Asianet News Hindi

एक दिन की मुख्यमंत्री बनी ये लड़की, 4 घंटे होगा बहुत कुछ खास..सामने होंगे सभी मंत्री..जानें प्रोटोकॉल

First Published Jan 24, 2021, 11:59 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


देहरादून (उत्तराखंड). बॉलीवुड की हिट फिल्म नायक सभी ने देखी है, जिसमें अनिल कपूर अचानक एक दिन के लिए सीएम बन जाते हैं। कुछ ऐसा कमाल रीयल लाइफ में भी हो गया। कॉलेज में पढ़ने वाली एक सामान्य सी लड़की आज एक दिन के लिए उत्तराखंड की मुख्यमंत्री जो बन गई है। खुद राज्य के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर अपनी कुर्सी इस बेटी के लिए दे दी है। यह बेटी विधानसभा भवन में करीब दर्जनभर विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी। दोपहर 12 बजे से  चार बजे तक मुख्यमंत्री के सभी दायित्व को निभाएंगी। इस दौरान राज्य के सभी मंत्री भी मौजूद रहेंगे।

इस होनाहार बेटी का नाम सृष्टि गोस्वामी है। ये मूल रूप से हरिद्वार की रहने वाली है। सृष्टि देहरादून में बाल सभा सत्र के दौरान एक दिन के लिए उत्तराखंड का सीएम बनी है। बता दें राज्य में हर तीन साल में एक बार बाल विधानसभा का आयोजन किया जाता है, जिसमें बाल मुख्यमंत्री का चयन होता है। इस बार यह मौका सृष्टि को मिला है।

इस होनाहार बेटी का नाम सृष्टि गोस्वामी है। ये मूल रूप से हरिद्वार की रहने वाली है। सृष्टि देहरादून में बाल सभा सत्र के दौरान एक दिन के लिए उत्तराखंड का सीएम बनी है। बता दें राज्य में हर तीन साल में एक बार बाल विधानसभा का आयोजन किया जाता है, जिसमें बाल मुख्यमंत्री का चयन होता है। इस बार यह मौका सृष्टि को मिला है।


सृष्टि गोस्वामी सीएम बनते ही इस दिन बाल विभाग का प्रजेंटेशन देंगी। यह बाल विधानसभा आज रविवार दोपहर 12 बजे से चार बजे तक आयोजित हो रही है।  सृष्टि ने योजनाओं की समीक्षा से पहले सृष्टि सीएम कार्यालय के कामकाज को  देखा। इस दौरान उत्तराखंड सरकार कई विभागों के अधिकारी अपनी योजनाओं पर पांच मिनट की प्रस्तुति भी देने वाले हैं। प्रजेंटेशन देखने के बाद उन्हें अपना सुझाव देंगी। उनका फोकस बालिका सुरक्षा और उनके उत्थान से जुड़े मुद्दों पर होगा। वह 2018 में बाल विधानसभा में बाल विधायक भी चुनी जा चुकी हैं।


सृष्टि गोस्वामी सीएम बनते ही इस दिन बाल विभाग का प्रजेंटेशन देंगी। यह बाल विधानसभा आज रविवार दोपहर 12 बजे से चार बजे तक आयोजित हो रही है।  सृष्टि ने योजनाओं की समीक्षा से पहले सृष्टि सीएम कार्यालय के कामकाज को  देखा। इस दौरान उत्तराखंड सरकार कई विभागों के अधिकारी अपनी योजनाओं पर पांच मिनट की प्रस्तुति भी देने वाले हैं। प्रजेंटेशन देखने के बाद उन्हें अपना सुझाव देंगी। उनका फोकस बालिका सुरक्षा और उनके उत्थान से जुड़े मुद्दों पर होगा। वह 2018 में बाल विधानसभा में बाल विधायक भी चुनी जा चुकी हैं।

सृष्टि रुड़की के बीएसएम पीजी कॉलेज की बीएससी एग्रीकल्चर की छात्रा है। पिता प्रवीण पुरी दौलतपुर गांव में किराने की छोटी सी दुकान चलाते हैं। मां सुधा गोस्वामी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं। छोटा भाई श्रेष्ठ पुरी कक्षा 11 का छात्र है।

सृष्टि रुड़की के बीएसएम पीजी कॉलेज की बीएससी एग्रीकल्चर की छात्रा है। पिता प्रवीण पुरी दौलतपुर गांव में किराने की छोटी सी दुकान चलाते हैं। मां सुधा गोस्वामी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं। छोटा भाई श्रेष्ठ पुरी कक्षा 11 का छात्र है।


दौलतपुर गांव की बेटी को जानने वालों का कहना है कि सृष्टि बचपन से ही पढ़ने-लिखने वा अन्य कामों में होशियार है। 2019 में सृष्टि गर्ल्स इंटरनेशनल लीडरशिप के लिए थाईलैंड में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। अभी वह पिछले दो साल से गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए आरंभ नाम की एक योजना चला रही है।


दौलतपुर गांव की बेटी को जानने वालों का कहना है कि सृष्टि बचपन से ही पढ़ने-लिखने वा अन्य कामों में होशियार है। 2019 में सृष्टि गर्ल्स इंटरनेशनल लीडरशिप के लिए थाईलैंड में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। अभी वह पिछले दो साल से गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिए आरंभ नाम की एक योजना चला रही है।


पिता प्रवीण पुरी ने बताया- उनकी बेटी हर जगह लड़कियों के उत्थान के लिए काम करना चाहती है। वह जब गरीब बच्चियों या फिर ऐसी बेटियों को देखती है जो पढ़ नहीं पाती तो दुखी हो जाती है।


पिता प्रवीण पुरी ने बताया- उनकी बेटी हर जगह लड़कियों के उत्थान के लिए काम करना चाहती है। वह जब गरीब बच्चियों या फिर ऐसी बेटियों को देखती है जो पढ़ नहीं पाती तो दुखी हो जाती है।

सृष्टि के लिए एक दिन का सीएम बनने पर दौलतपुर गांव में जश्न का माहौल है। परिवार से लेकर ग्रामीण खुशियां मना रहे हैं।

सृष्टि के लिए एक दिन का सीएम बनने पर दौलतपुर गांव में जश्न का माहौल है। परिवार से लेकर ग्रामीण खुशियां मना रहे हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios