Asianet News Hindi

कोरोना के कहर से 1800 लोग हार गए जिंदगी की जंग, चीन ने लैब में 605 चमगादड़ रख पैदा किया वायरस

First Published Feb 18, 2020, 12:53 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बीजिंग. चीन में कोरोना वायरस का कहर जारी है। जिससे मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। चीन सरकार की ओर से जारी ताजा जानकारी के मुताबिक अब यह आंकड़ा 1800 के पार हो गया है। चीन में जानलेवा हुए कोरोना वायरस से 98 और लोगों की मौत हो जाने से मरने वालों की संख्या मंगलवार को 1,868 पहुंच गई है। वहीं, अभी तक इससे कुल 72,436 लोग संक्रमण के शिकार हो गए हैं। 
 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने जानकारी देते हुए बताया कि जिन 98 लोगों की जान गई उनमें से 93 हुबेई में जबकि तीन हेनान और एक-एक हेबेई और हुनान में मारे गए। हुबेई में इसके 1,807 नए मामले सामने आए हैं, जिसके साथ ही प्रांत में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 59,989 इतनी हो गई। बाकी चीन में इसके कुल 1,432 नए मामले सामने आए हैं। आयोग ने बताया कि 1,097 मरीज काफी गंभीर है और 11,741 मरीजों की हालत नाजुक बनी है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने जानकारी देते हुए बताया कि जिन 98 लोगों की जान गई उनमें से 93 हुबेई में जबकि तीन हेनान और एक-एक हेबेई और हुनान में मारे गए। हुबेई में इसके 1,807 नए मामले सामने आए हैं, जिसके साथ ही प्रांत में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 59,989 इतनी हो गई। बाकी चीन में इसके कुल 1,432 नए मामले सामने आए हैं। आयोग ने बताया कि 1,097 मरीज काफी गंभीर है और 11,741 मरीजों की हालत नाजुक बनी है।

हांगकांग में 60 मामलों की पुष्टिः हांगकांग में सोमवार तक इसके 60 मामलों की पुष्टि हो गई थी, जहां इससे एक व्यक्ति की जान जा चुकी है। वहीं मकाउ में 10 और ताइवान में इससे एक व्यक्ति की जान जाने सहित 22 मामले अभी तक सामने आए हैं। कोरोनावायरस से मुकाबले के प्रयासों में वैश्विक विशेषज्ञ भी शामिल हो गए हैं। चीन ने 12 सदस्यों वाली डब्ल्यूएचओ की टीम के आने की पुष्टि की है, जिसमें अमेरिका के विशेषज्ञ भी शामिल हैं।

हांगकांग में 60 मामलों की पुष्टिः हांगकांग में सोमवार तक इसके 60 मामलों की पुष्टि हो गई थी, जहां इससे एक व्यक्ति की जान जा चुकी है। वहीं मकाउ में 10 और ताइवान में इससे एक व्यक्ति की जान जाने सहित 22 मामले अभी तक सामने आए हैं। कोरोनावायरस से मुकाबले के प्रयासों में वैश्विक विशेषज्ञ भी शामिल हो गए हैं। चीन ने 12 सदस्यों वाली डब्ल्यूएचओ की टीम के आने की पुष्टि की है, जिसमें अमेरिका के विशेषज्ञ भी शामिल हैं।

कोरोना वायरस के कहर से अधिकांश लोग प्रभावित है। लोग खुद को सुरक्षित बचाने के लिए लगातार डॉक्टरों की मदद ले रहे हैं। इसके साथ ही लोगों को कोरोना के वार से बचाने के लिए डॉक्टरों की टीम दिन रात जुटी हुई है।

कोरोना वायरस के कहर से अधिकांश लोग प्रभावित है। लोग खुद को सुरक्षित बचाने के लिए लगातार डॉक्टरों की मदद ले रहे हैं। इसके साथ ही लोगों को कोरोना के वार से बचाने के लिए डॉक्टरों की टीम दिन रात जुटी हुई है।

कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहे 10 हजार लोगों को राहत मिली है। चीन के स्वास्थ विभाग के मुताबिक 1425 मरीजों के स्वस्थ होने पर हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई है। जबकि 10 हजार 844 लोगों की रिकवरी हुई है।

कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहे 10 हजार लोगों को राहत मिली है। चीन के स्वास्थ विभाग के मुताबिक 1425 मरीजों के स्वस्थ होने पर हॉस्पिटल से छुट्टी दे दी गई है। जबकि 10 हजार 844 लोगों की रिकवरी हुई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस जानलेवा वायरस की शुरुआत चीन के हुबेई प्रांत से हुई है। इस वायरस का सबसे खतरनाक प्रभाव हुबई की राजधानी वुहान में ही देखा गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अब चीन के कुछ वैज्ञानिक मान रहे हैं कि इस वायरस का जन्म वुहान के फिश मार्केट से कुछ ही दूरी पर स्थित एक सरकारी रिसर्च लैब में हुआ है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इस जानलेवा वायरस की शुरुआत चीन के हुबेई प्रांत से हुई है। इस वायरस का सबसे खतरनाक प्रभाव हुबई की राजधानी वुहान में ही देखा गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक अब चीन के कुछ वैज्ञानिक मान रहे हैं कि इस वायरस का जन्म वुहान के फिश मार्केट से कुछ ही दूरी पर स्थित एक सरकारी रिसर्च लैब में हुआ है।

चीन की सरकारी साउथ चाइना यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के अनुसार वुहान सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (WHDC) में ऐसे वायरस का जन्म हो सकता है। इसके पीछे कारण बताया गया है कि लैब में ऐसे जानवरों को रखा जाता है जिनसे ऐसी बीमारियां फैल सकती हैं। इस लैब में 605 चमगादड़ रखे गए थे, जिसके जरिए कोरोना वायरस के फैलने की आशंका जताई जा रही है।

चीन की सरकारी साउथ चाइना यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के अनुसार वुहान सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (WHDC) में ऐसे वायरस का जन्म हो सकता है। इसके पीछे कारण बताया गया है कि लैब में ऐसे जानवरों को रखा जाता है जिनसे ऐसी बीमारियां फैल सकती हैं। इस लैब में 605 चमगादड़ रखे गए थे, जिसके जरिए कोरोना वायरस के फैलने की आशंका जताई जा रही है।

इन देशों में लोग प्रभावितः हुबेई में 44,653 लोग संक्रमित है जिसमें 1,113 लोगों की मौत हो गई है। हांगकांग में 509 लोग संक्रमित 1 की मौत, मास्को में 10 लोग संक्रमित, जापान- 203, सिंगापुर- 47, थाईलैंड-33, साउथ कोरिया-28, मलेशिया-18, ताइवान-18, वियतनाम 15, ऑस्ट्रेलिया-14, जर्मनी-14, यूनाइटेड स्टेट-13, फ्रांस-11, यूनाइटेड किंगडम-8, कनाडा-7, फिलिपिंस, इंडिया, इटली में 3, रूस और स्पेन में 2, बेलजियम,नेपाल श्रीलंका, कंबोडिया, स्वीडन, फीनलैंड में 1 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित है।

इन देशों में लोग प्रभावितः हुबेई में 44,653 लोग संक्रमित है जिसमें 1,113 लोगों की मौत हो गई है। हांगकांग में 509 लोग संक्रमित 1 की मौत, मास्को में 10 लोग संक्रमित, जापान- 203, सिंगापुर- 47, थाईलैंड-33, साउथ कोरिया-28, मलेशिया-18, ताइवान-18, वियतनाम 15, ऑस्ट्रेलिया-14, जर्मनी-14, यूनाइटेड स्टेट-13, फ्रांस-11, यूनाइटेड किंगडम-8, कनाडा-7, फिलिपिंस, इंडिया, इटली में 3, रूस और स्पेन में 2, बेलजियम,नेपाल श्रीलंका, कंबोडिया, स्वीडन, फीनलैंड में 1 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित है।

क्या है कोरोना वायरसः एक वायरस का ऐसा समूह है जो पक्षियों, स्तनधारी पशुओं और इंसानों में कई तरह की बीमारियां पैदा कर सकता है। इसका नाम कोरोना वायरस इसलिए रखा गया, क्योंकि इसको इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप से देखने पर इसकी सतह कुछ ऐसी दिखाई देती है जैसा कि हमारे सूर्य के चारों तरफ का चमकदार कोरोना हो।

क्या है कोरोना वायरसः एक वायरस का ऐसा समूह है जो पक्षियों, स्तनधारी पशुओं और इंसानों में कई तरह की बीमारियां पैदा कर सकता है। इसका नाम कोरोना वायरस इसलिए रखा गया, क्योंकि इसको इलेक्ट्रॉन माइक्रोस्कोप से देखने पर इसकी सतह कुछ ऐसी दिखाई देती है जैसा कि हमारे सूर्य के चारों तरफ का चमकदार कोरोना हो।

कोरोना के जंग से पार पाने के लिए चीन ने सेना को भी मैदान में उतारा है। चीन ने वुहान में 2600 मिलिट्री के जवानों को भेजा है। इससे पहले सोमवार को 1200 जवानों को मैदान में उतारा गया था। जो लोगों तक राहत पहुंचाने के लिए काम करेंगे।

कोरोना के जंग से पार पाने के लिए चीन ने सेना को भी मैदान में उतारा है। चीन ने वुहान में 2600 मिलिट्री के जवानों को भेजा है। इससे पहले सोमवार को 1200 जवानों को मैदान में उतारा गया था। जो लोगों तक राहत पहुंचाने के लिए काम करेंगे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios