Asianet News Hindi

हाथ से पैंट ढक कर अस्पताल पहुंचा युवक, डॉक्टर से कहा- इलाज कर दो, बहुत दर्द हो रहा है

First Published Feb 23, 2020, 1:49 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: नशीली चीजों का सेवन नुकसानदायक है। लोगों को इससे दूर रहने की सलाह दी जाती है। फिर भी लोग इसके सेवन से बाज नहीं आते और मुसीबत का सामना करते हैं। ऐसा ही एक मामला जॉर्जिया से सामने आया। जहां रहने वाले एक शख्स को अस्पताल में एडमिट होना पड़ा। लेकिन इसकी जो वजह थी, वो कुछ ऐसी है कि लोगों के बीच इसके चर्चे होने लगे। दरअसल, इस शख्स को गांजा फूकने की आदत थी। इस कारण इसे प्रियपिज्म यानी प्राइवेट पार्ट में खिंचाव की समस्या हो गई। 

द सन में छपी खबर के मुताबिक, 32 साल के इस शख्स को 16  साल की उम्र से गांजा फूकने की आदत थी। इस कारण इसे काफी परेशानी उठानी पड़ी।

द सन में छपी खबर के मुताबिक, 32 साल के इस शख्स को 16 साल की उम्र से गांजा फूकने की आदत थी। इस कारण इसे काफी परेशानी उठानी पड़ी।

मीडिया रिपोर्ट्स में युवक की पहचान छिपाई गई है। जानकारी के मुताबिक, शख्स जब अस्पताल पहुंचा, तब दर्द से छटपटा रहा था। इसे प्राइवेट पार्ट में खिंचाव के कारण तेज दर्द हो रहा था।

मीडिया रिपोर्ट्स में युवक की पहचान छिपाई गई है। जानकारी के मुताबिक, शख्स जब अस्पताल पहुंचा, तब दर्द से छटपटा रहा था। इसे प्राइवेट पार्ट में खिंचाव के कारण तेज दर्द हो रहा था।

डॉक्टर्स ने उसे तुरंत एडमिट कर लिया। जांच में पता चला कि उसे प्रियपिज्म है। इस मेडिकल स्टेट में मर्दों के प्राइवेट पार्ट में लंबे समय तक खिंचाव रहता है।

डॉक्टर्स ने उसे तुरंत एडमिट कर लिया। जांच में पता चला कि उसे प्रियपिज्म है। इस मेडिकल स्टेट में मर्दों के प्राइवेट पार्ट में लंबे समय तक खिंचाव रहता है।

एडमिट हुए शख्स में खिंचाव 12 घंटे से ज्यादा रहा, जिसके कारण वो दर्द से छटपटाता रहा। तब जाकर उसने डॉक्टर्स के पास जाने का फैसला किया।

एडमिट हुए शख्स में खिंचाव 12 घंटे से ज्यादा रहा, जिसके कारण वो दर्द से छटपटाता रहा। तब जाकर उसने डॉक्टर्स के पास जाने का फैसला किया।

शख्स ने डॉक्टर्स को बताया कि वो 16 साल की उम्र से ही गांजा पी रहा है। हर बार गांजा पीने के बाद उसके प्राइवेट पार्ट में खिंचाव होता था। लेकिन ये चार घंटे बाद ठीक हो जाता था। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ।

शख्स ने डॉक्टर्स को बताया कि वो 16 साल की उम्र से ही गांजा पी रहा है। हर बार गांजा पीने के बाद उसके प्राइवेट पार्ट में खिंचाव होता था। लेकिन ये चार घंटे बाद ठीक हो जाता था। लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ।

अस्पताल से छुट्टी मिलने के कुछ ही देर बाद युवक को फिर से ये समस्या हो गई। जिस कारण उसे दुबारा एडमिट करना पड़ा।

अस्पताल से छुट्टी मिलने के कुछ ही देर बाद युवक को फिर से ये समस्या हो गई। जिस कारण उसे दुबारा एडमिट करना पड़ा।

जॉर्जिया के कोलिसियम मेडिकल सेंटर्स की टीम के मुताबिक, गांजा के कारण प्रियपिज्म का ये पहला मामला है। अभी तक जितने भी मामले सामने आए, उससे ये बिल्कुल अलग है।

जॉर्जिया के कोलिसियम मेडिकल सेंटर्स की टीम के मुताबिक, गांजा के कारण प्रियपिज्म का ये पहला मामला है। अभी तक जितने भी मामले सामने आए, उससे ये बिल्कुल अलग है।

दरअसल, गांजा पीने के बाद इंसान के शरीर में कई बदलाव आते हैं। नसों में खिंचाव आता है और इंसान ओवर एक्साइटेड हो जाता है।

दरअसल, गांजा पीने के बाद इंसान के शरीर में कई बदलाव आते हैं। नसों में खिंचाव आता है और इंसान ओवर एक्साइटेड हो जाता है।

डॉक्टर्स के मुताबिक, प्रियपिज्म काफी खतरनाक है। लंबे समय तक प्राइवेट पार्ट की नसों में खिंचाव के कारण इंसान को काफी नुकसान उठाना पड़ता है।

डॉक्टर्स के मुताबिक, प्रियपिज्म काफी खतरनाक है। लंबे समय तक प्राइवेट पार्ट की नसों में खिंचाव के कारण इंसान को काफी नुकसान उठाना पड़ता है।

हालांकि, इस शख्स को इलाज के बाद छुट्टी मिल गई है। डॉक्टर्स ने उसे गांजा ना पीने की हिदायत देते हुए डिस्चार्ज कर दिया है।

हालांकि, इस शख्स को इलाज के बाद छुट्टी मिल गई है। डॉक्टर्स ने उसे गांजा ना पीने की हिदायत देते हुए डिस्चार्ज कर दिया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios