Asianet News HindiAsianet News Hindi

मध्य प्रदेश से गुजरात जा रही बस राजस्थान के डूंगरपुर में पलटी, 3 लोगों की मौके पर मौत

मध्यप्रदेश के ग्वालियर से गुजरात जा रही एक निजी बस राजस्थान के डूंगरपुर जिले में पलट गई। हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई, वहीं दर्जनभर लोग घायल हुए हं। पुलिस ने मौके पर पहुंच मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

Bus accident in Dungarpur then three people death in Rajasthan kpr
Author
Gwalior, First Published Aug 8, 2022, 4:36 PM IST

 ग्वालियर. मध्य प्रदेश के ग्वालियर से गुजरात जा रही एक निजी बस का राजस्थान के डूंगरपुर जिले में एक घाटी पर बेकाबू होकर सड़क किनारे पलट गई। इस हदासे में तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं 10 से ज्यादा सवारियों के घायल हो गए। गनीमत रही कि बस यहीं गिर गई, नहीं तो कुछ दूर पर गहरी खाई थी, अगर उसमें जा गिरती तो की लोगों की जान जा सकती थी।

हाइवे पर चीखते-चिल्लाते रहीं सवारियां
दरअसल, यह दर्दनाक हदासा सोमवार को नेशनल हाईवे-48 पर लेहणा घाटी के पास हुआ। हादसा होते ही अफरा-तफरी मच गई, सवारियों की चीखने-चिल्लाने की आवाज आने लगी। बताया जाता है कि राहगीरों ने वक्त रहते लोगों को बस से निकाला और एंबुलेंस को फोन कर मौके पर बुलाया। वहीं सूचना मिलते ही पुलिस पहुंची। मृतकों में एक मासूम बच्ची भी शामिल है। वहीं एक युवक की पहचान हो गई है तो दूसरी की अभी पहचान की जा रही है।

इस वजह से हुआ भीषण हादसा
बताया जा रहा कि हादसा बहुत ही भयानक था, क्योंकि ब्रेक नहीं लगता तो कुछ भी हो सकता था। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि बारिश होने कारण यह एक्सीडेंट हुआ है। सड़क पर पानी आ जाने के कारण तेज रफ्तार में जा बस पर ड्राइवर निंयत्रण नहीं कर सका और पलट गई। अच्छा रहा अगर बस यहां नहीं पलटती तो खाई में गिरती, जिसके चलते मृतकों की संख्या और ज्यादा बढ़ सकती थी।

हाइवे पर यहां 7 महीने में 6 हजार से ज्यादा मौतें
बता दें कि राजस्थान में आए दिन इस तरह के भीषण हादसे हो रहे हैं। इस साल जनवरी से लेकर जुलाई के महीने तक नौ हजार से भी ज्यादा सड़क हादसे हो चुके हैं। इन हादसों में करीब साढे़ आठ हजार लोग घायल हैं और करीब छह हजार लोगों की जान जा चुकी है। सबसे ज्यादा हादसे प्रदेश में नेशनल हाइवेज पर हुए हैं। हाइवे पर हुए हादसों में सबसे ज्यादा हादसे ट्रकों के कारण हुए हैं। अधिकतर मौतें ट्रकों से कुलचने के कारण हुई है।  

यह भी पढ़े- राजस्थान की ये देवी रूठीं तो दरबार में ही 217 भक्तों की हो गई मौत, देखते ही देखते लाशों का ढेर लग गया

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios