लैंडिंग गियर में दिक्कत आ रही है...पायलट ने कंट्रोल रूम को दिया आखिरी मैसेज, फिर धड़ाम से गिरा विमान

First Published 22, May 2020, 4:54 PM

कराची. ईद से पहले पाकिस्तान से बुरी खबर आई है। पाकिस्तान के कराची में यात्री विमान लैंडिग के वक्त आवासीय इलाके में क्रैश हो गया। विमान में 91 यात्री और 7 क्रू मेंबर सवार थे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, लैंडिंग के वक्त गियर में कोई खराबी आई थी, जिसकी वजह से हादसा हुआ। प्लेन में 91 यात्री और 7 क्रू मेंबर में सवार थे। इनमें 51 पुरुष, 31 महिलाएं और 9 बच्चे शामिल थे। अब तक 5 साल के एक बच्चे और एक सीनियर जर्नलिस्ट अंसारी नकवी का शव मौके से मिला है।
 

<p style="text-align: center;"><strong><u>क्रैश होने से पहले आखिरी बातचीत</u></strong><br />
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्रैश होने से पहले आखिरी बात हुई, उसमें फ्लाइट के पायलट और अटेंडर के बीच लैंडिंग गियर की खराबी को लेकर बातचीत हुई। पायलट ने यही कहा कि कंट्रोलिंग गियर में दिक्कत आ रही है।&nbsp;<br />
&nbsp;</p>

क्रैश होने से पहले आखिरी बातचीत
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्रैश होने से पहले आखिरी बात हुई, उसमें फ्लाइट के पायलट और अटेंडर के बीच लैंडिंग गियर की खराबी को लेकर बातचीत हुई। पायलट ने यही कहा कि कंट्रोलिंग गियर में दिक्कत आ रही है। 
 

<p style="text-align: center;">विमान ने दोपहर डेढ़ बजे लाहौर से कराची के लिए उड़ान भड़ी थी और कराची एयरपोर्ट के पास रिहायशी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। रिहायशी इलाका होने की वजह से अफरातफरी का माहौल है।<br />
&nbsp;</p>

विमान ने दोपहर डेढ़ बजे लाहौर से कराची के लिए उड़ान भड़ी थी और कराची एयरपोर्ट के पास रिहायशी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। रिहायशी इलाका होने की वजह से अफरातफरी का माहौल है।
 

<p style="text-align: center;">पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने ट्वीट कर बताया कि पाकिस्तान सेना के हेलीकॉप्टर राहत-बचाव के लिए पहुंच रहे हैं। सेना की क्विट एक्शन टीम और पाकिस्तानी सैनिक नागरिक के साथ राहत और बचाव के प्रयासों के लिए घटना स्थल पर पहुंचे हैं।</p>

पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) ने ट्वीट कर बताया कि पाकिस्तान सेना के हेलीकॉप्टर राहत-बचाव के लिए पहुंच रहे हैं। सेना की क्विट एक्शन टीम और पाकिस्तानी सैनिक नागरिक के साथ राहत और बचाव के प्रयासों के लिए घटना स्थल पर पहुंचे हैं।

<p style="text-align: center;">पीआईए का यह प्लेन 10 साल पुराना था, पायलट ने प्लेन को रिहाइशी इलाके से दूर ले जाने की कोशिश की थी।<br />
&nbsp;</p>

पीआईए का यह प्लेन 10 साल पुराना था, पायलट ने प्लेन को रिहाइशी इलाके से दूर ले जाने की कोशिश की थी।
 

<p style="text-align: center;">पायलट का नाम सज्जाद गुल है। चश्मदीदों का कहना है कि पायलट ने प्लेन को रिहाइशी इलाके से दूर ले जाने की कोशिश की। इसी वजह से कम घरों को नुकसान पहुंचा। प्लेन में एक को-पायलट और तीन एयर होस्टेस भी थीं। पीआईए के प्रवक्ता ने जियो न्यूज से कहा- यह प्लेन ए-320 था और 10 साल पुराना था।</p>

पायलट का नाम सज्जाद गुल है। चश्मदीदों का कहना है कि पायलट ने प्लेन को रिहाइशी इलाके से दूर ले जाने की कोशिश की। इसी वजह से कम घरों को नुकसान पहुंचा। प्लेन में एक को-पायलट और तीन एयर होस्टेस भी थीं। पीआईए के प्रवक्ता ने जियो न्यूज से कहा- यह प्लेन ए-320 था और 10 साल पुराना था।

loader