Asianet News HindiAsianet News Hindi

कांग्रेस नेताओं पर चोरों का साया: कमलनाथ लेते रहे बैठक और चोर ने दिखाई हाथ की सफाई, किसी को भनक तक नहीं

कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan singh verma) का प्रदेश कांग्रेस कार्यालय (state Congress office) से मोबाइल चोरी हो गया। वे यहां पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) के साथ मीटिंग में हिस्सा लेने आए थे। बताते हैं कि वर्मा बैठक में थे, तभी उनका मोबाइल चोरी हो गया। जब वे वापस लौटने लगे तो देखा कि मोबाइल फोन गायब हो गया है।
 

Congress leader Sajjan Singh Verma mobile phone stolen from state Congress office
Author
Bhopal, First Published Nov 9, 2021, 3:47 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा (Sajjan singh verma) का फोन चोरी हो गया। घटना की किसी को भनक तक नहीं लगी। जब फोन चोरी हुआ, तब पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) और पार्टी के विधायक, पूर्व मंत्री, जिला प्रभारियों के बीच बैठक चल रही थी। पूर्व मंत्री भी इसी बैठक में बड़े नेताओं के साथ मौजूद थे। बाद में वर्मा ने फोन देखा तो गायब था। इसके बाद मामला सामने आया। बता दें कि इससे पहले कांग्रेस (Congress) की रैली-प्रदर्शन के दौरान भी नेताओं के फोन और पर्स चोरी की घटनाएं सामने आ चुकी हैं। अब भरी बैठक में फोन चोरी होने से हड़कंप मच गया है।

Asianetnews Hindi से बातचीत में सज्जन वर्मा ने बताया कि मोबाइल चोरी हुआ है। भीड़भाड़ में किसी ने मोबाइल पार किया है। वे बैठक के बाद बाहर निकले, तभी मोबाइल चोरी हुआ है। बता दें कि वर्मा कांग्रेस की कमलनाथ सरकार में मंत्री थे। वे सोनकच्छ सीट से कांग्रेस विधायक हैं और पार्टी के सह प्रभारी भी हैं। मंगलवार को पीसीसी में कमलनाथ ने जिला प्रभारियों की बैठक बुलाई थी। इसमें बूथ मंडल और सेक्टर कमेटी के पुनर्गठन पर चर्चा चल रही थी। बैठक के बाद पूर्व मंत्री वर्मा ने देखा तो उनके पास मोबाइल फोन नहीं था। 

कांग्रेस नेताओं के मोबाइलों पर चोरों की नजरें...
मध्य प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के मोबाइल फोन पर चोरों की नजरें हैं। सितंबर में पार्टी की रैलियों और पदयात्रा से भी मोबाइल और पैसे चोरी का मामला सामने आया था। 8 सितंबर को कांग्रेस की रैली से 7 लाख रुपए के 18 मोबाइल फोन चोरी हो गए थे। इसमें पूर्व मंत्री पीसी शर्मा का फोन भी शामिल था। इसके अलावा, एक नेता का पर्स उड़ा दिया था, जिसमें 22 हजार रुपए रखे थे। इस संबंध में भोपाल जिला कांग्रेस कमेटी ने हबीबगंज थाने समेत एसपी साउथ और एसपी सायबर सेल में शिकायत दर्ज कराई थी। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने भी कहा था कि कांग्रेस चोरों के निशाने पर है, लेकिन पुलिस के निशाने पर चोर नहीं है, इसलिए शिकायत करने आए हैं। 

दिसंबर में कांग्रेस नेताओं के 40 मोबाइल चोरी हुए थे
इससे पहले दिसंबर 2020 में भी चोरों ने युवा कांग्रेस की रैली में से 40 नेताओं के मोबाइल चोरी कर लिए थे। ये सभी नेता रेडक्रॉस चौराहे के पास एकत्रित थे। मामले में एमपी नगर थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। तब युवा कांग्रेस ने किसान स्वाभिमान मार्च निकाला था। करीब 20 किलोमीटर लंबे रोड शो में जेबकतरों ने नेताओं के मोबाइल समेत पर्स पर भी हाथ साफ कर दिया था।

MP BJP प्रभारी Muralidhar Rao के बयान से बवाल, बोले- ब्राह्मण-बनिया मेरी जेबों में रहते, कांग्रेस ने ये पूछा

UP: आजम खान की भैंस और IAS का डॉगी खोजने के बाद अब नेता की घोड़ी तलाश रही रामपुर पुलिस

चन्नी ने कराई गहलोत की किरकिरी: फ्यूल रेट कम करने का विज्ञापन दिया तो सबसे ज्यादा रेट राजस्थान में बताए

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios