Asianet News Hindi

खुलासा: मर्दों को नपुंसक बना रहा कोरोना, एक बार हुए संक्रमित तो नहीं पैदा कर पाएंगे बच्चे

First Published Jun 7, 2020, 2:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हटके डेस्क: कोरोना वायरस ने देखते ही देखते दुनिया को सौ साल पीछे ही ढकेल दिया। कहां साल 2020 तरक्की के नए आयाम लिखने वाला था। आज ऐसी हालत हो गई है कि लोग घरों से बाहर निकलने से डरने लगे हैं। चीन के वुहान से निकले इस वायरस ने तबाही मचा दी है। इस वायरस को लेकर चीन ने कई तरह की बातें छिपाई। पहले तो यही छिपाया गया कि ये वायरस इंसानों में फैलता है। अब इस वायरस पर दुनियाभर में हो रहे रिसर्च से कई नए खुलासे हो रहे हैं। हाल ही में एक नए शोध में सामने आया कि कोरोना मर्दों को नपुंसक बना रहा है। कुछ इस तरह ये बात सामने आई... 

चीन के टफ्ट्स यूनिवर्सिटी और गांगी मेडिकल कॉलेज ने 12 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मर्दानगी पर रिसर्च किया। इसमें उन्होंने पाया कि ये वायरस मर्दों के टेस्टिकल्स पर अटैक करता है। 

चीन के टफ्ट्स यूनिवर्सिटी और गांगी मेडिकल कॉलेज ने 12 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मर्दानगी पर रिसर्च किया। इसमें उन्होंने पाया कि ये वायरस मर्दों के टेस्टिकल्स पर अटैक करता है। 

रिसर्च में उन्होंने पाया कि कोरोना वायरस मर्दों की बॉडी में बनने वाले  स्पर्म्स को प्रभावित करते हैं। साथ ही उनके बच्चे पैदा करने की क्षमता पर भी प्रभाव डालते हैं। 
 

रिसर्च में उन्होंने पाया कि कोरोना वायरस मर्दों की बॉडी में बनने वाले  स्पर्म्स को प्रभावित करते हैं। साथ ही उनके बच्चे पैदा करने की क्षमता पर भी प्रभाव डालते हैं। 
 

इस रिसर्च में सबसे शॉकिंग चीज जो सामने आई वो थी उनकी बॉडी में स्पर्म्स के डिफ़ॉर्म होने की रिपोर्ट। कोरोना पॉजिटिव मर्दों के प्राइवेट पार्ट भी वायरस की चपेट में आकर सिकुड़ जाते हैं। 

इस रिसर्च में सबसे शॉकिंग चीज जो सामने आई वो थी उनकी बॉडी में स्पर्म्स के डिफ़ॉर्म होने की रिपोर्ट। कोरोना पॉजिटिव मर्दों के प्राइवेट पार्ट भी वायरस की चपेट में आकर सिकुड़ जाते हैं। 

एक और दावा जो इस रिसर्च में किया गया, वो था उनके ठीक हो जाने के बाद भी नपुंसक बने रहने की घटना। यूरोपियन यूरोलॉजी में छपे एक आर्टिकल के मुताबिक, वायरस से ठीक होने के बाद भी मर्दों की बॉडी में स्पर्म बनाने की क्षमता नहीं बढ़ती। 

एक और दावा जो इस रिसर्च में किया गया, वो था उनके ठीक हो जाने के बाद भी नपुंसक बने रहने की घटना। यूरोपियन यूरोलॉजी में छपे एक आर्टिकल के मुताबिक, वायरस से ठीक होने के बाद भी मर्दों की बॉडी में स्पर्म बनाने की क्षमता नहीं बढ़ती। 

वैसे तो ये कंफर्म हो गया है कि वायरस छींकने और खांसने से एक से दूसरे में फैलता है। लेकिन ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जिसमें  सेक्स के दौरान वायरस फैलने की बात सामने आई। लेकिन अभी तक ये कंफर्म नंहीं हुआ है। 
 

वैसे तो ये कंफर्म हो गया है कि वायरस छींकने और खांसने से एक से दूसरे में फैलता है। लेकिन ऐसे भी कुछ मामले सामने आए हैं, जिसमें  सेक्स के दौरान वायरस फैलने की बात सामने आई। लेकिन अभी तक ये कंफर्म नंहीं हुआ है। 
 

कुछ टेस्ट्स में जहां स्पर्म में भी कोरोना मिला है तो कई रिसर्चर्स ने इसे खारिज कर दिया है। अभी भी इसे लेकर स्टडी की जा रही है। 
 

कुछ टेस्ट्स में जहां स्पर्म में भी कोरोना मिला है तो कई रिसर्चर्स ने इसे खारिज कर दिया है। अभी भी इसे लेकर स्टडी की जा रही है। 
 

हालांकि, डॉक्टर्स ने तब तक मर्दों से स्पर्म डोनेट ना करने की अपील की है। कुछ रिसर्चर्स का कहना है कि टेस्टिकल्स कोरोना स्टोर करने का बेस्ट प्लेस है। 
 

हालांकि, डॉक्टर्स ने तब तक मर्दों से स्पर्म डोनेट ना करने की अपील की है। कुछ रिसर्चर्स का कहना है कि टेस्टिकल्स कोरोना स्टोर करने का बेस्ट प्लेस है। 
 

चीन के रिसर्चर्स ने अपने इस शोध में 12 कोरोना पॉजिटिव मर्दों पर टेस्ट किया था। उन्होंने पाया कि इनमें से  दो, जिनकी मौत हो गई, उनके टेस्ट्स ने कोरोना था। रिसर्चर्स ने कहा कि ये कोरोना मर्दों के स्पर्म को कमजोर कर देता है। जिससे इनके बच्चे पैदा करने की क्षमता प्रभावित होती है। 

चीन के रिसर्चर्स ने अपने इस शोध में 12 कोरोना पॉजिटिव मर्दों पर टेस्ट किया था। उन्होंने पाया कि इनमें से  दो, जिनकी मौत हो गई, उनके टेस्ट्स ने कोरोना था। रिसर्चर्स ने कहा कि ये कोरोना मर्दों के स्पर्म को कमजोर कर देता है। जिससे इनके बच्चे पैदा करने की क्षमता प्रभावित होती है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios