Asianet News Hindi

50 हजार की नौकरी छोड़ सड़कों पर चाय बेच रहा है ये इंजीनियर, रोज 300 कप बेच महीने में कर रहा इतनी कमाई

First Published Sep 4, 2020, 9:54 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: रिस्क लेना बड़ी बात है। दुनिया में हर इंसान रिस्क  नहीं ले पाता। कुछ नाकामयाबी से डरते हैं तो कुछ समाज क्या कहेगा, ये सोचकर अपनी जिंदगी काट लेते हैं। लेकिन जिसके अंदर कुछ अलग करने का जज्बा होता है, वो रिस्क लेते हैं और ज्यादातर मामलों में मिसाल बन जाते हैं। अब जरा सोचिये कि किसी मल्टीनेशनल कंपनी में काम कर रहा शख्स नौकरी छोड़ सड़क पर चाय बेच सकता है? कई इसे अपनी डिग्री और प्रतिष्ठा के खिलाफ ले लेंगे। लेकिन एमपी के छिंदवाड़ा में रहने वाले एक युवक ने कुछ ऐसा ही किया। इंजीनियरिंग की डिग्री के बाद कंपनी में मिली अच्छी पोस्ट से भी वो  खुश नहीं था। कुछ अलग करने की चाहत में अब उसने इंजीनियर चायवाला नाम से एक ठेला लगाना शुरू कर दिया है। यकीन मानिये. इससे हो रही इनकम जानने के बाद शायद आप भी अपनी नौकरी छोड़ चाय बेचना शुरू कर देंगे। 

सोशल मीडिया पर इन दिनों इंजीनियर चायवाला छाया हुआ है। उसकी चर्चा आपको इंस्टाग्राम से लेकर फेसबुक तक पर मिल जाएगी। इसमें एक शख्स चाय के ठेले के पास चाय बना रहा है, जिसमें ऊपर दूकान का नाम इंजीनियर चायवाला लिखा है। 

सोशल मीडिया पर इन दिनों इंजीनियर चायवाला छाया हुआ है। उसकी चर्चा आपको इंस्टाग्राम से लेकर फेसबुक तक पर मिल जाएगी। इसमें एक शख्स चाय के ठेले के पास चाय बना रहा है, जिसमें ऊपर दूकान का नाम इंजीनियर चायवाला लिखा है। 

अब आपको बताते हैं इस शख्स के बारे में। तो इंजीनियर चायवाले का असली नाम है अंकित नागवंशी। वो एमपी के छिंदवाड़ा के रहने वाले हैं। उन्होंने सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कर रखी है। साथ ही कई कंपनियों के साथ काम कर चुके हैं। 
 

अब आपको बताते हैं इस शख्स के बारे में। तो इंजीनियर चायवाले का असली नाम है अंकित नागवंशी। वो एमपी के छिंदवाड़ा के रहने वाले हैं। उन्होंने सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग कर रखी है। साथ ही कई कंपनियों के साथ काम कर चुके हैं। 
 


अंकित हमेशा से अपना खुद का बिजनेस करना चाहते थे। उन्होंने कई कंपनियों में काम किया लेकिन उनका मन नहीं लगता था। अंकित बिजनेस तो करना चाहते थे लेकिन उन्हें पता नहीं था कि आखिर किस बिजनेस में उन्हें इन्वेस्ट करना चाहिए। 


अंकित हमेशा से अपना खुद का बिजनेस करना चाहते थे। उन्होंने कई कंपनियों में काम किया लेकिन उनका मन नहीं लगता था। अंकित बिजनेस तो करना चाहते थे लेकिन उन्हें पता नहीं था कि आखिर किस बिजनेस में उन्हें इन्वेस्ट करना चाहिए। 

अंकित के मुताबिक, जब वो सॉफ्टवेयर कंपनी में काम कर रहे थे तो अक्सर चाय पीने के लिए ऑफिस के बाहर जाते थे। किसी दिन उन्हें अच्छी चाय मिलती थी, कभी खराब। तब उन्होंने नोटिस किया कि कई लोग चाय पीने के लिए वहां आते हैं। ऐसे में चाय का धंधा किया जा सकता है।  
 

अंकित के मुताबिक, जब वो सॉफ्टवेयर कंपनी में काम कर रहे थे तो अक्सर चाय पीने के लिए ऑफिस के बाहर जाते थे। किसी दिन उन्हें अच्छी चाय मिलती थी, कभी खराब। तब उन्होंने नोटिस किया कि कई लोग चाय पीने के लिए वहां आते हैं। ऐसे में चाय का धंधा किया जा सकता है।  
 

लेकिन यहां बात आई रिस्क लेने की। आखिर एक इंजीनियर चाय बेचेगा तो समाज क्या कहेगा। ये सोचकर उसने थोड़ा समय लिया। आखिरकार अंकित ने अपने  परिवार के साथ इस टॉपिक पर चर्चा की। जिसके बाद वो लोग भी मान गए। 

लेकिन यहां बात आई रिस्क लेने की। आखिर एक इंजीनियर चाय बेचेगा तो समाज क्या कहेगा। ये सोचकर उसने थोड़ा समय लिया। आखिरकार अंकित ने अपने  परिवार के साथ इस टॉपिक पर चर्चा की। जिसके बाद वो लोग भी मान गए। 

समाज और लोगों के बारे में सोचना बंद कर अंकित ने इंजीनियर चायवाला की शुरुआत की। उन्होंने अपने ठेले पर साफ़ लिखा है कि वो इंजीनियर हैं ,लेकिन उन्हें नौकरी में सुकून नहीं मिला। साथ ही वो चाय के भी शौक़ीन हैं। उन्हें मन लायक चाय नहीं मिली, इस कारण नौकरी छोड़ अब वो लोगों को चाय पिला रहे हैं। 
 

समाज और लोगों के बारे में सोचना बंद कर अंकित ने इंजीनियर चायवाला की शुरुआत की। उन्होंने अपने ठेले पर साफ़ लिखा है कि वो इंजीनियर हैं ,लेकिन उन्हें नौकरी में सुकून नहीं मिला। साथ ही वो चाय के भी शौक़ीन हैं। उन्हें मन लायक चाय नहीं मिली, इस कारण नौकरी छोड़ अब वो लोगों को चाय पिला रहे हैं। 
 

बात अगर अंकित के इनकम की करें तो वो हर दिन करीब  तीन सौ कप चाय बेच देते हैं। खुद अंकित ने बताया कि चाय के बिजनेस से हर महीने उनकी डेढ़ से दो लाख की कमाई हो जाती है। इतनी इंजीनियरिंग की नौकरी में भी नहीं होती थी। उन्होंने रिस्क लिया और आज चर्चा में हैं। 


 

बात अगर अंकित के इनकम की करें तो वो हर दिन करीब  तीन सौ कप चाय बेच देते हैं। खुद अंकित ने बताया कि चाय के बिजनेस से हर महीने उनकी डेढ़ से दो लाख की कमाई हो जाती है। इतनी इंजीनियरिंग की नौकरी में भी नहीं होती थी। उन्होंने रिस्क लिया और आज चर्चा में हैं। 


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios