Asianet News Hindi

Corbevax Vaccine: ये हो सकती है देश की सबसे सस्ती वैक्सीन, केन्द्र ने दिया 30 करोड़ डोज का ऑर्डर

First Published Jun 7, 2021, 12:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

ट्रेंडिग डेस्क. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देश के हर आदमी से वैक्सीन लगवाने के लिए कहा जा रहा है। अभी कोविशील्ड और को-वैक्सीन लग रही हैं। इसके साथ ही और कई वैक्सीन हैं जिनका ट्रायल हो रहा है। हैदराबाद की बायोलॉजिकल ई कोर्बिवैक्स (Corbevax Vaccine) का ट्रायल कर रही है। कहा जा रहा है कि वह सबसे सस्‍ती वैक्‍सीन साबित हो सकती है। केंद्र सरकार ने मात्र 50 रुपये प्रति डोज के हिसाब से इसकी 30 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है।

कितनी होगी कीमत
कहा जा रहा है कि लॉन्चिंग के बाद, भारतीय बाजारों में इसकी कीमत 400 रुपये से भी कम (दोनों डोज) रखी जा सकती है।
 

कितनी होगी कीमत
कहा जा रहा है कि लॉन्चिंग के बाद, भारतीय बाजारों में इसकी कीमत 400 रुपये से भी कम (दोनों डोज) रखी जा सकती है।
 


ट्रायल लास्ट स्टेज पर
हैदराबाद बेस्ड बायोलॉजिलक ई की वैक्सीन Corbevax के थर्ड फेज का क्लीनिकल ट्रायल आखिरी दौर में है। माना जा रहा है कि जुलाई यह पूरा हो जाएगा। 
 


ट्रायल लास्ट स्टेज पर
हैदराबाद बेस्ड बायोलॉजिलक ई की वैक्सीन Corbevax के थर्ड फेज का क्लीनिकल ट्रायल आखिरी दौर में है। माना जा रहा है कि जुलाई यह पूरा हो जाएगा। 
 


कौन बना रहा है इस वैक्सीन को 
बायलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन और टेक्सास चिल्ड्रन हॉस्पिटल सेंटर फॉर वैक्सीन डेवलपमेंट (टीसीएचसीवीडी) द्वारा विकसित, कॉर्बेवैक्स कोविड -19 वैक्सीन को हैदराबाद स्थित बायोलॉजिकल ई द्वारा बनाया जा रहा है।


कौन बना रहा है इस वैक्सीन को 
बायलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन और टेक्सास चिल्ड्रन हॉस्पिटल सेंटर फॉर वैक्सीन डेवलपमेंट (टीसीएचसीवीडी) द्वारा विकसित, कॉर्बेवैक्स कोविड -19 वैक्सीन को हैदराबाद स्थित बायोलॉजिकल ई द्वारा बनाया जा रहा है।


बायोलॉजिकल ई की कोरोना वैक्सीन Corbevax कोरोना वायरस यानी SARS-CoV2 के एक खास हिस्से स्पाइक प्रोटीन से बना है।  अगर सिर्फ स्पाइक प्रोटीन शरीर में घुसे तो यह कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। 


बायोलॉजिकल ई की कोरोना वैक्सीन Corbevax कोरोना वायरस यानी SARS-CoV2 के एक खास हिस्से स्पाइक प्रोटीन से बना है।  अगर सिर्फ स्पाइक प्रोटीन शरीर में घुसे तो यह कोई नुकसान नहीं पहुंचा सकता है। 

केन्द्र सरकार ने की बुकिंग
वैक्सीन के तीसरे स्टेज का ट्रायल चल रहा है। पहले और दूसरे चरण के ट्रायल के बाद रिजल्ट अच्छे मिले हैं। पहले और दूसरे चरण के रिजल्ट के आधार पर केंद्र सरकार ने 1,500 करोड़ रुपये के एडवांस पेमेंट के लिए 30 करोड़ डोज की प्री-बुकिंग की है।

केन्द्र सरकार ने की बुकिंग
वैक्सीन के तीसरे स्टेज का ट्रायल चल रहा है। पहले और दूसरे चरण के ट्रायल के बाद रिजल्ट अच्छे मिले हैं। पहले और दूसरे चरण के रिजल्ट के आधार पर केंद्र सरकार ने 1,500 करोड़ रुपये के एडवांस पेमेंट के लिए 30 करोड़ डोज की प्री-बुकिंग की है।

अभी दो वैक्सीन
देभ में अभी केवल कोविशाल्ड और को-वैक्सीन लग रही हैं। इसके साथ ही रूस की स्पूतनिक V भी कई शहरों में उपलब्ध है। बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण देश के कई राज्यों में वैक्सीन की समस्या सामने आई थी। 

अभी दो वैक्सीन
देभ में अभी केवल कोविशाल्ड और को-वैक्सीन लग रही हैं। इसके साथ ही रूस की स्पूतनिक V भी कई शहरों में उपलब्ध है। बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण देश के कई राज्यों में वैक्सीन की समस्या सामने आई थी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios