Asianet News Hindi

बीजेपी सांसद के बेटे की शादी में न बारातियों ने मास्क पहना, न ही रखा सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल

First Published Jun 29, 2020, 1:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जालौन (Uttar Pradesh) । कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गंभीर है। यूपी में योगी सरकार सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन कराने के लिए जोर दे रही है। खुद सीएम योगी आदित्यनाथ समीक्षा कर रहे हैं, ताकि इस महामारी से जीता जा सके। लेकिन, जालौन में रविवार को भाजपा सांसद भानु प्रताप वर्मा के बेटे की शादी में सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं। कहा तो यहां तक जा रहा है कि जिस इलाके में वैवाहिक कार्यक्रम रखा गया था, वहां कोरोना के सबसे ज्यादा केस सामने आए।


बुंदेलखंड में भानु प्रताप सिंह वर्मा भाजपा के दिग्‍गज नेता माने जाते है। जालौन-भोगनीपुर-गरौठा से वो सांसद हैं और कोंच में घर है। उन्होंने 28 जून को अपने बेटे की शादी की, जिसमें वे बिना मास्क लगाए नजर आए।
 


बुंदेलखंड में भानु प्रताप सिंह वर्मा भाजपा के दिग्‍गज नेता माने जाते है। जालौन-भोगनीपुर-गरौठा से वो सांसद हैं और कोंच में घर है। उन्होंने 28 जून को अपने बेटे की शादी की, जिसमें वे बिना मास्क लगाए नजर आए।
 


सांसद भानु प्रताप वर्मा के बेटे की शादी में शामिल बारातियों में कुछ लोगों ने मास्क पहन रखा था, लेकिन ज्यादा नीचे लटकाए दिखे। खुद सांसद वर्मा (सफेद कुर्ते में) खुद मास्क नहीं पहने देखे गए। 
 


सांसद भानु प्रताप वर्मा के बेटे की शादी में शामिल बारातियों में कुछ लोगों ने मास्क पहन रखा था, लेकिन ज्यादा नीचे लटकाए दिखे। खुद सांसद वर्मा (सफेद कुर्ते में) खुद मास्क नहीं पहने देखे गए। 
 


सांसद भानु प्रताप अपने ही बेटे के शादी में बिना मास्क के नजर आए। सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल नहीं रखा गया। कहा जा रहा है कि शादी में केंद्र की एडवायजरी के हटकर 50 से ज्यादा लोग शामिल हुए।


सांसद भानु प्रताप अपने ही बेटे के शादी में बिना मास्क के नजर आए। सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल नहीं रखा गया। कहा जा रहा है कि शादी में केंद्र की एडवायजरी के हटकर 50 से ज्यादा लोग शामिल हुए।


12 जून को कोंच के उपजिलाधिकारी अशोक कुमार वर्मा ने एक पत्र जारी किया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि, क्षेत्र में कोरोना के ज्यादा मामले आने के कारण शादी समारोह में 5 लोगों को ही अनुमति दी जाएगी। 


12 जून को कोंच के उपजिलाधिकारी अशोक कुमार वर्मा ने एक पत्र जारी किया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि, क्षेत्र में कोरोना के ज्यादा मामले आने के कारण शादी समारोह में 5 लोगों को ही अनुमति दी जाएगी। 


बता दें कि जालौन में अब तक 168 कोरोना के मरीज मिल चुके हैं। जबकि, सात लोगों की मौत हुई है। अब तक 113 रिकवर्ड हुए हैं। 48 एक्टिव केस का इलाज चल रहा है। वहीं, यदि कोंच तहसील में कोरोना के कुल केस की बात करें तो यहां अब तक 67 मरीज मिले हैं। दो की मौत हुई है। इनमें से 32 ठीक होकर घर लौट चुके हैं। 33 का अभी भी इलाज चल रहा है। 


बता दें कि जालौन में अब तक 168 कोरोना के मरीज मिल चुके हैं। जबकि, सात लोगों की मौत हुई है। अब तक 113 रिकवर्ड हुए हैं। 48 एक्टिव केस का इलाज चल रहा है। वहीं, यदि कोंच तहसील में कोरोना के कुल केस की बात करें तो यहां अब तक 67 मरीज मिले हैं। दो की मौत हुई है। इनमें से 32 ठीक होकर घर लौट चुके हैं। 33 का अभी भी इलाज चल रहा है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios