Asianet News Hindi

गोंडा हादसाः आधी रात को एक के बाद एक निकल रही थी लाशें,तस्वीरों में देखिए कितना भयानक था मंजर

First Published Jun 2, 2021, 11:05 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गोंडा (Uttar Pradesh) । वजीरगंज क्षेत्र के टिकरी गांव में सिलेंडर ब्लास्ट से हुए हादसे के बाद मंजर काफी भयानक था। मंगलवार मध्य रात से ठीक एक घंटे पहले हुए इस हादसे से गांव के लोग सहम गए थे। हर ओर चीख पुकार की आवाज सुनाई दे रही थी। पुलिस और जेसीबी मशीन की मदद से दो मकान के मलबे में दबे 14 लोगों को बाहर निकालने में ग्रामीण भी जुटे थे। लेकिन, एक के बाद एक मिले आठ लोगों के शव से गांव में कोहराम मच गया। वहीं, जांच के दौरान यह भी बात सामने आई है कि दूसरे मकान की छत से सन का गोला बरामद हुआ है, जिसे संज्ञान में लेकर पुलिस-प्रशासन जांच में जुटा है। ऐसे में हम आपको हादसे से जुड़ी कुछ तस्वीरें भी दिखा रहे हैं।

टिकरी गांव निवासी नुरुल हसन के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस था। मंगलवार की रात करीब 11 बजे के आसपास उनके घर में विस्फोट हुआ। यह इतना तेज था कि नुरुल हसन मकान तो ढहा ही, बाजू वाला मकान भी जमींदोज हो गया। वहीं, ग्रामीणों के मुताबिक दूसरे छत पर सन का गोला बरामद हुआ है। गोले में आग लगने से विस्फोट हो गया इससे दो मंजिला इमारत भरभरा कर गिर गई। 

टिकरी गांव निवासी नुरुल हसन के पास पटाखा बनाने का लाइसेंस था। मंगलवार की रात करीब 11 बजे के आसपास उनके घर में विस्फोट हुआ। यह इतना तेज था कि नुरुल हसन मकान तो ढहा ही, बाजू वाला मकान भी जमींदोज हो गया। वहीं, ग्रामीणों के मुताबिक दूसरे छत पर सन का गोला बरामद हुआ है। गोले में आग लगने से विस्फोट हो गया इससे दो मंजिला इमारत भरभरा कर गिर गई। 

विस्फोट की आवाज सुन ग्रामीण हतप्रभ हो गए थे, जो जैसे था वह वैसे ही घटनास्थल की तरफ दौड़ पड़ा। ग्रामीणों ने मलबे के नीचे फंसे लोगों को निकालना शुरू किया। मलबे में 14 लोग दब गए। जिन्हें पुलिस ने गांव वालों की मदद से बाहर निकाला। लेकिन तब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी थी। इनमें दो पुरुष, दो महिलाएं और 3 बच्चे हैं।
 

विस्फोट की आवाज सुन ग्रामीण हतप्रभ हो गए थे, जो जैसे था वह वैसे ही घटनास्थल की तरफ दौड़ पड़ा। ग्रामीणों ने मलबे के नीचे फंसे लोगों को निकालना शुरू किया। मलबे में 14 लोग दब गए। जिन्हें पुलिस ने गांव वालों की मदद से बाहर निकाला। लेकिन तब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी थी। इनमें दो पुरुष, दो महिलाएं और 3 बच्चे हैं।
 

घायलों को जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद लखनऊ के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। प्रभारी निरीक्षक संतोष कुमार तिवारी के मुताबिक कि खाना बनाते समय अचानक सिलिंडर फट गया। इसमें आठ लोगों की मौत हो गई । दो सिलिंडर बरामद हुआ है। जबकि एक सिलिंडर फट गया है।
 

घायलों को जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद लखनऊ के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया है। प्रभारी निरीक्षक संतोष कुमार तिवारी के मुताबिक कि खाना बनाते समय अचानक सिलिंडर फट गया। इसमें आठ लोगों की मौत हो गई । दो सिलिंडर बरामद हुआ है। जबकि एक सिलिंडर फट गया है।
 

हादसे में घायल मोहम्मद हकीम ने कहा है कि रात 11 बजे के आसपास खाना बन रहा था, तभी गैस सिलेंडर में विस्फोट हुआ। गैस सिलेंडर हाल ही में खरीदकर लाया गया था। इससे दो मंजिला मकान ढह गया। पड़ोसी का भी मकान गिरा है। इसके बाद क्या हुआ, मुझे नहीं मालूम।

हादसे में घायल मोहम्मद हकीम ने कहा है कि रात 11 बजे के आसपास खाना बन रहा था, तभी गैस सिलेंडर में विस्फोट हुआ। गैस सिलेंडर हाल ही में खरीदकर लाया गया था। इससे दो मंजिला मकान ढह गया। पड़ोसी का भी मकान गिरा है। इसके बाद क्या हुआ, मुझे नहीं मालूम।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य तेजी से संचालित करने तथा घायलों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। साथ ही डीएम को दुर्घटना के कारणों की जांच कराकर आख्या उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया है।
 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य तेजी से संचालित करने तथा घायलों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। साथ ही डीएम को दुर्घटना के कारणों की जांच कराकर आख्या उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios