कब और कहां आया सबसे पहला कोरोना...वायरस फैलाने के आरोपों पर चीन ने विस्तार से दी पूरी जानकारी

First Published 7, Jun 2020, 8:23 PM

नई दिल्ली. कोरोना को लेकर चीन पर लगातार आरोप लगते रहे हैं कि उसने वायरस से जुड़ी जानकारी छिपाई है। चीन पर जानबूझकर पूरी दुनिया में कोरोना फैलाने का आरोप लगा है। इस बीच चीन ने एक श्वेतपत्र जारी किया है। चीन ने कहा कि वह इस मामले में पूरी तरह  से निर्दोष है। श्वेतपत्र में बताया गया कि कोरोना का पहला केस वुहान में 27 दिसंबर को आया था। जबकि निमोनिया और मानव से मानव में संक्रमण फैलने के बारे में 19 जनवरी को पता चला। चीन ने यह भी बताया कि इसे रोकने के लिए तुरन्त कार्रवाई शुरू कर दी गई। 
 

<p>चीन की मीडिया के हवाले एक रिपोर्ट में बताया गया कि चीन सरकार द्वारा जारी श्वेतपत्र में वुहान में पिछले साल कोरोना वायरस के मामले आने पर जानकारी छिपाने तथा इस बारे में देर से खबर देने के आरोपों को खारिज किया है।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

चीन की मीडिया के हवाले एक रिपोर्ट में बताया गया कि चीन सरकार द्वारा जारी श्वेतपत्र में वुहान में पिछले साल कोरोना वायरस के मामले आने पर जानकारी छिपाने तथा इस बारे में देर से खबर देने के आरोपों को खारिज किया है। 
 

<p>अमेरिका में सीनेट के एक वरिष्ठ सदस्य ने कोरोना वायरस से नुकसान के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराने के लिए एक बड़ा प्लान पेश किया था। इस प्लान में 18 उपाय शामिल किए गए थे।<br />
&nbsp;</p>

अमेरिका में सीनेट के एक वरिष्ठ सदस्य ने कोरोना वायरस से नुकसान के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराने के लिए एक बड़ा प्लान पेश किया था। इस प्लान में 18 उपाय शामिल किए गए थे।
 

<p><strong>प्लान में भारत से सामरिक सहयोग बढ़ाने का प्रस्ताव भी था</strong><br />
प्लान में भारत से सामरिक सहयोग बढ़ाने का प्रस्ताव भी शामिल था। अमेरिका का मानना है कि चीन ने कोराना वायरस के बारे में अमेरिका को सही जानकारी नहीं दी, जिसके चलते यह वायरस पूरी दुनिया में फैल गया।<br />
&nbsp;</p>

प्लान में भारत से सामरिक सहयोग बढ़ाने का प्रस्ताव भी था
प्लान में भारत से सामरिक सहयोग बढ़ाने का प्रस्ताव भी शामिल था। अमेरिका का मानना है कि चीन ने कोराना वायरस के बारे में अमेरिका को सही जानकारी नहीं दी, जिसके चलते यह वायरस पूरी दुनिया में फैल गया।
 

<p><strong>अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को चीन छोड़ने की सलाह</strong><br />
प्लान में अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को चीन छोड़ने और दूसरे देशों में अपना कामकाज शिफ्ट करने के लिए मनाने का प्रस्ताव भी शामिल है।</p>

अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को चीन छोड़ने की सलाह
प्लान में अमेरिकी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को चीन छोड़ने और दूसरे देशों में अपना कामकाज शिफ्ट करने के लिए मनाने का प्रस्ताव भी शामिल है।

<p><strong>"चीन ने अपने नागरिकों को लेबर कैंप में कैद किया"</strong><br />
सीनेट टिलिस ने कहा, चीन की सरकार ने कोराना वायरस के बारे में जानकारी छुपाई। इस महामारी ने बड़ी संख्या में अमेरिकी लोगों की जान ली है। चीन की सरकार है, जिसने अपने नागरिकों को लेबर कैंप में कैद किया।<br />
&nbsp;</p>

"चीन ने अपने नागरिकों को लेबर कैंप में कैद किया"
सीनेट टिलिस ने कहा, चीन की सरकार ने कोराना वायरस के बारे में जानकारी छुपाई। इस महामारी ने बड़ी संख्या में अमेरिकी लोगों की जान ली है। चीन की सरकार है, जिसने अपने नागरिकों को लेबर कैंप में कैद किया।
 

<p><strong>अमेरिकी टेक्नोलॉजी और नौकरियों पर डाका डालने का आरोप</strong><br />
प्रस्ताव में कहा गया, अमेरिकी टेक्नोलॉजी और नौकरियों पर डाका डाला और हमारे सहयोगी देशों की संप्रभुता के लिए खतरा पैदा किया। उन्होंने कहा कि यह अमेरिका और दुनिया के दूसरे देशों के लिए सतर्क हो जाने का वक्त है।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

अमेरिकी टेक्नोलॉजी और नौकरियों पर डाका डालने का आरोप
प्रस्ताव में कहा गया, अमेरिकी टेक्नोलॉजी और नौकरियों पर डाका डाला और हमारे सहयोगी देशों की संप्रभुता के लिए खतरा पैदा किया। उन्होंने कहा कि यह अमेरिका और दुनिया के दूसरे देशों के लिए सतर्क हो जाने का वक्त है। 
 

<p><strong>चीन में कोरोना के 11 नए मामले</strong><br />
चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 11 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से पांच मामले बिना लक्षण वाले संक्रमण के हैं। इसी के साथ देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 83,036 पर पहुंच गए हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने कहा कि संक्रमण से किसी की मौत की फिलहाल कोई जानकारी नहीं है। &nbsp;<br />
&nbsp;</p>

चीन में कोरोना के 11 नए मामले
चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 11 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें से पांच मामले बिना लक्षण वाले संक्रमण के हैं। इसी के साथ देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 83,036 पर पहुंच गए हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने कहा कि संक्रमण से किसी की मौत की फिलहाल कोई जानकारी नहीं है।  
 

loader