Asianet News Hindi

इतनी High Security प्लेन से बांग्लादेश पहुंचे मोदी, हवा में उड़ता मिसाइल भी नहीं कर पाएगा कोई नुकसान

First Published Mar 26, 2021, 12:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क : कोरोना काल में पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पहली विदेश यात्रा पर 2 दिन के लिए बांग्लादेश (Bangladesh) दौरे पर हैं। बांग्लादेश की आजादी के 50 साल पूरे होने पर पीएम मोदी बतौर मुख्य अतिथि बांग्लादेश पहुंचे हैं। बता दें कि पीएम इस बार वीवीआईपी प्लेन 'एयर इंडिया वन' से पहली विदेश यात्रा पर गए है। यह वही विमान है, जिसे भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए अमेरिका से मंगवाया गया है। आइए आज आपको बताते हैं, इस प्लेन कि खासियत के बारे में.....

भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए खास रूप से बनाया गया बी 777 विमान  (Boing 777) एक अक्टूबर को अमेरिका से भारत आया था। इससे पहले ये प्लेन 2018 में कुछ महीनों के लिए एयर इंडिया के वाणिज्यिक बेड़े का हिस्सा थे।

भारत के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए खास रूप से बनाया गया बी 777 विमान  (Boing 777) एक अक्टूबर को अमेरिका से भारत आया था। इससे पहले ये प्लेन 2018 में कुछ महीनों के लिए एयर इंडिया के वाणिज्यिक बेड़े का हिस्सा थे।

भारत के पास फिलहाल दो बी 777 विमान हैं। इनको फिर से बनाने में लगभग 8,400 करोड़ रुपये की लागत लगी थी। इन विमानों को कस्टमाइज करने का काम अमेरिका के डलास में किया गया है। खास बात ये है कि इस प्लेन को एयर इंडिया के पायलट नहीं, बल्कि भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के पायलट उड़ाएंगे।

भारत के पास फिलहाल दो बी 777 विमान हैं। इनको फिर से बनाने में लगभग 8,400 करोड़ रुपये की लागत लगी थी। इन विमानों को कस्टमाइज करने का काम अमेरिका के डलास में किया गया है। खास बात ये है कि इस प्लेन को एयर इंडिया के पायलट नहीं, बल्कि भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के पायलट उड़ाएंगे।

पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 मार्च को इस खास प्लेन में सवार होकर बांग्लादेश की यात्रा पर गए हैं। इस विमान का नाम 'एयर इंडिया वन' रखा गया है।

पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 मार्च को इस खास प्लेन में सवार होकर बांग्लादेश की यात्रा पर गए हैं। इस विमान का नाम 'एयर इंडिया वन' रखा गया है।

बी 777 विमानों की खासियत ये है कि ये बिना रुके हजारों किलोमीटर का सफर तय कर सकते हैं। ये प्लेन अत्याधुनिक मिसाइल रोधी प्रणाली से लैस हैं, जिसे लार्ज एयरक्राफ्ट इन्फ्रारेड काउंटरमेजर्स और सेल्फ-प्रोटेक्शन सूट्स (SPS) कहा जाता है। 

बी 777 विमानों की खासियत ये है कि ये बिना रुके हजारों किलोमीटर का सफर तय कर सकते हैं। ये प्लेन अत्याधुनिक मिसाइल रोधी प्रणाली से लैस हैं, जिसे लार्ज एयरक्राफ्ट इन्फ्रारेड काउंटरमेजर्स और सेल्फ-प्रोटेक्शन सूट्स (SPS) कहा जाता है। 

इसके साथ ही एयर इंडिया वन प्लेन में हवा में भी ऑडियो और वीडियो कम्युनिकेशन का फंक्शन दिया गया है। मतलब बिना हैक या टैप के प्रधानमंत्री या उनका स्टॉफ फोन या वीडियो कॉल कर सकते हैं। 

इसके साथ ही एयर इंडिया वन प्लेन में हवा में भी ऑडियो और वीडियो कम्युनिकेशन का फंक्शन दिया गया है। मतलब बिना हैक या टैप के प्रधानमंत्री या उनका स्टॉफ फोन या वीडियो कॉल कर सकते हैं। 

इसमें मिसाइल एप्रोच वार्निंग सिस्टम लगाया गया है, इस सेंसर की मदद से पायलट को मिसाइलों पर हमला करने में मदद मिलती है।

इसमें मिसाइल एप्रोच वार्निंग सिस्टम लगाया गया है, इस सेंसर की मदद से पायलट को मिसाइलों पर हमला करने में मदद मिलती है।

इसके साथ ही इसमें इलेक्ट्रोनिक वॉरफेयर जैमर लगाया गया है, जो दुश्मन के जीपीएस और ड्रोन सिग्नल को ब्लॉक करने का काम करता है।

इसके साथ ही इसमें इलेक्ट्रोनिक वॉरफेयर जैमर लगाया गया है, जो दुश्मन के जीपीएस और ड्रोन सिग्नल को ब्लॉक करने का काम करता है।

ये प्लेन चाफ एंड फ्लेयर्स सिस्टम से लैस है। इससे रोशनीनुमा फ्लेयर्स मिसाइल को भ्रमित करने के लिए छोड़े जाते हैं। इनका तापमान जेट इंजन के नोजल या एक्जॉस्ट से ज्यादा 2,000 डिग्री फॉरेनहाइट होता है। इसमें सबसे आधुनिक और सिक्योर सैटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम भी लगा है।

ये प्लेन चाफ एंड फ्लेयर्स सिस्टम से लैस है। इससे रोशनीनुमा फ्लेयर्स मिसाइल को भ्रमित करने के लिए छोड़े जाते हैं। इनका तापमान जेट इंजन के नोजल या एक्जॉस्ट से ज्यादा 2,000 डिग्री फॉरेनहाइट होता है। इसमें सबसे आधुनिक और सिक्योर सैटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम भी लगा है।

इस प्लेन में फ्यूल भरने के लिए इसे लैंड करने की जरुरत नहीं होती है। इसमें हवा में ईंधन भरने की सुविधा भी दी गई है। एक बार फ्यूल भरने पर यह विमान लगातार 17 घंटे तक उड़ान भर सकता है।

इस प्लेन में फ्यूल भरने के लिए इसे लैंड करने की जरुरत नहीं होती है। इसमें हवा में ईंधन भरने की सुविधा भी दी गई है। एक बार फ्यूल भरने पर यह विमान लगातार 17 घंटे तक उड़ान भर सकता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios