Asianet News Hindi

यूरोपियन स्टाइल में तैयार किए गए एसी इकॉनमी कोच, फ्लाइट जैसी हैं अंदर सुविधाएं, देखिए तस्वीरें

First Published Jun 2, 2021, 5:04 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh) । कपूरथाला की रेल कोच फैक्ट्री में यूरोपियन स्टाइल में 15 एसी इकॉनमी कोच तैयार किए गए हैं। इनमें 10 कोच प्रयागराज, आगरा और झांसी मंडल के लिए भेजे गए है, जबकि 5 अन्य मुंबई जोन के लिए दिया गया है। बता दें कि इस एसी कोच में फ्लाइट जैसी सुविधाएं हैं। जिसकी तस्वीरें और उसके बारे में हम आपको बता रहे हैं। 

पहले एक कोच तैयार करने में 2.80-2.82 करोड़ खर्च होते थे, वहीं यह एसी इकॉनमी कोच केवल 2.76 करोड़ में तैयार हो गया। इतना ही नहीं, पहले के कोच में 72 सीट हुआ करती थी। लेकिन, अब एक कोच में 83 सीटें हैं।  सिर्फ सीट ही नहीं बढ़ी कोच का लुक भी नया है और अंदर की जगह को कम करने की बजाय बढ़ाया गया है।
 

पहले एक कोच तैयार करने में 2.80-2.82 करोड़ खर्च होते थे, वहीं यह एसी इकॉनमी कोच केवल 2.76 करोड़ में तैयार हो गया। इतना ही नहीं, पहले के कोच में 72 सीट हुआ करती थी। लेकिन, अब एक कोच में 83 सीटें हैं।  सिर्फ सीट ही नहीं बढ़ी कोच का लुक भी नया है और अंदर की जगह को कम करने की बजाय बढ़ाया गया है।
 

हर बोगी के पहली सीट को दिव्यांगों के लिए सुविधाजनक बनाते हुए इससे हर वर्ग के लिए सुलभ रखा गया है। इलेक्ट्रिकल पैनल को ऊपर की जगह नीचे ले जाया गया है। एसी में भी हाई करंट सर्किट को भी बाहर किया गया है। जिससे एसी से आग लगने की संभावना खत्म हो गई है।

हर बोगी के पहली सीट को दिव्यांगों के लिए सुविधाजनक बनाते हुए इससे हर वर्ग के लिए सुलभ रखा गया है। इलेक्ट्रिकल पैनल को ऊपर की जगह नीचे ले जाया गया है। एसी में भी हाई करंट सर्किट को भी बाहर किया गया है। जिससे एसी से आग लगने की संभावना खत्म हो गई है।

सभी बर्थ को डेडिकेटेड एसी वेंट्स दिए गए है। ये ट्रेन कोच में वर्ल्ड क्लास कार का अनुभव देती है। साथ ही प्रत्येक बर्थ पर रीडिंग लाइट,यूएसबी चार्जर पोर्ट मोबाइल होल्ड करने के लिए ब्रेकेट के साथ व बोटल होल्डर भी दिया गया है।
 

सभी बर्थ को डेडिकेटेड एसी वेंट्स दिए गए है। ये ट्रेन कोच में वर्ल्ड क्लास कार का अनुभव देती है। साथ ही प्रत्येक बर्थ पर रीडिंग लाइट,यूएसबी चार्जर पोर्ट मोबाइल होल्ड करने के लिए ब्रेकेट के साथ व बोटल होल्डर भी दिया गया है।
 

सीट्स कवर में भी यूरोपियन स्पेसिफिकेशन के मानक व स्टैंडर्ड का पालन करते हुए एचएन 3 फायर रेजिस्टेन्ट व इंटीरियर कलर कोऑर्डिनेटेड डिजाइन भी रखा गया है। कोच में मिडिल और अपर बर्थ पर चढ़ने के लिए सीढ़ी का डिजायन भी बदला गया है। 

सीट्स कवर में भी यूरोपियन स्पेसिफिकेशन के मानक व स्टैंडर्ड का पालन करते हुए एचएन 3 फायर रेजिस्टेन्ट व इंटीरियर कलर कोऑर्डिनेटेड डिजाइन भी रखा गया है। कोच में मिडिल और अपर बर्थ पर चढ़ने के लिए सीढ़ी का डिजायन भी बदला गया है। 

पहले के कोच में सीढ़ी जगह भी घेरती थी और लुक भी बदल जाता था, लेकिन अब इसे ऐसे बनाया गया है कि देखने में भी सुंदर लगे और यात्रियों को असुविधा भी न है। बाथरुम फिटिंग्स भी ऐसी है कि हाथ के प्रयोग को सीमित करते हुए सब कुछ आसानी से पैर से संचालित किया जा सकेगा।
 

पहले के कोच में सीढ़ी जगह भी घेरती थी और लुक भी बदल जाता था, लेकिन अब इसे ऐसे बनाया गया है कि देखने में भी सुंदर लगे और यात्रियों को असुविधा भी न है। बाथरुम फिटिंग्स भी ऐसी है कि हाथ के प्रयोग को सीमित करते हुए सब कुछ आसानी से पैर से संचालित किया जा सकेगा।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios