Asianet News HindiAsianet News Hindi

रात में नहीं आ रही नींद तो इस गंभीर बीमारी के हो सकते हैं लक्षण, जेनिफर एनिस्टन भी हैं इसकी शिकार

एक्ट्रेस जेनिफर एनिस्टन को रातों में नींद नहीं आती थी। उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया था कि वो दीवार की दरारें गिनते हुए रात बिताती हूं। दरअसल, वो इन्सोम्निया  बीमारी से पीड़ित हैं। उन्हें कभी ना सो पाने का डर हमेशा सताता रहता है। इन्सोम्निया बीमारी क्या है और इसके क्या लक्षण हैं।आइए जानते हैं।

insomnia sleep disorder know symptoms and treatment NTP
Author
First Published Aug 29, 2022, 1:33 PM IST

हेल्थ डेस्क. 53 साल की हॉलीवुड एक्ट्रेस   जेनिफर एनिस्टन (Jennifer Aniston) 30 साल से एक गंभीर बीमारी की शिकार हैं। उन्हें रात में नींद नहीं आती है। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि वो इन्सोम्निया बीमारी से पीड़ित हैं। उन्होंने बताया कि मुझे लगता है कि 30 साल के आसपास या उससे पहले से मैं इस बीमारी से ग्रस‍ित होने लगी थी। लेकिन जब आप यंग होते हैं तब आप नींद की कमी के कारण होने वाले इफेक्ट को पहचान नहीं पाते हैं। क्योंकि उस वक्त हमें लगता है कि हम किसी चीज से हार नहीं सकते हैं। वे इन्सोमिया से निजात पाने के लिए मेडिकल हेल्प ले रही हैं।

क्या है इन्सोम्निया

इन्सोम्निया एक स्लीप डिसऑर्डर है। इसमें व्यक्ति को सोते समय या सोते रहने में कठिनाई होती है। यानी उसे रातों में अच्छी नहीं नहीं आती है। जिसकी वजह से व्यक्ति दिन में थका हुआ और तनावग्रस्त महसूस करता है। आपको इन्सोम्निया है इसे जानने के लिए आपको रात का रूटीन और नींद को ध्यान से नोटिस करने की जरूरत होती है। अगर आपको हफ्ते में कम से कम 3 बार ...3 महीने तक सोने में परेशानी होती है तो समझ लीजिए कि आप इस बीमारी से पीड़ित हैं।

इसे भी पढ़ें:स्टडी में खुलासा:समय से पहले नहीं आएगी मौत! 3 एक्टिविटी को करें जीवन में शामिल

इस बीमारी के कारण

इन्सोम्निया होने के कई कारण हो सकते हैं। जैसे हेल्थ इश्यू-गठिया, रीढ़ की समस्या, स्ट्रेस, एंग्जायटी, डिप्रेशन, ऑस्टियोपोरोसिस, खराब लाइफस्टाइल, दवाएं या खाने की ऐसी चीजें जो नींद में बाधा बनती हैं। 

कैसे रोक सकते हैं इस बीमारी को

इन्सोम्निया  को रोकने के लिए लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने पड़ते हैं।
हर दिन 30 मिनट एक्सरसाइज पर दें।
मेडिटेशन को जीवन में करें शामिल
रात का भोजन 7-8 बजे के बीच में कर लें।
रात के खाने के बाद कैमोमाइल, लेमन बाम या पैशन फ्रूट को लें।
बिस्तर पर जाते ही तमाम गैजेट को खुद से दूर रख दें।
कमरे में अंधेरा और अच्छा एम्बियंस रखें।
अच्छी किताब कुछ देर के लिए पढ़ें।
अपने सोने और उठने की रुटीन को बना कर रखें, इसके साथ मेडिकल हेल्प ले सकते हैं।

और पढ़ें:

कैंसर लेने वाली थी जान, लेकिन कोरोना वायरस ने बचा ली युवक की जान

10 में से 7 हार्ट अटैक को रोका जा सकता है, अगर लेते हैं अच्छी नींद, स्टडी में खुलासा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios