Asianet News Hindi

मुस्लिम देशों से ट्रेवल बैन हटा, अब मास्क पहनना जरूरी...राष्ट्रपति बनते ही बाइडेन ने लिए ये 5 बड़े फैसले

First Published Jan 21, 2021, 2:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वॉशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन पद संभालते ही एक्शन में आ गए। उन्होंने शपथ के बाद 17 एग्जीक्यूटिव आदेशों पर हस्ताक्षर किए। कोरोना महामारी को देखते हुए सबसे पहले उन्होंने मास्क पहनने को जरूरी बनाने के नियम पर दस्तखत किए। पहले दिन बाइडेन ने जो फैसले लिए उनमें पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की नीतियां निशाने पर रहीं। 

वहीं, बाइडेन ने अपने दफ्तर पहुंचकर मीडिया से कहा, उन्हें काम करना है, इसलिए वे यहां हैं। उन्होंने कहा, मेरे पास बिल्कुल समय नहीं है। इसलिए वक्त बर्बाद नहीं किया जा सकता। मैं तुरंत काम शुरू करने जा रहा हूं। 

वहीं, बाइडेन ने अपने दफ्तर पहुंचकर मीडिया से कहा, उन्हें काम करना है, इसलिए वे यहां हैं। उन्होंने कहा, मेरे पास बिल्कुल समय नहीं है। इसलिए वक्त बर्बाद नहीं किया जा सकता। मैं तुरंत काम शुरू करने जा रहा हूं। 

राष्ट्रपति बनते ही बाइडेन ने लिए 5 बड़े फैसले

पहला- बाइडेन ने सबसे पहले कोरोना महामारी को देखते हुए ऑर्डर साइन किए। अब अमेरिका में मास्क लगाना जरूरी है। इसके अलावा सरकारी कार्यालयों में हैं या हेल्थवर्कर्स हैं तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है। 

राष्ट्रपति बनते ही बाइडेन ने लिए 5 बड़े फैसले

पहला- बाइडेन ने सबसे पहले कोरोना महामारी को देखते हुए ऑर्डर साइन किए। अब अमेरिका में मास्क लगाना जरूरी है। इसके अलावा सरकारी कार्यालयों में हैं या हेल्थवर्कर्स हैं तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जरूरी है। 

दूसरा-  ट्रम्प ने अपने कार्यकाल के पहले हफ्ते में इराक, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन पर ट्रैवल बैन लगाया था। अब बाइडेन ने यह बैन हटा दिया है।

दूसरा-  ट्रम्प ने अपने कार्यकाल के पहले हफ्ते में इराक, ईरान, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन पर ट्रैवल बैन लगाया था। अब बाइडेन ने यह बैन हटा दिया है।

तीसरा- अमेरिका फिर से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का सदस्य होगा। कोरोना महामारी के दौरान पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने WHO पर गंभीर आरोप लगाए थे। इसके साथ ही उन्होंने WHO को दी जाने वाली आर्थिक मदद भी रोक दी थी। उन्होंने अमेरिका को WHO से बाहर कर दिया था। वहीं, बाइडेन ने कहा था कि वे अमेरिका की WHO  में वापसी कराएंगे। 

तीसरा- अमेरिका फिर से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) का सदस्य होगा। कोरोना महामारी के दौरान पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने WHO पर गंभीर आरोप लगाए थे। इसके साथ ही उन्होंने WHO को दी जाने वाली आर्थिक मदद भी रोक दी थी। उन्होंने अमेरिका को WHO से बाहर कर दिया था। वहीं, बाइडेन ने कहा था कि वे अमेरिका की WHO  में वापसी कराएंगे। 

चौथा- अमेरिका अब फिर से पेरिस समझौते में शामिल होगा। ट्रम्प ने 2019 में पेरिस समझौते से बाहर आने का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि  भारत, चीन और रूस धड़ल्ले से प्रदूषण को बढ़ा रहे हैं। वहीं, अमेरिका इस मामले में बेहतर काम कर रहा है।

चौथा- अमेरिका अब फिर से पेरिस समझौते में शामिल होगा। ट्रम्प ने 2019 में पेरिस समझौते से बाहर आने का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि  भारत, चीन और रूस धड़ल्ले से प्रदूषण को बढ़ा रहे हैं। वहीं, अमेरिका इस मामले में बेहतर काम कर रहा है।

पांचवां- बाइडेन ने मैक्सिको बॉर्डर की फंडिंग पर भी रोक लगा दी है। ट्रम्प ने मैक्सिको से आने वाले प्रवासियों को देखते हुए दीवार बनाए जाने को नेशनल इमरजेंसी बताया था। हालांकि, इसे लेकर उन्हें काफी विरोध भी झेलना पड़ा था। 

पांचवां- बाइडेन ने मैक्सिको बॉर्डर की फंडिंग पर भी रोक लगा दी है। ट्रम्प ने मैक्सिको से आने वाले प्रवासियों को देखते हुए दीवार बनाए जाने को नेशनल इमरजेंसी बताया था। हालांकि, इसे लेकर उन्हें काफी विरोध भी झेलना पड़ा था। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios