Asianet News Hindi

गाजियाबाद श्मशान हादसे के आरोपी ठेकेदार ने किया चौंकाने वाला खुलासा, बताया 25 मौत के पीछे इनका भी था हाथ

First Published Jan 5, 2021, 7:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गाजियाबाद (Uttar Pradesh) ।  मुरादनगर श्मशान में दो दिन हुए हादसे में अब मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। वहीं, जांच में दोषी पाए गए मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी ने बड़ा खुलासा किया है। उसने अधिकारियों पर 28% कमीशनखोरी का आरोप लगाया है। बताते चले कि ठेकेदार के इस बयान देने से पहले एक महिला ने उसके सिर पर जूता मारा, जो उछलकर पुलिसकर्मी को लगा और फर्श पर गिर गया। 

जूता मारने वाली महिला का नाम पूनम है, जिसका पति भी भी हादसे में घायल हुआ था। वह इसी अस्पताल में भर्ती है। पुलिस टीम अजय का मेडिकल कराने के बाद उसे कोर्ट में पेश करने के लिए ले जा रही थी। 

जूता मारने वाली महिला का नाम पूनम है, जिसका पति भी भी हादसे में घायल हुआ था। वह इसी अस्पताल में भर्ती है। पुलिस टीम अजय का मेडिकल कराने के बाद उसे कोर्ट में पेश करने के लिए ले जा रही थी। 

पेशी पर ले जाने के ठीक पहले अस्पताल में पूनम की नजर ठेकेदार अजय त्यागी पर पड़ी। जिसे वो पहचान गई और फिर उसने अपने पैर से जूता निकालकर अजय के सिर पर हमला कर दिया। इसका घटनाक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।

पेशी पर ले जाने के ठीक पहले अस्पताल में पूनम की नजर ठेकेदार अजय त्यागी पर पड़ी। जिसे वो पहचान गई और फिर उसने अपने पैर से जूता निकालकर अजय के सिर पर हमला कर दिया। इसका घटनाक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है।

बताते चले कि ढाई महीने पहले 50 लाख से अधिक बजट से श्मशान घाट पर धूप, बारिश से बचाव के लिए 60 फीट लंबी गैलरी बनाई गई थी। गैलरी के गिरते ही इसे बनाने में इस्तेमाल हुई सामग्री चूरे में तब्दील हो गई। इसका भवन का अभी लोकार्पण भी नहीं हुआ था

बताते चले कि ढाई महीने पहले 50 लाख से अधिक बजट से श्मशान घाट पर धूप, बारिश से बचाव के लिए 60 फीट लंबी गैलरी बनाई गई थी। गैलरी के गिरते ही इसे बनाने में इस्तेमाल हुई सामग्री चूरे में तब्दील हो गई। इसका भवन का अभी लोकार्पण भी नहीं हुआ था

पुलिस ने इस मामले में मुरादनगर नगर पालिका की अधिशासी अधिकारी निहारिका सिंह, जूनियर इंजीनियर चंद्रपाल और सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर लिया था। 
 

पुलिस ने इस मामले में मुरादनगर नगर पालिका की अधिशासी अधिकारी निहारिका सिंह, जूनियर इंजीनियर चंद्रपाल और सुपरवाइजर आशीष को गिरफ्तार कर लिया था। 
 

सीएम योगी आदित्यनाथ इंजीनियर और ठेकेदार के खिलाफ रासुका लगाने का निर्देश दिया है। साथ ही कहा है कि नुकसान की वसूली दोषी इंजीनियर और ठेकेदार से किया जाएगा और उसे ब्लैक लिस्ट किया जाएगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ इंजीनियर और ठेकेदार के खिलाफ रासुका लगाने का निर्देश दिया है। साथ ही कहा है कि नुकसान की वसूली दोषी इंजीनियर और ठेकेदार से किया जाएगा और उसे ब्लैक लिस्ट किया जाएगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios