Asianet News Hindi

हंगामे के बाद Whatsapp ने वापस लिया प्राइवेसी पॉलिसी वाला फैसला, डेटा शेयरिंग में कोई बदलाव नहीं

First Published Jan 9, 2021, 5:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

टेक डेस्क. हाल में सोशल मैसिजिंग ऐप (Social Messaging App) वॉट्सऐप (WhatsApp) ने नई प्राइवेसी पॉलिसी लॉन्च की थी। इस पॉलिसी को लेकर लोगों ने जमकर हंगामा काटा। नई पॉलिसी में कंपनी यूजर्स के प्राइवेट जानकारी, फोन नंबर यहां तक की चैट तक पर नजर रखने वाले थी। यानी WhatsApp ने ये साफ़ किया था कि उसकी नजर आपके चैट पर रहेगी। अगर आपको इससे आपत्ति है तो आप अपना अकाउंट डिलीट कर सकते हैं। 8 फरवरी 2021 से अगर आपको WhatsApp का इस्तेमाल करना है तो पॉलिसीस माननी होगी। इससे यूजर्स भड़क गए और सोशल मीडिया पर मीम्स शेयर होने के साथ जमकर मजाक उड़ा। लोगों ने ऐप न इस्तेमाल करने की धमकी दीं। यूजर्स का गुस्सा देखने के बाद अब कंपनी ने एक दिन में फैसला पलट दिया। वॉट्सऐप कंपनी ने नई प्राइवेसी पॉलिसी वाला फैसला वापस ले लिया है। आइए जानते हैं कि अब नए अपडेट में क्या बातें कही गई हैं? वॉट्सऐप यूजर्स के लिए ये बातें जानना बहुत जरूरी है- 

कंपनी के मुताबिक किसी भी User का प्राइवेट चैट पब्लिक नहीं होगा। बस वही जानकारी Facebook से साझा करेंगे जिससे User का बिजनेस बढ़े। कंपनी ने अपनी रिलीज में कहा है कि नए अपडेट से WhatsApp के जरिए शॉपिंग और बिजनेस करना पहले के मुकाबले काफी आसान हो जाएगा। 

कंपनी के मुताबिक किसी भी User का प्राइवेट चैट पब्लिक नहीं होगा। बस वही जानकारी Facebook से साझा करेंगे जिससे User का बिजनेस बढ़े। कंपनी ने अपनी रिलीज में कहा है कि नए अपडेट से WhatsApp के जरिए शॉपिंग और बिजनेस करना पहले के मुकाबले काफी आसान हो जाएगा। 

अधिकतर लोग आज WhatsApp का इस्तेमाल चैटिंग के अलावा बिजनेस एप के तौर पर भी कर रहे हैं। हमने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को बिजनेस के लिए एक सुरक्षित होस्टिंग सर्विस के तौर पर अपडेट किया है। इससे छोटे कारोबारियों को WhatsApp के जरिए अपने ग्राहकों तक पहुंचने में आसानी होगी। इसके लिए हम अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक की भी मदद लेंगे।

अधिकतर लोग आज WhatsApp का इस्तेमाल चैटिंग के अलावा बिजनेस एप के तौर पर भी कर रहे हैं। हमने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को बिजनेस के लिए एक सुरक्षित होस्टिंग सर्विस के तौर पर अपडेट किया है। इससे छोटे कारोबारियों को WhatsApp के जरिए अपने ग्राहकों तक पहुंचने में आसानी होगी। इसके लिए हम अपनी पैरेंट कंपनी फेसबुक की भी मदद लेंगे।

 WhatsApp के प्रवक्ता के मुताबिक इस अपडेट से यूजर्स की प्राइवेसी भंग नहीं होगी। कंपनी आज भी यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर प्रतिबद्ध है। नए अपडेट से फेसबुक और WhatsApp के बीच डेटा शेयरिंग को लेकर कोई बदलाव नहीं होने जा रहा है। 

 WhatsApp के प्रवक्ता के मुताबिक इस अपडेट से यूजर्स की प्राइवेसी भंग नहीं होगी। कंपनी आज भी यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर प्रतिबद्ध है। नए अपडेट से फेसबुक और WhatsApp के बीच डेटा शेयरिंग को लेकर कोई बदलाव नहीं होने जा रहा है। 

फेसबुक (Facebook) अपने सभी प्रोडक्ट के लिए समय-समय पर अपडेट और नई पॉलिसी लाता रहता है। ऐसा ही नया अपडेट फेसबुक ने WhatsApp में शामिल किया है। WhatsApp यूजर्स के लिए जारी नई प्राइवेसी पॉलिसी के तहत वह अपने यूजर्स का जरूरी डेटा Facebook की दूसरी कंपनियों के साथ शेयर करेगा।
 

फेसबुक (Facebook) अपने सभी प्रोडक्ट के लिए समय-समय पर अपडेट और नई पॉलिसी लाता रहता है। ऐसा ही नया अपडेट फेसबुक ने WhatsApp में शामिल किया है। WhatsApp यूजर्स के लिए जारी नई प्राइवेसी पॉलिसी के तहत वह अपने यूजर्स का जरूरी डेटा Facebook की दूसरी कंपनियों के साथ शेयर करेगा।
 

ये जानकारी होतीं शेयर

 

WhatsApp आपका फोन नंबर, बैंकिंग ट्रांजैक्शन डेटा, सर्विस-रिलेटेड इन्‍फॉर्मेशन, दूसरों से किस तरह इंटरेक्ट करते हैं ऐसी जानकारी, मोबाइल डिवाइस इन्‍फॉर्मेशन और आईपी एड्रेस को शेयर करने वाला था।
 

ये जानकारी होतीं शेयर

 

WhatsApp आपका फोन नंबर, बैंकिंग ट्रांजैक्शन डेटा, सर्विस-रिलेटेड इन्‍फॉर्मेशन, दूसरों से किस तरह इंटरेक्ट करते हैं ऐसी जानकारी, मोबाइल डिवाइस इन्‍फॉर्मेशन और आईपी एड्रेस को शेयर करने वाला था।
 

Popup Message

 

इन दिनों WhatsApp यूज करने के दौरान फुल-स्क्रीन पॉप-अप मैसेज आ रहा है, जिसमें आपको Accept करने का विकल्प दिया जा रहा है। यह कंपनी की नई टर्म और प्राइवेसी पॉलिसी थी, जिसे कंपनी ने 4 जनवरी को जारी किया है।

Popup Message

 

इन दिनों WhatsApp यूज करने के दौरान फुल-स्क्रीन पॉप-अप मैसेज आ रहा है, जिसमें आपको Accept करने का विकल्प दिया जा रहा है। यह कंपनी की नई टर्म और प्राइवेसी पॉलिसी थी, जिसे कंपनी ने 4 जनवरी को जारी किया है।

8 Feb तक का समय

 

नई टर्म और प्राइवेसी पॉलिसी एक्सेप्ट करने लिए यूजर्स के पास 8 फरवरी तक का समय है। नई पॉलिसी से सहमत न होने वाले यूजर्स का WhatsApp अकाउंट डिलीट हो जाएगा।
 

8 Feb तक का समय

 

नई टर्म और प्राइवेसी पॉलिसी एक्सेप्ट करने लिए यूजर्स के पास 8 फरवरी तक का समय है। नई पॉलिसी से सहमत न होने वाले यूजर्स का WhatsApp अकाउंट डिलीट हो जाएगा।
 

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी (WhatsApp New Policy)

 

WhatsApp सर्विस और डेटा की प्रोसेसिंग।
फेसबुक की कंपनियां और सर्विस WhatsApp के चैट को स्टोर कर सकते हैं।
फेसबुक के दूसरे प्रोडक्ट का एकीकरण।

वॉट्सऐप की नई पॉलिसी (WhatsApp New Policy)

 

WhatsApp सर्विस और डेटा की प्रोसेसिंग।
फेसबुक की कंपनियां और सर्विस WhatsApp के चैट को स्टोर कर सकते हैं।
फेसबुक के दूसरे प्रोडक्ट का एकीकरण।

फेसबुक ग्रुप कंपनियां (Facebook group companies)

 

WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूजर्स के पास सिर्फ इससे सहमत होने का विकल्प होगा। इससे पहले यूजर्स फेसबुक की दूसरी कंपनियों के साथ इन्‍फॉर्मेशन शेयर न किया जाए का विकल्प चुन सकते थे। कंपनी ने अपने FAQ में इन-हाउस कंपनियों के बीच डेटा शेयरिंग को लेकर डिटेल में जानकारी शेयर की है। फेसबुक की कंपनियों में – फेसबुक पेमेंट्स, WhatsApp, इंस्टाग्राम, फेसबुक टेक्नोलॉजीज, ओनावो और क्राउड टेंगल जैसी कंपनियां शामिल हैं। 

फेसबुक ग्रुप कंपनियां (Facebook group companies)

 

WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर यूजर्स के पास सिर्फ इससे सहमत होने का विकल्प होगा। इससे पहले यूजर्स फेसबुक की दूसरी कंपनियों के साथ इन्‍फॉर्मेशन शेयर न किया जाए का विकल्प चुन सकते थे। कंपनी ने अपने FAQ में इन-हाउस कंपनियों के बीच डेटा शेयरिंग को लेकर डिटेल में जानकारी शेयर की है। फेसबुक की कंपनियों में – फेसबुक पेमेंट्स, WhatsApp, इंस्टाग्राम, फेसबुक टेक्नोलॉजीज, ओनावो और क्राउड टेंगल जैसी कंपनियां शामिल हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios