जब राक्षस का वध करने में रामायण के लक्ष्मण के छूट गए थे पसीने, चलानी पड़ी थी 20-25 बार तलवार

First Published 29, May 2020, 11:10 AM

मुंबई. रामानंद सागर का पॉपुलर शो 'रामायण' इन दिनों लॉकडाउन में काफी चर्चित रहा है। लोगों की मांग पर इसे फिर से टेलीकास्ट किया गया और लोगों ने इस शो को पहले की ही तरह प्यार दिया। इसने टीआरपी की रेस में सभी निजी चैनलों को पीछे छोड़ दिया था। ऐसे में शो के टेलीकास्ट किए जाने के बाद से इसके मुख्य किरदार भी सुर्खियों में आ गए और इसमें लक्ष्मण का रोल प्ले करने वाले एक्टर सुनील लहरी शो से जुड़े किस्से शेयर कर रहे हैं। अब उन्होंने एक किस्सा शेयर किया है कि एक राक्षस का वध करने में उनके पसीने छूट गए थे।  
 

<p style="text-align: justify;">'रामायण' में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी रोजाना इसकी शूटिंग से जुड़े बड़े ही दिलचस्प और अनसुने किस्से बता रहे हैं जो लोगों को भी खूब पसंद आ रहे हैं। सुनील लहरी ने अब उस राक्षस से जुड़ा किस्सा सुनाया है, जिसका वध करने में उनके पसीने छूट गए थे।</p>

'रामायण' में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी रोजाना इसकी शूटिंग से जुड़े बड़े ही दिलचस्प और अनसुने किस्से बता रहे हैं जो लोगों को भी खूब पसंद आ रहे हैं। सुनील लहरी ने अब उस राक्षस से जुड़ा किस्सा सुनाया है, जिसका वध करने में उनके पसीने छूट गए थे।

<p>किस्सा सुनाते हुए सुनील लहरी ने कहा कि कामागी राक्षस के उन्हें हाथ काटने थे। उन्हें कम से कम 20-25 बार उस राक्षस के हाथ काटने पड़े और हाथ काटने में उनके हाथों में ही दर्द हो गया। </p>

किस्सा सुनाते हुए सुनील लहरी ने कहा कि कामागी राक्षस के उन्हें हाथ काटने थे। उन्हें कम से कम 20-25 बार उस राक्षस के हाथ काटने पड़े और हाथ काटने में उनके हाथों में ही दर्द हो गया। 

<p style="text-align: justify;">एक्टर कहते हैं कि एक तो असली तलवार थी और दूसरी बात कि उस वक्त स्पेशल इफेक्ट्स इतने प्रॉपर तरीके से नहीं होते थे। इसके लिए थोड़ा ज्यादा काम करना पड़ा। ज्यादा टाइम लगता था। जो कुछ भी स्पेशल इफेक्ट्स होते थे उन्हें करने के लिए रवि नागाइच साहब मद्रास से स्पेशली आते थे। वह बहुत अच्छे डायरेक्टर भी रहे हैं। ज्यादातर स्पेशल इफेक्ट्स वही करते थे, तो कामागी राक्षस के वध वाले सीन के स्पेशल इफेक्ट्स उन्होंने ही किए थे।</p>

एक्टर कहते हैं कि एक तो असली तलवार थी और दूसरी बात कि उस वक्त स्पेशल इफेक्ट्स इतने प्रॉपर तरीके से नहीं होते थे। इसके लिए थोड़ा ज्यादा काम करना पड़ा। ज्यादा टाइम लगता था। जो कुछ भी स्पेशल इफेक्ट्स होते थे उन्हें करने के लिए रवि नागाइच साहब मद्रास से स्पेशली आते थे। वह बहुत अच्छे डायरेक्टर भी रहे हैं। ज्यादातर स्पेशल इफेक्ट्स वही करते थे, तो कामागी राक्षस के वध वाले सीन के स्पेशल इफेक्ट्स उन्होंने ही किए थे।

<p style="text-align: justify;">सुनील लहरी ने रावण का किरदार निभाने वाले एक्टर अरविंद त्रिवेदी को लेकर भी एक दिलचस्प बात बताई। उन्होंने बताया कि कैसे वह अरविंद त्रिवेदी को सेट पर देख गच्चा खा गए थे। सुनील ने कहा कि जब अरविंद त्रिवेदी यानी रावण पहली बार शूटिंग लोकेशन पर आए तो उन्हें लगा कि शायद कोई गेस्ट किसी से मिलने आया है। वो उन्हें पर्सनली नहीं जानते थे, लेकिन जब सुनील को पता चला कि वह रावण के लिए रोल के लिए आए हैं तो उन्हें थोड़ी निराशा हुई। </p>

सुनील लहरी ने रावण का किरदार निभाने वाले एक्टर अरविंद त्रिवेदी को लेकर भी एक दिलचस्प बात बताई। उन्होंने बताया कि कैसे वह अरविंद त्रिवेदी को सेट पर देख गच्चा खा गए थे। सुनील ने कहा कि जब अरविंद त्रिवेदी यानी रावण पहली बार शूटिंग लोकेशन पर आए तो उन्हें लगा कि शायद कोई गेस्ट किसी से मिलने आया है। वो उन्हें पर्सनली नहीं जानते थे, लेकिन जब सुनील को पता चला कि वह रावण के लिए रोल के लिए आए हैं तो उन्हें थोड़ी निराशा हुई। 

<p style="text-align: justify;">क्योंकि सुनील का मानना था कि रावण तो इतना बड़ा, ताकतवर और गौरवशाली कैरेक्टर है। पता नहीं अरविंद कैसा करेंगे। लेकिन जब अरविंद त्रिवेदी ने कॉस्ट्यूम पहना और मेकअप लिया तो कमाल लग रहे थे। <br />
 </p>

क्योंकि सुनील का मानना था कि रावण तो इतना बड़ा, ताकतवर और गौरवशाली कैरेक्टर है। पता नहीं अरविंद कैसा करेंगे। लेकिन जब अरविंद त्रिवेदी ने कॉस्ट्यूम पहना और मेकअप लिया तो कमाल लग रहे थे। 
 

<p style="text-align: justify;">रावण के लुक में अरविंद को देख सुनील इतने प्रभावित हुए कि बता नहीं सकते। अरविंद एकदम अलग पर्सनैलिटी लग रहे थे। उन्होंने सोचा कि चलो एक बार सेट पर चलते हैं और उनकी शूटिंग देखते हैं। अभिनंदन वाले गाने पर अरविंद त्रिवेदी ने जो एंट्री दी 'रामायण' में वह देखने लायक है। </p>

रावण के लुक में अरविंद को देख सुनील इतने प्रभावित हुए कि बता नहीं सकते। अरविंद एकदम अलग पर्सनैलिटी लग रहे थे। उन्होंने सोचा कि चलो एक बार सेट पर चलते हैं और उनकी शूटिंग देखते हैं। अभिनंदन वाले गाने पर अरविंद त्रिवेदी ने जो एंट्री दी 'रामायण' में वह देखने लायक है। 

<p>फोटो सोर्स- गूगल।</p>

फोटो सोर्स- गूगल।

loader