Asianet News Hindi

पिता की मौत के बाद बिगड़ गई थी घर की हालत, खर्च चलाने कॉमेडियन को करना पड़ा था PCO में काम

First Published Apr 1, 2021, 10:15 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. टीवी के कॉमेडी किंग कहे जाने वाले कपिल शर्मा लोगों को हंसाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। उनके हंसाने की कला उन्हें पूरी दुनिया में शोहरत दिलवा जाती है। कॉमेडी का दूसरा नाम ही कपिल बन गया है। उनका शो ही दर्शकों के मनोरंजन का सहारा दिखता है और उनके चुटकुले ही हंसने पर मजबूर करते हैं, लेकिन कपिल शर्मा ने अपने लिए ऐसा मुकाम कैसे बना लिया? कामयाब तो कई हुए लेकिन, कपिल ने खुद को कॉमेडी किंग का तमगा कैसे दिलवा लिया? ऐसे में उनके जीवन के संघर्ष के बारे में उनके जन्मदिन के मौके पर बता रहे हैं। उनका जन्म 2 अप्रैल, 1981 को हुआ था। आइए जानते हैं उनके संघर्ष की कहानी...
 

कपिल की कहानी भी काफी संघर्ष वाली रही है। एक्टर ने खूब मेहनत तो की ही है, इसके अलावा उनके साथ तो जिंदगी ने भी काफी बार ऐसा खेल खेला कि जिस उम्र में दोस्तों संग घूमने और सैर सपाटा की फरमाइश रहती है, उस समय कपिल ने परिवार के लिए कमाना शुरू कर दिया था। 

कपिल की कहानी भी काफी संघर्ष वाली रही है। एक्टर ने खूब मेहनत तो की ही है, इसके अलावा उनके साथ तो जिंदगी ने भी काफी बार ऐसा खेल खेला कि जिस उम्र में दोस्तों संग घूमने और सैर सपाटा की फरमाइश रहती है, उस समय कपिल ने परिवार के लिए कमाना शुरू कर दिया था। 

2004 में उनके पिता की कैंसर से मौत हो गई थी। पिता पंजाब पुलिस में संब इंस्पेक्टर थे, ऐसे में उनकी मृत्यु के बाद उन्हें भी पुलिस में आने का मौका दिया गया। लेकिन, उनकी मंजिल अलग थी और उनके ख्वाब भी काफी बड़े थे।

2004 में उनके पिता की कैंसर से मौत हो गई थी। पिता पंजाब पुलिस में संब इंस्पेक्टर थे, ऐसे में उनकी मृत्यु के बाद उन्हें भी पुलिस में आने का मौका दिया गया। लेकिन, उनकी मंजिल अलग थी और उनके ख्वाब भी काफी बड़े थे।

कपिल ने पुलिस की नौकरी करने से मना कर दिया था, लेकिन उनके परिवार को पालना था तो ऐसे में उन्होंने एक PCO में काम किया। पिता की मौत के बाद कुछ समय तक उन्होंने फोन बूथ पर काम कर ही पैसा कमाया। अब ऐसा कर कपिल ने अपने परिवार को तो संभाल लिया, लेकिन उनका खुद का सपना कही पीछे छूटता दिखा। गाना अच्छा गाते थे, लेकिन मौका नहीं था। 
 

कपिल ने पुलिस की नौकरी करने से मना कर दिया था, लेकिन उनके परिवार को पालना था तो ऐसे में उन्होंने एक PCO में काम किया। पिता की मौत के बाद कुछ समय तक उन्होंने फोन बूथ पर काम कर ही पैसा कमाया। अब ऐसा कर कपिल ने अपने परिवार को तो संभाल लिया, लेकिन उनका खुद का सपना कही पीछे छूटता दिखा। गाना अच्छा गाते थे, लेकिन मौका नहीं था। 
 

कॉमेडी भी उस समय ठीक-ठाक कर लेते थे, लेकिन जानकारी का आभाव था। इसी वजह से कपिल का संघर्ष कुछ सालों तक चलता रहा और वो बस मौके की तलाश में दिन काटते रहे।

कॉमेडी भी उस समय ठीक-ठाक कर लेते थे, लेकिन जानकारी का आभाव था। इसी वजह से कपिल का संघर्ष कुछ सालों तक चलता रहा और वो बस मौके की तलाश में दिन काटते रहे।

फिर, साल 2008 ने दस्तक दी और इंडियन टेलीविजन ने भी बड़ा एक्सपेरिमेंट करने की ठान ली। उसी कड़ी में पहली बार देश में द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज नाम का शो लॉन्च किया गया। उस शो के जरिए कई सारे उभरते स्टैंड अप कॉमिडियन्स को मौका दिया गया। 

फिर, साल 2008 ने दस्तक दी और इंडियन टेलीविजन ने भी बड़ा एक्सपेरिमेंट करने की ठान ली। उसी कड़ी में पहली बार देश में द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज नाम का शो लॉन्च किया गया। उस शो के जरिए कई सारे उभरते स्टैंड अप कॉमिडियन्स को मौका दिया गया। 

सभी को एक प्लेटफॉर्म मिला और दर्शकों को हंसने का नया जरिया। उस शो के तीसरे सीजन के विजेता कपिल शर्मा रहे। संघर्ष वाले दिन उन्होंने पीछे छोड़े और वो अपने करियर में कॉमेडी को तवज्जो देना शुरू कर दिया। इसी का नतीजा रहा कि कपिल ने 6 बार कॉमेडी सर्कस की ट्रॉफी अपने नाम की। ये उनका एक अटूट रिकॉर्ड बन गया, जो कभी नहीं टूट पाया।
 

सभी को एक प्लेटफॉर्म मिला और दर्शकों को हंसने का नया जरिया। उस शो के तीसरे सीजन के विजेता कपिल शर्मा रहे। संघर्ष वाले दिन उन्होंने पीछे छोड़े और वो अपने करियर में कॉमेडी को तवज्जो देना शुरू कर दिया। इसी का नतीजा रहा कि कपिल ने 6 बार कॉमेडी सर्कस की ट्रॉफी अपने नाम की। ये उनका एक अटूट रिकॉर्ड बन गया, जो कभी नहीं टूट पाया।
 

अब शो मिले, ट्रॉफी मिली तो लोकप्रियता का ग्राफ भी समय के साथ बढ़ता गया। चेहरा लोगों के जहन में घर कर गया इसलिए कपिल शर्मा को मौके भी पहले से ज्यादा मिलने लगे। उन्हें कई बड़े शोज की होस्टिंग करने को मिल गई। कभी किसी दिग्गज के साथ स्टेज शेयर कर लिया तो कभी अपने दम पर ही अवॉर्ड नाइट को यादगार बना दिया। 
 

अब शो मिले, ट्रॉफी मिली तो लोकप्रियता का ग्राफ भी समय के साथ बढ़ता गया। चेहरा लोगों के जहन में घर कर गया इसलिए कपिल शर्मा को मौके भी पहले से ज्यादा मिलने लगे। उन्हें कई बड़े शोज की होस्टिंग करने को मिल गई। कभी किसी दिग्गज के साथ स्टेज शेयर कर लिया तो कभी अपने दम पर ही अवॉर्ड नाइट को यादगार बना दिया। 
 

इसके बाद कपिल ने खुद का शो कॉमेडी नाइट्स विद कपिल शुरू किया। कई सालों तक वो इसे करते रहे, और टीआरपी भी उन्हीं के टैलेंट को सलाम करती रही। फिर उन्होंने सोनी के साथ सफर शुरू किया और द कपिल शर्मा शो लेकर आ गए। ये भी बड़ा सफल रहा और दर्शकों ने इसे भी खूब पसंद किया।

इसके बाद कपिल ने खुद का शो कॉमेडी नाइट्स विद कपिल शुरू किया। कई सालों तक वो इसे करते रहे, और टीआरपी भी उन्हीं के टैलेंट को सलाम करती रही। फिर उन्होंने सोनी के साथ सफर शुरू किया और द कपिल शर्मा शो लेकर आ गए। ये भी बड़ा सफल रहा और दर्शकों ने इसे भी खूब पसंद किया।

मतलब फोन बूथ पर काम कर पैसा कमाने वाले कपिल शर्मा अब टीवी के हीरो हैं, फिल्मों में एक्टिंग करते हैं और लोगों की नजर में द ग्रेट कॉमेडी किंग बन चुके हैं। उनकी निजी जिंदगी में गजह की चल रही है। गिन्नी संग शादी हो गई है और दो बच्चों के पिता भी बन लिए हैं। ऐसे में उनका सक्सेस वाला ग्राफ तो बस बढ़ने ही वाला है, नीचे जाने के लक्षण अभी दिखाई नहीं पड़ रहे।

मतलब फोन बूथ पर काम कर पैसा कमाने वाले कपिल शर्मा अब टीवी के हीरो हैं, फिल्मों में एक्टिंग करते हैं और लोगों की नजर में द ग्रेट कॉमेडी किंग बन चुके हैं। उनकी निजी जिंदगी में गजह की चल रही है। गिन्नी संग शादी हो गई है और दो बच्चों के पिता भी बन लिए हैं। ऐसे में उनका सक्सेस वाला ग्राफ तो बस बढ़ने ही वाला है, नीचे जाने के लक्षण अभी दिखाई नहीं पड़ रहे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios