Asianet News Hindi

शादी में रुकावट बना एक सवाल, दुल्हन ने दूल्हे से ऐसा क्या पूछा कि लौटानी पड़ी बरात?

First Published May 9, 2021, 6:47 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अक्सर शादियां टूटने के पीछे की वजह दहेज या फिर दुल्हन के बदल जाने का कारण सुनने में आता है और कई बार लड़कियां दहेज मांगने के कारण भी शादियां तोड़ देती हैं। लेकिन, इस बार एक अलग कहानी सामने आई है कि शादी में एक दुल्हन के द्वारा दूल्हे से पूछा गया एक सवाल रुकावट बन गया। दूल्हा जब उसका जवाब नहीं दे पाया तो उसे बरात वापस ले जानी पड़ी। ऐसे में आइए जानते हैं इस पूरे किस्से के बारे में... 
 

स्टेज पर थे दूल्हा-दुल्हन

दरअसल, ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के महोबा जिला का है। दुल्हन ने शादी तब तोड़ दी जब वो दूल्हे के साथ स्टेज पर थी। इससे पहले वरमाला की रस्म शुरू होती। दुल्हन ने दूल्हे से एक सवाल पूछ लिया और जब उसका जवाब नहीं मिला तो उसने शादी ही तोड़ दी।

स्टेज पर थे दूल्हा-दुल्हन

दरअसल, ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के महोबा जिला का है। दुल्हन ने शादी तब तोड़ दी जब वो दूल्हे के साथ स्टेज पर थी। इससे पहले वरमाला की रस्म शुरू होती। दुल्हन ने दूल्हे से एक सवाल पूछ लिया और जब उसका जवाब नहीं मिला तो उसने शादी ही तोड़ दी।

अजीबोगरीब हरकतें कर रहा था दूल्हा 

बताया जा रहा है कि जयमाल कार्यक्रम के दौरान दूल्हा अजीबोगरीब हरकतें करने लगा था और दुल्हन सब कुछ देख रही थी। दुल्हन ने वरमाला पहनाने से पहले लड़के से दो का पहाड़ा सुनने को कहा और शर्त रखी कि अगर वो इसका जवाब दे देगा तभी वो उससे शादी करेगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 

अजीबोगरीब हरकतें कर रहा था दूल्हा 

बताया जा रहा है कि जयमाल कार्यक्रम के दौरान दूल्हा अजीबोगरीब हरकतें करने लगा था और दुल्हन सब कुछ देख रही थी। दुल्हन ने वरमाला पहनाने से पहले लड़के से दो का पहाड़ा सुनने को कहा और शर्त रखी कि अगर वो इसका जवाब दे देगा तभी वो उससे शादी करेगी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 

दूल्हन ने पूछा दो का पहाड़ा 

दूल्हा दो का पहाड़ा सुनाने के नाम पर आनाकानी मारने लगा। पहले तो उसे कुछ समझ नहीं आया बाद में वो इधर-उधर देखने लगा। फिर क्या था इससे दूल्हे की सारी पोल खुल गई और लड़की ने उसके साथ सात फेरे लेने से इनकार कर दिया। जब दुल्हन ने शादी से इनकार किया तो बराती घबरा गए। खुशी का माहौल तनाव में बदल गया।

दूल्हन ने पूछा दो का पहाड़ा 

दूल्हा दो का पहाड़ा सुनाने के नाम पर आनाकानी मारने लगा। पहले तो उसे कुछ समझ नहीं आया बाद में वो इधर-उधर देखने लगा। फिर क्या था इससे दूल्हे की सारी पोल खुल गई और लड़की ने उसके साथ सात फेरे लेने से इनकार कर दिया। जब दुल्हन ने शादी से इनकार किया तो बराती घबरा गए। खुशी का माहौल तनाव में बदल गया।

दुल्हन ने किया शादी से इनकार  

किसी को भी कुछ समझ नहीं आ रहा था कि वो क्या करे। लड़की ने कहा कि वो किसी ऐसे व्यक्ति से शादी नहीं कर सकती है, जिसे बेसिक चीजों का भी ज्ञान ना हो। घंटों तक इस मुद्दे पर चर्चा चली। सभी लोग दुल्हन को मनाने में लग गए। पूरी रात कोशिश के बाद भी लड़की नहीं मानी। 

दुल्हन ने किया शादी से इनकार  

किसी को भी कुछ समझ नहीं आ रहा था कि वो क्या करे। लड़की ने कहा कि वो किसी ऐसे व्यक्ति से शादी नहीं कर सकती है, जिसे बेसिक चीजों का भी ज्ञान ना हो। घंटों तक इस मुद्दे पर चर्चा चली। सभी लोग दुल्हन को मनाने में लग गए। पूरी रात कोशिश के बाद भी लड़की नहीं मानी। 

पुलिस ने भी की दुल्हन को समझाने की कोशिश

वहीं, जब पुलिस को इस पूरे मामले के बारे में पता चला तो उनकी ओर से भी समझाइश की कोशिश की गई लेकिन बात नहीं बनी और अंत में लड़की की ही बात मान ली गई। 

पुलिस ने भी की दुल्हन को समझाने की कोशिश

वहीं, जब पुलिस को इस पूरे मामले के बारे में पता चला तो उनकी ओर से भी समझाइश की कोशिश की गई लेकिन बात नहीं बनी और अंत में लड़की की ही बात मान ली गई। 

लड़की के घरवालों ने लड़के के परिवार से खर्चे की मांग

इसके बाद बवाल यहीं नहीं शांत हुआ। लड़की के घरवाले थाने पहुंच गए उन्होंने वहां पहुंचकर मांग की कि शादी में जो खर्च हुए वो पैसे उन्हें लड़का पक्ष वालों से दिलवा दिया जाए। थानाध्यक्ष विनोद कुमार की ओर से दोनों पक्षों की बात को सुना गया। क्योंकि ये अरेंज मैरिज थी। 

लड़की के घरवालों ने लड़के के परिवार से खर्चे की मांग

इसके बाद बवाल यहीं नहीं शांत हुआ। लड़की के घरवाले थाने पहुंच गए उन्होंने वहां पहुंचकर मांग की कि शादी में जो खर्च हुए वो पैसे उन्हें लड़का पक्ष वालों से दिलवा दिया जाए। थानाध्यक्ष विनोद कुमार की ओर से दोनों पक्षों की बात को सुना गया। क्योंकि ये अरेंज मैरिज थी। 

थानाध्यक्ष ने करवाया दोनों पक्षों में समझौता 

थानाध्यक्ष ने दोनों पक्षों के बीच समझौता करवाया और कहा कि दोनों ही पक्ष गहनें और सभी गिफ्ट्स एक-दूसरे को वापस कर देंगे। जब पुलिस की ओर से दोनों पक्षों में आपसी सहमति को देखा गया तो मामले को यहीं छोड़ दिया गया और कोई केस दर्ज नहीं किया गया।  

थानाध्यक्ष ने करवाया दोनों पक्षों में समझौता 

थानाध्यक्ष ने दोनों पक्षों के बीच समझौता करवाया और कहा कि दोनों ही पक्ष गहनें और सभी गिफ्ट्स एक-दूसरे को वापस कर देंगे। जब पुलिस की ओर से दोनों पक्षों में आपसी सहमति को देखा गया तो मामले को यहीं छोड़ दिया गया और कोई केस दर्ज नहीं किया गया।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios