Asianet News HindiAsianet News Hindi

World AIDS Day: एड्स नहीं है छूआछूत की बीमारी, जानें कैसे होता है संक्रमण और क्या हैं लक्षण

जितने भी लोग इस बात को मानते हैं कि, एड्स छूआछूत की बीमारी है तो आपको बता दें कि, ये सोच बिल्कुल गलत हैं। जिसके बारे में आपको जागरूक होना पड़ेगा। इसलिए आज हम आपको इससे जुड़ी कुछ जरूरी बातों को बताएंगे।

World Aids Day diesase symptoms and infection MBT
Author
Delhi, First Published Dec 1, 2021, 10:50 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। 1 दिसंबर को दुनियाभर में वर्ल्ड एड्स डे (World Aids Day) मनाया जाता है। ऐसा इसलिए ताकि जितना हो सके लोगों को इसके बारे में जागरूक कराया जा सके। जिसके लिए इस दिन अलग-अलग अभियान भी चलाए जाते हैं। जिसमें ये बताया जाता है कि, ये कोई छूआछूत की बीमारी नहीं है। क्योंकि कई लोगों को ऐसा मानना है उन्हीं के विचारों में बदलाव लाने के लिए इसको शुरू किया गया। आइए आज हम जानते हैं क्या है एड्स और इसके लक्षण।

एचआईवी/एड्स क्या है?

एड्स-एचआईवी नामक वायरस से होता है। इंफेक्शन के लगभग 12 हफ्ते के बाद ही ब्लड टेस्ट के बाद पता चलता है कि यह वायरस शरीर में प्रवेश कर चुका है। ऐसे व्यक्ति को एचआईवी पॉजिटिव कहते हैं। एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति कई सालों (6 से 10 वर्ष) तक सामान्य प्रतीत होता है और सामान्य जीवन व्यतीत कर सकता है, लेकिन दूसरों को बीमारी फैलाने में सक्षम होता है।

एड्स रोग कैसे फैलता है?

  • संक्रमित व्यक्ति के साथ यौन संपर्क से
  • संक्रमित सिरिंज व सुई का दूसरों के द्वारा प्रयोग करने से
  • एच.आई.वी. संक्रमित अंग प्रत्यारोपण से
  • एच.आई.वी संक्रमित मां से शिशु को जन्म से पूर्व, प्रसव के समय या प्रसव के शीघ्र बाद

एड्स से बचाव

  • जीवन साथी के अलावा किसी अन्य से यौन संबंध नहीं रखें।
  • यौन संपर्क के समय निरोध का प्रयोग करें।
  • एड्स पीड़ित महिलाएं गर्भधारण न करें क्योंकि उनसे पैदा होने वाले शिशु को यह रोग लग सकता है।
  • रक्त की आवश्यकता होने पर अंजान व्यक्ति का रक्त न लें और सुरक्षित रक्त के लिए एच.आई.वी जांच किया रक्त ही ग्रहण करें।
  • डिस्पोजेबल सिरिंज एवं सुई और अन्य चिकित्सीय उपकरणों को 20 मिनट पानी में उबालकर जीवाणुरहित करके ही उपयोग में लाएं और दूसरे व्यक्ति का प्रयोग में लिया हुआ ब्लेड बिल्कुल भी इस्तेमाल न करें।

ऐसे में आपको इन विचारों की नहीं बल्कि उन लोगों की मदद करनी चाहिए जो इस समस्या से ग्रस्त हैं। 

इसे भी पढ़ें-

AIDS Day 2021: इंसानों नहीं जानवरों को भी होता है एड्स, संबंध बनाने से नहीं इस वजह से होती है ये घातक बीमारी

relationship: इन ईजी टिप्स के जरिए आप बना सकते हैं हैप्पी फैमिली

Omicron Variant: वो सब कुछ जो आप Corona के नए वैरिएंट के बारे में जानना चाहते हैं

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios