Asianet News Hindi

जिस पति को बरसों पहले छोड़ चुकी श्वेता तिवारी उसे अचानक याद आई अपनी 20 साल की बेटी, फिर किया ये काम

First Published Oct 10, 2020, 3:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. टीवी की पॉपुलर एक्ट्रेस श्वेता तिवारी (shweta tiwari) की बेटी पलक तिवारी (palak tiwari) ने हाल में अपना 20वां बर्थडे सेलिब्रेट किया। पलक, श्वेता के पहले पति राजा चौधरी (raja choudhury) की बेटी है। हालांकि, पलक मां के पास ही रहती है। बेटी के बर्थडे पापा को पलक की याद आई और उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर बेटी के साथ वाली एक फोटो शेयर की। फोटो शेयर कर उन्होंने लिखा- वक्त बदल गया है। आपको बता दें कि कई सुपरहिट सीरियलों में काम करने वाली श्वेता ने दो शादी की लेकिन दोनों ही पति को छोड़ दिया। पति के बिना वह अकेले ही अपने दोनों बच्चों की परवरिश कर रही हैं। दोनों पति यानी राजा चौधरी और अभिनव कोहला (abhinav kohli) से अलग होने पर कई बार उन्होंने इंटरव्यू में काफी कुछ बातें बताई।

आपको बता दें कि श्वेता ने 19 साल की उम्र में राजा चौधरी से 1999 में लव मैरिज की थी। इस शादी का श्वेता की फैमिली ने काफी विरोध भी किया था लेकिन कपल ने फैमिली की परवाह न करते हुए ये शादी रचाई थी।

आपको बता दें कि श्वेता ने 19 साल की उम्र में राजा चौधरी से 1999 में लव मैरिज की थी। इस शादी का श्वेता की फैमिली ने काफी विरोध भी किया था लेकिन कपल ने फैमिली की परवाह न करते हुए ये शादी रचाई थी।

शुरुआती दिनों में श्वेता और राजा की शादीशुदा लाइफ अच्छे से चल रही थी। लेकिन कुछ टाइम बाद ही दोनों के बीच प्रॉब्लम्स आने लगीं। ये परेशानियां श्वेता की बेटी पलक के जन्म (2000) के साथ ही शुरू हो गई थीं।
 

शुरुआती दिनों में श्वेता और राजा की शादीशुदा लाइफ अच्छे से चल रही थी। लेकिन कुछ टाइम बाद ही दोनों के बीच प्रॉब्लम्स आने लगीं। ये परेशानियां श्वेता की बेटी पलक के जन्म (2000) के साथ ही शुरू हो गई थीं।
 

श्वेता ने पलक को जन्म देने से बाद 2001 में 'कहीं किसी रोज' से टीवी डेब्यू किया। इसी दौरान उन्होंने राजा पर मारपीट के भी आरोप लगाए।

श्वेता ने पलक को जन्म देने से बाद 2001 में 'कहीं किसी रोज' से टीवी डेब्यू किया। इसी दौरान उन्होंने राजा पर मारपीट के भी आरोप लगाए।

आखिरकार राजा से परेशान होकर श्वेता ने 2007 में तलाक का केस फाइल कर दिया और वो सेपरेट रहने लगीं। तलाक की प्रोसेस काफी लंबी चली और साढ़े पांच साल के बाद आखिरकार 2012 में इनका तलाक हो गया।

आखिरकार राजा से परेशान होकर श्वेता ने 2007 में तलाक का केस फाइल कर दिया और वो सेपरेट रहने लगीं। तलाक की प्रोसेस काफी लंबी चली और साढ़े पांच साल के बाद आखिरकार 2012 में इनका तलाक हो गया।

श्वेता ने तीन साल डेटिंग करने के बाद 2013 में एक्टर अभिनव कोहली से दूसरी शादी। अभिनव और श्वेता का एक बेटा रेयांश है। श्वेता की दूसरी शादी भी खतरे में पड़ गई हैं।

श्वेता ने तीन साल डेटिंग करने के बाद 2013 में एक्टर अभिनव कोहली से दूसरी शादी। अभिनव और श्वेता का एक बेटा रेयांश है। श्वेता की दूसरी शादी भी खतरे में पड़ गई हैं।

बता दें कि श्वेता, दोनों पति से अलग होने के बाद अपने बच्चों की अकेले ही परवरिश कर रही है। पलक ने एक इंटरव्यू में मां श्वेता की जिंदगी से जुड़ी कई बातों को शेयर की थी। उन्होंने बताया था- मॉम को मैंने तपड़ते और घुट-घुटकर जीते देखा है। उन्होंने ये भी बताया कि कैसे उन्होंने अपनी मां को बहुत कुछ सहते देखा है।

बता दें कि श्वेता, दोनों पति से अलग होने के बाद अपने बच्चों की अकेले ही परवरिश कर रही है। पलक ने एक इंटरव्यू में मां श्वेता की जिंदगी से जुड़ी कई बातों को शेयर की थी। उन्होंने बताया था- मॉम को मैंने तपड़ते और घुट-घुटकर जीते देखा है। उन्होंने ये भी बताया कि कैसे उन्होंने अपनी मां को बहुत कुछ सहते देखा है।

पलक ने बताया था कि कैसे उन्होंने अपनी मां को बड़ी-बड़ी मुश्किलों का सामना करते देखा है। उन्होंने कहा- 'हमारी निजी जिंदगी में हमने कई लड़ाईयां लड़ी हैं। मैंने उन्हें हर चीज से गुजरते देखा है। ऐसी चीजें जो आज मेरे सामने भी आ रही हैं।

पलक ने बताया था कि कैसे उन्होंने अपनी मां को बड़ी-बड़ी मुश्किलों का सामना करते देखा है। उन्होंने कहा- 'हमारी निजी जिंदगी में हमने कई लड़ाईयां लड़ी हैं। मैंने उन्हें हर चीज से गुजरते देखा है। ऐसी चीजें जो आज मेरे सामने भी आ रही हैं।

पलक ने कहा था कि उनकी मां ने कभी भी खुद पर नकारात्मकता का प्रभाव नहीं पड़ने दिया। क्योंकि लोग चीजों को अलग तरीके से हैंडल करते हैं और जब लोग अपनी जिंदगी का बुरा समय झेल रहे होते हैं तो खुद में भी कुछ कड़वाहट आ जाती है। मेरी मां ने अपने आप में कड़वाहट नहीं आने दी। जब वो अपनी जिंदगी के मुश्किल दौर में थीं, तो उन्होंने और ज्यादा ताकत के साथ सबकुछ किया।

पलक ने कहा था कि उनकी मां ने कभी भी खुद पर नकारात्मकता का प्रभाव नहीं पड़ने दिया। क्योंकि लोग चीजों को अलग तरीके से हैंडल करते हैं और जब लोग अपनी जिंदगी का बुरा समय झेल रहे होते हैं तो खुद में भी कुछ कड़वाहट आ जाती है। मेरी मां ने अपने आप में कड़वाहट नहीं आने दी। जब वो अपनी जिंदगी के मुश्किल दौर में थीं, तो उन्होंने और ज्यादा ताकत के साथ सबकुछ किया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios