Asianet News Hindi

यूपी में 60 फीट गहरे बोरवेल में गिरा मासूम, 22 घंटे ऐसे चला रेस्क्यू, फिर भी नहीं बची जान

First Published Dec 3, 2020, 10:22 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

महोबा (Uttar Pradesh) । बोरवेल में गिरे बच्चे घनेंद्र की आखिरकार मौत हो गई। 22 घंटे तक चले  रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद उसका शव बाहर निकाला जा सका। बताते हैं यहां 6 जेसीबी मशीनें, एक एलएनटी मशीन, पांच एंबुलेंस, अग्निशमन दस्ता जुटा था। रात करीब 12 से लखनऊ एसडीआरएफ के कमांडेंट डा. सतीश कुमार की नेतृत्व में  टीम आई थी और बचाव अभियान शुरू किया था, जो पूरी रात और सुबह तक चला। 8 बजकर 44 मिनट पर बोरवेल से घनेंद्र को बाहर निकाला गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।यह घटना कुलपहाड़ इलाके की है।

जैतपुर विकासखंड के बुधौरा गांव के निवासी किसान भगीरथ कुशवाहा बुधवार को परिवार के साथ अपने खेत पर गेहूं की फसल में सिंचाई करने पहुंचे। उनका छह वर्षीय बेटा घनेंद्र भी साथ में था। सभी परिवारीजन सिंचाई को लेकर व्यस्त हो गए। उधर, मासूम खेलते-खेलते खेत पर करीब एक फीट की चौड़ाई वाले बोरवेल में गिर पड़ा। 

जैतपुर विकासखंड के बुधौरा गांव के निवासी किसान भगीरथ कुशवाहा बुधवार को परिवार के साथ अपने खेत पर गेहूं की फसल में सिंचाई करने पहुंचे। उनका छह वर्षीय बेटा घनेंद्र भी साथ में था। सभी परिवारीजन सिंचाई को लेकर व्यस्त हो गए। उधर, मासूम खेलते-खेलते खेत पर करीब एक फीट की चौड़ाई वाले बोरवेल में गिर पड़ा। 


अपराह्न करीब एक बजे जब भगीरथ व उनकी पत्नी को सिंचाई से फुरसत मिली तो घनेंद्र गायब मिला। काफी खोजबीन के बाद बोरवेल के पास पहुंचने पर बेटे की रोने की आवाज सुनकर चीख पड़े। 


अपराह्न करीब एक बजे जब भगीरथ व उनकी पत्नी को सिंचाई से फुरसत मिली तो घनेंद्र गायब मिला। काफी खोजबीन के बाद बोरवेल के पास पहुंचने पर बेटे की रोने की आवाज सुनकर चीख पड़े। 


घटना की जानकारी पाकर बेलाताल पुलिस चौकी का फोर्स, कुलपहाड़ एसडीएम मोहम्मद अवेश व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलाताल के डॉक्टर व अन्य अफसर मौके पर पहुंचे। फायर ब्रिगेड को भी बुलाकर स्थानीय प्रशासन ने बोरवेल के पास जेसीबी से खोदाई शुरू कराई। स्वास्थ्य टीम ने घनेंद्र को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई। शाम करीब चार बजे बिस्कुट और दूध रखकर भेजा था। 


घटना की जानकारी पाकर बेलाताल पुलिस चौकी का फोर्स, कुलपहाड़ एसडीएम मोहम्मद अवेश व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलाताल के डॉक्टर व अन्य अफसर मौके पर पहुंचे। फायर ब्रिगेड को भी बुलाकर स्थानीय प्रशासन ने बोरवेल के पास जेसीबी से खोदाई शुरू कराई। स्वास्थ्य टीम ने घनेंद्र को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई। शाम करीब चार बजे बिस्कुट और दूध रखकर भेजा था। 


बच्चे की आहट पाने को टार्च की रोशनी देकर पिता ने आवाज लगाई तो वह भी नीचे से बोला। किसान के मुताबिक, बोरवेल 60 फीट गहरा था। अब मिट्टी पडने से करीब 40 फीट गहराई होगी। लखनऊ से राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की रेस्क्यू टीम भी निरीक्षक वीरेंद्र दुबे के नेतृत्व में रात करीब साढ़े आठ बजे टीम घटनास्थल पर पहुंच गई थी। 


बच्चे की आहट पाने को टार्च की रोशनी देकर पिता ने आवाज लगाई तो वह भी नीचे से बोला। किसान के मुताबिक, बोरवेल 60 फीट गहरा था। अब मिट्टी पडने से करीब 40 फीट गहराई होगी। लखनऊ से राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की रेस्क्यू टीम भी निरीक्षक वीरेंद्र दुबे के नेतृत्व में रात करीब साढ़े आठ बजे टीम घटनास्थल पर पहुंच गई थी। 


आनन-फानन में सिलेंडर और नली आदि के माध्यम से गड्डे में ऑक्सीजन पहुंचाई गई। रात करीब दो बजे दो से तीन फीट की खोदाई बाकी रह गई थी। प्रशासन ने दावा किया कि 15 से 20 मिनट में बच्चे के पास तक टीम पहुंच जाएगी। फिलहाल बचाव कार्य के दौरान बच्चे की आवाज नहीं आ रही थी, ऐसा में लगा बच्चा सो गया हो।  
 


आनन-फानन में सिलेंडर और नली आदि के माध्यम से गड्डे में ऑक्सीजन पहुंचाई गई। रात करीब दो बजे दो से तीन फीट की खोदाई बाकी रह गई थी। प्रशासन ने दावा किया कि 15 से 20 मिनट में बच्चे के पास तक टीम पहुंच जाएगी। फिलहाल बचाव कार्य के दौरान बच्चे की आवाज नहीं आ रही थी, ऐसा में लगा बच्चा सो गया हो।  
 


रात करीब 02: 20 पर एसडीआरएफ टीम को खोदाई के दौरान बोरवेल में फंसे बच्चे के पास पहुंचने से पहले ही पानी मिला। जिस कारण से रेस्क्यू ऑपरेशन में कुछ दिक्कतें महसूस हो रही थीं। लेकिन आज सुबह 8 बजकर 44 मिनट पर बोरवेल से घनेंद्र को बाहर निकाला गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।


रात करीब 02: 20 पर एसडीआरएफ टीम को खोदाई के दौरान बोरवेल में फंसे बच्चे के पास पहुंचने से पहले ही पानी मिला। जिस कारण से रेस्क्यू ऑपरेशन में कुछ दिक्कतें महसूस हो रही थीं। लेकिन आज सुबह 8 बजकर 44 मिनट पर बोरवेल से घनेंद्र को बाहर निकाला गया। जिसके बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios