Asianet News HindiAsianet News Hindi

अंबानी की बेटी को हुए जुड़वा बच्चे, जानें ट्विन प्रेगनेंसी में कैसे रखें ध्यान, ये हो सकते है कॉम्प्लिकेशन

मुकेश अंबानी और नीता अंबानी नाना-नानी बन गए। उनकी बेटी ईशा अंबानी को 19 नवंबर को जुड़वा बच्चों का जन्म हुआ। आज हम आपको बताते हैं कि ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान आपको किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे कोई कॉम्प्लिकेशंस ना आए।

Mukesh and Nita Ambani daughter Isha blessed with twin baby, know how to care in double pregnancy dva
Author
First Published Nov 21, 2022, 8:45 AM IST

लाइफस्टाइल डेस्क : माता-पिता बनना हर पेरेंट्स का सपना होता है और यह खुशी दुगनी हो जाती है, जब कोई मां दो बच्चों को एक साथ जन्म देती हैं। कुछ ऐसी ही खुशी बिजनेस टायकून मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) और नीता अंबानी (Nita Ambani) की बेटी ईशा अंबानी (Isha Ambani) को हुई है। जिनकी शादी 2018 में बिजनेसमैन आनंद पीरामल से हुई थी और 19 नवंबर 2022 को दोनों को जुड़वा बच्चे (twin babies) हुए। उनको एक बेटी आदिया और बेटे कृष्णा का जन्म हुआ है। दोनों बच्चे और मां स्वस्थ हैं। ऐसे में आज हम आपको बताते हैं कि ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान आपको क्या ध्यान रखने चाहिए जिससे मां और बच्चे सुरक्षित रहे...

ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान रखें इन बातों का ध्यान
1. साधारण प्रेगनेंसी से ट्विन प्रेगनेंसी ज्यादा कॉम्प्लिकेटेड होती है। इसलिए इस दौरान गर्भवती महिला का ज्यादा ख्याल रखने की जरूरत होती है। सबसे जरूरी चीज की उसे झुकना या भारी वजन उठाने से पूरी तरह से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे गर्भाशय पर प्रेशर पड़ता है और गर्भ के नीचे आने का खतरा भी बढ़ जाता है। जिससे महिलाओं को ब्लीडिंग या मिसकैरेज की समस्या हो सकती है।

2. ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान आपको अपनी डाइट का बहुत ज्यादा ध्यान रखना जरूरी है। यह जरूरी नहीं कि आपके गर्भ में 2 बच्चे पल रहे हैं तो आपको ज्यादा खाना खाना पड़े। आपको अपनी डाइट के हिसाब से अपने डॉक्टर की सलाह से एक नियमित और बैलेंस डाइट लेने की जरूरत होती है।

3. ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान इस बात का ध्यान रखना बहुत जरूरी है कि हमारे गर्भ में 2 बच्चे पाल रहे हैं जिनका ध्यान रखना बहुत जरूरी हो जाता है। ऐसे में कैल्शियम और प्रोटीन दो ऐसी चीजें हैं जिनका सेवन करना बहुत ज्यादा जरूरी होता है। यह बच्चों की हड्डियों को मजबूत बनाता है। ऐसे में आप अपनी डाइट में डेयरी प्रोडक्ट जैसे दूध, पनीर, चीज, दही इन सारी चीजों का सेवन जरूर करें।

4. प्रेगनेंसी के दौरान सेक्स करते समय सावधानी जरूर बरतें। शुरुआत के 3 महीने और अंत के 3 महीनों में ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत होती है। सेक्स करना या नहीं करना यह आप पर निर्भर करता है, लेकिन इस दौरान आपको सावधानी बरतने की जरूरत होती है, क्योंकि गर्भाशय से टकराव होने पर बच्चों को चोट पहुंचने का खतरा हो सकता है, इसलिए शारीरिक संबंध बनाने के दौरान सेक्स पोजीशन का ध्यान रखें। आप इसके लिए अपने डॉक्टर से भी संपर्क कर सकते हैं।

ट्विन प्रेगनेंसी में होने वाली समस्याएं 
1. जुड़वा बच्चों को जन्म देने के दौरान एक मां को कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। जैसे आम प्रेगनेंसी की तुलना में ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान मॉर्निंग सिकनेस बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में सुबह के समय आपको फ्रेश एयर लेनी चाहिए और आराम से उठना चाहिए।

2. ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान डायबिटीज और प्रीक्लैप्सिया का खतरा भी बढ़ जाता है। इतना ही नहीं ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान ब्रेस्ट टेंडरनेस और वेट गेन से संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं। ऐसे में मां को ज्यादा से ज्यादा अपना ध्यान रखना चाहिए।

3. ट्विन प्रेगनेंसी के दौरान सबसे ज्यादा खतरा प्रीमेच्योर डिलीवरी का होता है, क्योंकि कई बार 40 की जगह 36 या 37 हफ्तों में भी डिलीवरी होने के चांसेस होते हैं। ऐसे में आखिरी के दो से तीन महीनों में जुड़वा बच्चों को जन्म देने वाली मां का ज्यादा ख्याल रखना चाहिए।

ये भी देखें : अंबानी के पोते पृथ्वी को मिले दो छोटे भाई-बहन, शादी के 4 साल बाद मां बनीं बेटी ईशा

नीता अंबानी से ज्यादा खूबसूरत हैं बेटी, ससुराल से गिफ्ट में मिला है 450 Cr का ये आलीशान बंगला

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios