Asianet News HindiAsianet News Hindi

पहली बार करने जा रहे हैं जन्माष्टमी का व्रत, तो ऐसे करें इसका पालन

जन्माष्टमी के मौके पर अगर आप पहली बार व्रत करने जा रहे हैं, तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि कैसे आपको यह व्रत करना चाहिए। जिससे इसका पूरा फल आपको मिल सके।

Krishna Janmashtami 2022 fasting rule when first time doing vrat for Kanha ji dva
Author
Mumbai, First Published Aug 18, 2022, 8:10 AM IST

लाइफस्टाइल डेस्क : हिंदू धर्म में जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami) के त्योहार का विशेष महत्व होता है। इस दिन भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। उनके जन्मोत्सव को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। भक्त ना सिर्फ रात को 12:00 बजे उनका जन्म करते हैं, बल्कि दिन भर भूखे प्यासे रहकर उनके लिए व्रत भी करते हैं और कान्हा जी के जन्म के बाद अपने व्रत को खोलते हैं। ऐसे में जो लोग पहली बार कृष्ण जन्माष्टमी पर व्रत (Janmashtami fasting) रखने जा रहे हैं, उनको व्रत के नियम पता होना आवश्यक है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि कृष्ण जन्माष्टमी पर किस तरह से व्रत किया जाता है।

1. सबसे पहली बात जब आप व्रत करने जाएं तो एक रात पहले हमेशा वेज खाना ही खाएं। यह ना सिर्फ धार्मिक रूप से सही माना जाता है, बल्कि यह आपके पाचन तंत्र को भी दुरुस्त रखता है, क्योंकि अगर एक दिन पहले आप हैवी खाना खाएंगे, तो आपको गैस, अपच, कब्ज जैसी समस्या हो सकती है। ऐसे में 1 दिन पहले हल्का खाना खाएं।

2. जन्माष्टमी के दिन सुबह सबसे पहले आप स्नान करें और अपने हाथ में तुलसी का पत्ता लेकर व्रत का संकल्प करें।

3. इसके बाद भगवान की पूजा अर्चना करें। इसके लिए आप बाल गोपाल को पंचामृत से नहलाएं और उन्हें नए और सुंदर वस्त्र पहनाएं। इसके साथ ही उनका श्रृंगार भी करें। इसमें नया मुकुट, माला, बांसुरी, करधनी सभी चीजें उन्हें पहनाएं।

4. पूजा के दौरान भगवान श्रीकृष्ण को उनके मनपसंद का भोग लगाना ना भूलें। आप चाहे तो सुबह के समय उन्हें फलाहार का भोग लगा सकते हैं। कुछ समय बाद आप इसी फलाहार को खा सकते हैं। दिनभर एनर्जी बने रहने के लिए आप सुबह मुट्ठी भर काजू, बादाम, अखरोट जैसे ड्राई फ्रूट खा सकते हैं ,जो आपको एनर्जी देंगे।

5. जन्माष्टमी के दिन रात को 12:00 बजे तक व्रत किया जाता है। ऐसे में आपको पूरा दिन भर खाली पेट रहना पड़ता है। लेकिन अपनी बॉडी को हाइड्रेट रखें। खूब सारा पानी पिए, जूस पिए, लस्सी, छाछ इत्यादि का सेवन करें।

6. दिन के समय आप व्रत वाली साबूदाने की खिचड़ी, आलू की सब्जी, कुट्टू, सिंघाड़े या राजगिरी के आटे की रोटियां पराठा बना कर खा सकते हैं।

7. व्रत के दौरान चाय और कॉफी का सेवन कम करें, क्योंकि इससे आपको एसिडिटी की समस्या हो सकती है और भूखे पेट चाय कॉफी पीने से आपको सिर दर्द भी हो सकता है। चाय कॉफी की जगह आप नारियल पानी या जूस इत्यादि ले सकते हैं।

8. श्री कृष्ण के जन्म के बाद जब आप अपना व्रत खोलें, तो प्रसाद में बनाई गई पंजीरी या माखन पाग से ही अपना व्रत खोलें। एकदम से हैवी चीज नहीं खाएं। रात के समय हैवी खाना खाने से आपकी तबीयत अचानक खराब हो सकती है।

और पढ़ें: Janmashtami 2022: कौन-कौन था श्रीकृष्ण के परिवार में? जानें उनकी 16 हजार पत्नी, पुत्री और पुत्रों के बारें में

Janmashtami:कृष्ण के इस 7 'मंत्र' को कपल करेंगे फॉलो, तो बिगड़े रिश्ते में भर जाएगा प्यार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios