई जा रही है कि अब इस नियम से मोबाइल कंपनियों को ज्यादा नंबर्स बनाने की सुविधा मिलेगी। 

<p>अगर नंबर्स के आगे के जीरो लगेगा तो इससे मोबाइल कंपनियों को 254.4 करोड़ अतिरिक्त नंबर्स बनाने में मदद मिलेगी। ये भविष्य के लिए और नंबर्स सृजित करने के लिए काफी हेल्पफुल होगा। &nbsp;<br />
&nbsp;</p>

अगर नंबर्स के आगे के जीरो लगेगा तो इससे मोबाइल कंपनियों को 254.4 करोड़ अतिरिक्त नंबर्स बनाने में मदद मिलेगी। ये भविष्य के लिए और नंबर्स सृजित करने के लिए काफी हेल्पफुल होगा।  
 

<p>दूरसंचार विभाग ने कहा कि सभी टेलीकॉम कंपनियों को लैंडलाइन से मोबाइल यूजर्स को कॉल करते हुए जीरो लगाने की सुविधा देनी ही है। ऐसा करने के लिए उन्हें 1 जनवरी तक का समय दिया गया है। तब तक वो इसके लिए जरुरी काम कर कर लें। &nbsp; &nbsp;</p>

दूरसंचार विभाग ने कहा कि सभी टेलीकॉम कंपनियों को लैंडलाइन से मोबाइल यूजर्स को कॉल करते हुए जीरो लगाने की सुविधा देनी ही है। ऐसा करने के लिए उन्हें 1 जनवरी तक का समय दिया गया है। तब तक वो इसके लिए जरुरी काम कर कर लें।    

Today's Poll

आप कितने खिलाड़ियों के साथ खेलना पसंद करते हैं?