Asianet News Hindi

कभी 80 किलो की हो गई थी TV की गंगूबाई, फिर 22 किलो वजन घटाकर खुद को ऐसे किया Fat से Fit

First Published Nov 6, 2020, 5:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई। कॉमेडी सर्कस महासंग्राम में गंगूबाई (Gangubai) का किरदार निभाकर पॉपुलर हुईं सलोनी (Saloni) अब 19 साल की हो चुकी हैं। सलोनी को कॉमेडी में अपनी परफेक्ट टाइमिंग के लिए जाना जाता है। हालांकि इन दिनों सलोनी का ट्रांसफॉर्मेशन चर्चा में है। सलोनी के बदले हुए रूप की कुछ फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, जिनमें वो काफी फिट नजर आ रही हैं। सलोनी ने महज 3 साल की उम्र में टीवी की दुनिया में कदम रखा था। सलोनी के मुताबिक, अपने वजन के चलते हमेशा उन्हें बॉडी शेमिंग का शिकार होना पड़ता था। कई लोग उनके बढ़े हुए वजन का मजाक उड़ाते थे। सोशल मीडिया पर भी अक्सर उन्हें अपने वजन के चलते काफी कुछ सुनना पड़ता था। इसके बाद सलोनी ने खुद को फिट रखने की ठानी, जिसका नतीजा सबके सामने है।  

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सलोनी ने लॉकडाउन के दौरान अपना वजन 22 किलो तक घटा लिया है। मोटापे को लेकर मजाक उड़ाने वालों से तंग आकर सलोनी ने खुद को फिट रखने के लिए कड़ी मेहनत की है। एक इंटरव्यू में सलोनी ने कहा कि गंगूबाई मेरा फेवरेट कैरेक्टर है। 
 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सलोनी ने लॉकडाउन के दौरान अपना वजन 22 किलो तक घटा लिया है। मोटापे को लेकर मजाक उड़ाने वालों से तंग आकर सलोनी ने खुद को फिट रखने के लिए कड़ी मेहनत की है। एक इंटरव्यू में सलोनी ने कहा कि गंगूबाई मेरा फेवरेट कैरेक्टर है। 
 

अपने वजन कम करने के सफर को लेकर बात करते हुए सलोनी ने कहा- जब लॉकडाउन शुरू हुआ तो मैं घर पर खूब खाना खाती थी। मेरी मम्मी घर पर ही मोमोज, बटर चिकन, केक और दूसरी चीजें बनाती थीं। एक दिन मैं अपने लैपटॉप पर एक शो देख रही थी। अचानक स्क्रीन लॉक हो गई तो मैंने लैपटॉप पर अपना चेहरा देखा तो मुझे लगा कि मैं काफी मोटी हो गई हूं।
 

अपने वजन कम करने के सफर को लेकर बात करते हुए सलोनी ने कहा- जब लॉकडाउन शुरू हुआ तो मैं घर पर खूब खाना खाती थी। मेरी मम्मी घर पर ही मोमोज, बटर चिकन, केक और दूसरी चीजें बनाती थीं। एक दिन मैं अपने लैपटॉप पर एक शो देख रही थी। अचानक स्क्रीन लॉक हो गई तो मैंने लैपटॉप पर अपना चेहरा देखा तो मुझे लगा कि मैं काफी मोटी हो गई हूं।
 

उस वक्त मेरा वजन करीब 80 किलो तक पहुंच गया था। इसके बाद मैंने तय किया कि अब मुझे फैट से फिट होना है। इसके बाद मैंने वर्कआउट के साथ डायट प्लान का फॉलो किया। अब मैं 58 किलो की हो गई हूं और मैंने लॉकडाउन में ही अपना वजन 22 किलो तक घटा लिया। मैं लॉकडाउन की शुक्रगुजार हूं, क्योंकि उसकी वजह से मैं बाहर जाकर जंक फूड नहीं खा सकी।
 

उस वक्त मेरा वजन करीब 80 किलो तक पहुंच गया था। इसके बाद मैंने तय किया कि अब मुझे फैट से फिट होना है। इसके बाद मैंने वर्कआउट के साथ डायट प्लान का फॉलो किया। अब मैं 58 किलो की हो गई हूं और मैंने लॉकडाउन में ही अपना वजन 22 किलो तक घटा लिया। मैं लॉकडाउन की शुक्रगुजार हूं, क्योंकि उसकी वजह से मैं बाहर जाकर जंक फूड नहीं खा सकी।
 

सलोनी के मुताबिक, बढ़े हुए वजन के चलते लोग मुझे भैंस लग रही है, कितनी मोटी है, कितना खाएगी..एक दिन फूट जाएगी जैसे कमेंट करते थे। लेकिन मुझे ये सब पढ़के खूब मजा आता था। जो लोग इस तरह के कमेंट करते हैं, वो खुद अपना चेहरा दिखाने में डरते हैं और दूसरों का मजाक उड़ाते हैं। मुझे लगता है कि जीवन में बेहतर चीजों के लिए काम करें और ऐसे लोगों के बारे में कतई न सोचें। 
 

सलोनी के मुताबिक, बढ़े हुए वजन के चलते लोग मुझे भैंस लग रही है, कितनी मोटी है, कितना खाएगी..एक दिन फूट जाएगी जैसे कमेंट करते थे। लेकिन मुझे ये सब पढ़के खूब मजा आता था। जो लोग इस तरह के कमेंट करते हैं, वो खुद अपना चेहरा दिखाने में डरते हैं और दूसरों का मजाक उड़ाते हैं। मुझे लगता है कि जीवन में बेहतर चीजों के लिए काम करें और ऐसे लोगों के बारे में कतई न सोचें। 
 

अपनी प्रोफेशनल जर्नी के बारे में बात करते हुए सलोनी ने कहा- मेरे हाथ में गंगूबाई का टैटू भी है। जब मैं गंगूबाई का किरदार निभा रही होती हूं तो मेरा कॉन्फिडेंस सातवें आसमान पर होता है। मैं कुछ भी बोल सकती हूं, कुछ भी कर सकती हूं। मैं स्टेज पर कुछ भी कर सकती हूं। 
 

अपनी प्रोफेशनल जर्नी के बारे में बात करते हुए सलोनी ने कहा- मेरे हाथ में गंगूबाई का टैटू भी है। जब मैं गंगूबाई का किरदार निभा रही होती हूं तो मेरा कॉन्फिडेंस सातवें आसमान पर होता है। मैं कुछ भी बोल सकती हूं, कुछ भी कर सकती हूं। मैं स्टेज पर कुछ भी कर सकती हूं। 
 

उन्होंने आगे कहा- लेकिन जब मैं सलोनी होती हूं तो बेहद शांत रहती हूं। गंगूबाई का कैरेक्टर मुझे आत्मविश्वास से लबरेज कर देता है। लोग जब मुझे गंगूबाई के नाम से पहचानते हैं तो मुझे अच्छा लगता है। मैं चाहूंगी कि भविष्य में भी लोग मुझे गंगूबाई के नाम से पहचानें। 
 

उन्होंने आगे कहा- लेकिन जब मैं सलोनी होती हूं तो बेहद शांत रहती हूं। गंगूबाई का कैरेक्टर मुझे आत्मविश्वास से लबरेज कर देता है। लोग जब मुझे गंगूबाई के नाम से पहचानते हैं तो मुझे अच्छा लगता है। मैं चाहूंगी कि भविष्य में भी लोग मुझे गंगूबाई के नाम से पहचानें। 
 

सलोनी डैनी ना सिर्फ टेलीविजन बल्कि हिंदी और मराठी फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं। सलोनी सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं। आए दिन वो अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं और इन तस्वीरों को देखकर जाहिर होता है कि पिछले कुछ महीनों में वो काफी बदल गई हैं।
 

सलोनी डैनी ना सिर्फ टेलीविजन बल्कि हिंदी और मराठी फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं। सलोनी सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहती हैं। आए दिन वो अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करती रहती हैं और इन तस्वीरों को देखकर जाहिर होता है कि पिछले कुछ महीनों में वो काफी बदल गई हैं।
 

बता दें कि सलोनी का जन्म 19 जून, 2001 को सांगली, महाराष्ट्र में हुआ था। सलोनी शाहरुख खान के शो 'क्या आप पांचवी पास से तेज हैं' के प्रोमो में भी नजर आ चुकी हैं। 2015 में आई वीडियो सीरिज 'मैं तेरा हूं' में भी सलोनी काम कर चुकी हैं। सलोनी ने टेढ़ी-मेढ़ी फैमिली, बड़े भैया की दुल्हनिया, नमूने और ये जादू है जिन्न का जैसे सीरियल्स में भी काम किया है।

बता दें कि सलोनी का जन्म 19 जून, 2001 को सांगली, महाराष्ट्र में हुआ था। सलोनी शाहरुख खान के शो 'क्या आप पांचवी पास से तेज हैं' के प्रोमो में भी नजर आ चुकी हैं। 2015 में आई वीडियो सीरिज 'मैं तेरा हूं' में भी सलोनी काम कर चुकी हैं। सलोनी ने टेढ़ी-मेढ़ी फैमिली, बड़े भैया की दुल्हनिया, नमूने और ये जादू है जिन्न का जैसे सीरियल्स में भी काम किया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios