लाइफस्टाइल डेस्क। आजकल शायद ही कोई ऐसा शख्स मिले, जो सोशल मीडिया का इस्तेमाल नहीं करता है। बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक सोशल मीडिया पर अच्छा-खासा समय बिताते हैं। इसके अलावा वे कई तरह के मोबाइल ऐप्स का भी यूज करते हैं। फेसबुक एक ऐसा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है, जो सबसे ज्यादा पॉपुलर है। लेकिन हाल के दिनों में चाइनीज मोबाइल ऐप्स काफी पॉपुलर हो गए। लोग वीडियो मेकिंग एंड शेयरिंग ऐप टिकटॉक, विगो वीडियो, हेलो ऐप वगैरह का बहुत ज्यादा इस्तेमाल करने लगे। टिकटॉक पर प्रोफेशनल्स से लेकर आम घरों के लड़के-लड़कियां तक डांस के वीडियो बना कर शेयर करने लगे। इस तरह के ऐप्स की संख्या बहुत ज्यादा है। इनमें कई ऐप्स ऐसे हैं, जिनमें मनोरंजन के नाम पर फूहड़ता परोसी जाती है। अश्लील चुटकुलों और वीडियो की इनमें भरमार होती है। आजकल काफी लोग इन मोबाइल ऐप्स के एडिक्ट हो गए हैं। ऐसे ऐप ज्यादातर चीन के हैं। अब भारत सरकार ने चीन के ऐप्स पर पाबंदी लगा दी है। इस वजह से जो लोग इन ऐप्स के एडिक्टेड हो चुके हैं, वे परेशानी महसूस करने लगे हैं। जानें इनसे छुटकारा पाने के उपाय।

1. स्मार्टफोन पर कम समय दें
ज्यादातर मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि स्मार्टफोन का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए। इसका इस्तेमाल बातचीत करने के लिए और जरूरी संदेश भेजने के लिए किया जाना चाहिए। स्मार्टफोन पर इंटरनेट सर्फिंग आसानी से किया जा सकता है, इसलिए जरूरत पड़ने पर यह कर सकते हैं। लेकिन गैरजरूरी ऐप्स को फोन में डाउनलोड रखने से कोई फायदा नहीं होता।

2. जितने ऐप्स, उतनी परेशानी
आप अपने मोबाइल में जितने ऐप्स रखेंगे, आपकी परेशानी उतनी ही बढ़ेगी। हर ऐप का का इस्तेमाल आप नहीं कर सकते। आजकल ऐप्स की इतनी भरमार हो गई है कि उनके बारे में जानकर आपका दिमाग चकरा जाएगा। प्ले स्टोर पर हजारों की संख्या में ऐप्स एवेलेबल हैं। इनका यूज करने से आपका कीमती समय बर्बाद होगा। इसलिए सीमित संख्या में ही ऐप्स रखें।

3. फोन से दूर रहने का संकल्प लें
अगर आपको सोशल मीडिया या ऐप्स का एडिक्शन हो गया है, तो आपको फोन से दूर रहने का संकल्प लेना होगा। सोशल मीडिया या ऐप एडिक्शन ड्रग्स एडिक्शन से कम खतरनाक नहीं है। यह एडिक्शन धीरे-धीरे दिमाग को खोखला कर देता है और मानसिक स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान पहुंचाता है। इसलिए समय रहते इससे बचने का उपाय करें।

4. किताबें पढ़ने की आदत डालें
हर समय फोन से चिपके रहने और कभी फेसबुक, कभी वॉट्सऐप, कभी इंस्टाग्राम तो कभी स्नैपटचैट और दूसरे ऐप्स में उलझे रहने की जगह किताबें पढ़ने की आदत डालें। इससे आपकी जानकारी तो बढ़ेगी ही, मन को भी सुकून मिलेगा। किताबें पढ़ने में आपका खाली समय बेहतर बीतेगा।

5. लंबी सैर करें
काफी लोग सुबह जागते ही पहले फोन और सोशल मीडिया पर नजर डालते हैं। शाम से देर रात तक का वक्त भी वे सोशल मीडिया पर ही बिताते हैं। कभी फेसबुक, कभी इंस्टाग्राम तो कभी यूट्यूब देखना लोगों की आदत में शुमार हो चुका है। चीनी ऐप्स पर नॉनवेज जोक्स पढ़ने और वीडियो देखने के आदी लोगों की संख्या भी अच्छी-खासी है। इससे धीरे-धीरे पर्सनैलिटी डिसऑर्डर की समस्याएं पैदा होने लगती हैं। इसलिए सुबह और शाम को लंबी सैर पर निकलें। याद करें उन दिनों को जब स्मार्टफोन नहीं थे और ना ही कोई ऐप, आप अपना समय कैसे बिताते थे।