Asianet News HindiAsianet News Hindi

सोशल मीडिया पर फेक आईडी और फेक न्यूज है बड़ी समस्या, इन 5 बातों का रखेंगे ख्याल तो नहीं होगी परेशानी

आजकल हर कोई सोशल मीडिया का इस्तेमाल जरूर करता है। सोशल मीडिया नए लोगों से जुड़ने और देश-दुनिया की खबरों की जानकारी पाने का सबसे अच्छा प्लेटफॉर्म बन गया है, लेकिन इसका इस्तेमाल करते हुए कुछ खास सावधानी बरतना जरूरी है। 

Fake ID and fake news is a big problem on social media, if these 5 things will be considered, there is no problem MJA
Author
New Delhi, First Published Jul 7, 2020, 6:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लाइफस्टाइल डेस्क। आजकल हर कोई सोशल मीडिया का इस्तेमाल जरूर करता है। सोशल मीडिया नए लोगों से जुड़ने और देश-दुनिया की खबरों की जानकारी पाने का सबसे अच्छा प्लेटफॉर्म बन गया है, लेकिन इसका इस्तेमाल करते हुए कुछ खास सावधानी बरतना जरूरी है। सोशल मीडिया पर फेक आईडी के साथ ही फेक न्यूज की भी भरमार होती जा रही है। फेक आईडी वाले यूजर किसी को कई तरह से परेशान कर सकते हैं। फेक आईडी बनाने का मकसद ही अपनी पहचान छुपा कर लोगों से संपर्क करना और उन्हें किसी न किसी तरह से धोखा देना होता है। फेक आईडी के जरिए कोई यूजर किसी को कई तरह से परेशान कर सकता है। वहीं, फेक न्यूज और वीडियो का इस्तेमाल सोशल मीडिया पर लोगों को गुमराह करने के लिए किया जाता है। जानें इन समस्याओं से बचाव के कुछ टिप्स।

1. फेक आईडी को कैसे पहचानें
कई लोग फेसबुक या इंस्टाग्राम पर फेक आईडी बनाते हैं। कुछ लोग पुरुष होते हुए भी औरत के नाम से आईडी बना लेते हैं। इसके लिए वे नकली तस्वीरों का इस्तेमाल करते हैं। फेक आईडी को पहचानना ज्यादा मुश्किल नहीं है। जो आईडी फेक होती है, उस पर तस्वीरें कम होती हैं। उन पर दी गई जानकारियों को गौर से देखने पर समझा जा सकता है कि वे फेक आईडी हैं। 

2. फैमिली की तस्वीरें नहीं मिलेंगी
फेक आईडी वाले अकाउंट पर फैमिली की तस्वीरें नहीं मिलेंगी। इसके साथ ही स्कूल, कॉलेज, नौकरी-पेशा से संबंधित जानकारी भी कम या गलत मिलेगी। थोड़ी छान-बीन के बाद आप समझ जाएंगे कि दी गई जानकारियां गलत हैं। ऐसी आईडी को तत्काल ब्लॉक कर देना चाहिए।

3. औरतों के नाम पर फेक आईडी
लोग औरतों या लड़कियों के नाम पर फेक आईडी क्यों बनाते हैं? दरअसल, इसके पीछे उनका मकसद औरतों और लड़कियों से दोस्ती गांठ कर उनकी अंतरंग बातों का पता लगाना होता है। एक औरत पुरुष से जो बात नहीं कह सकती, वह किसी औरत से आसानी से कह देती है। इसके अलावा यह एक मानसिक विकृति भी है। ऐसा करने वाले ज्यादातर लोग पर्सनैलिटी डिसऑर्डर की समस्या से पीड़ित पाए गए हैं। 

4. जासूसी के लिए बनाते हैं फेक आईडी
कुछ लोग किसी की जासूसी करने और सोशल मीडिया पर उसकी हरकतों पर नजर रखने के लिए फेक आईडी बनाते हैं। ऐसा लोग तब भी करते हैं, जब उनके किसी करीबी दोस्त या पार्टनर ने उनसे नाराज होकर ब्लॉक कर दिया हो। फेक आईडी के जरिए तब वे सोशल मीडिया पर उन्हें आसानी से ट्रैक करते रहते हैं। 

5. फेक न्यूज और वीडियो
इसका इस्तेमाल किसी मुद्दे पर लोगों की भावनाओं को भड़काने के लिए किया जाता है। आम तौर पर लोग संदर्भ से काट कर किसी न्यूज को शेयर करते हैं। आजकल कई तरह के ऐप्स के जरिए फेक वीडियो बनाना बेहद आसान हो गया है। कई बार ऐसे फेक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर राजनातिक हित साधने की कोशिश की जाती है या किसी के खिलाफ झूठा प्रचार कर घृणा फैलाई जाती है। सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हुए इन बातों को लेकर सजग रहना चाहिए।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios