Asianet News Hindi

'सब याद रखा जाएगा', आमिर अजीज की कविता पढ़ इस स्टार ने किया सीएए का विरोध

दुनिया के सबसे फेमस रॉक बैंड्स में शुमार Pink Floyd के को-फाउंडर और गिटारिस्ट रॉजर वॉटर्स ने सीएए का विरोध किया है और विरोध कर रहे लोगों को सपोर्ट किया है। दरअसल, रॉजर हाल ही में लंदन के एक इवेंट में गए थे। यहां वो विकिलीक्स के फाउंडर जूलियन एसांज की रिहाई की मांग करने के लिए आए थे।

anti caa protest song india aamir aziz poetry sing pink floyd roger waters kpy
Author
Mumbai, First Published Feb 28, 2020, 8:34 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. दुनिया के सबसे फेमस रॉक बैंड्स में शुमार Pink Floyd के को-फाउंडर और गिटारिस्ट रॉजर वॉटर्स ने सीएए का विरोध किया है और विरोध कर रहे लोगों को सपोर्ट किया है। दरअसल, रॉजर हाल ही में लंदन के एक इवेंट में गए थे। यहां वो विकिलीक्स के फाउंडर जूलियन एसांज की रिहाई की मांग करने के लिए आए थे। इसी दौरान रॉजर ने भारत में एंटी सीएए प्रोटेस्टेट को लेकर बात की। उन्होंने कवि आमिर अजीज की कविता 'सब याद रखा जाएगा' के कुछ हिस्से को इंग्लिश वर्जन में सुनाया और भारत में चल रहे प्रोटेस्ट्स को लेकर अपना समर्थन भी दिया।

आमिर अजीज के लिए स्टार ने कही ये बात

वॉटर्स ने कविता सुनाने से पहले आमिर अजीज को इंट्रोड्यूस किया और उन्हें दिल्ली का एक युवा कवि और एक्टिविस्ट बताया। रॉजर वॉटर्स ने कहा कि आमिर फासीवादी और जातिवाद फैलाने वाले नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ संघर्ष कर रहे हैं। इस कविता के कुछ हिस्से को इंग्लिश में पढ़ने के बाद वॉटर्स आमिर की राइटिंग से काफी इंप्रेस नजर आए और उन्होंने कहा कि इस बच्चे का भविष्य उज्ज्वल है। पटना में पैदा होने वाले और सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल कर चुके आमिर अजीज एक राइटर और म्यूजिशियन हैं। वे अपने प्रोटेस्ट्स सॉन्ग अच्छे दिन ब्लूज के बाद चर्चा में आए थे।

 

वॉटर्स ने कविता को बताया भारत की आत्मा की आवाज

वॉटर्स ने इस कविता को भारत की आत्मा से आती आवाज बताया है। 16 फरवरी को मुंबई में 'इंडिया, माय वेलेंटाइन' कार्यक्रम में, आमिर अजीज ने अपनी इस कविता 'सब याद रखा जाएगा...सब कुछ याद रखा जाएगा' की सशक्त प्रस्तुति दी थी। बता दें, वॉटर्स अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के आलोचक रहे हैं और वे पिछले कुछ सालों में काफी पॉलिटिकल हुए हैं। साल 1965 में बनने वाले लंदन के इस साइकेडेलिक रॉक बैंड को दुनिया के सबसे प्रभावशाली रॉक बैंड में शुमार किया जाता है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios