पुणे. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार ने महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव अभियान में बार-बार उनके नाम का इस्तेमाल करने पर शुक्रवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री समेत भाजपा के शीर्ष नेताओं की आलोचना की और कहा कि उन्हें अर्थव्यवस्था और किसानों से जुड़े मुद्दों पर बोलना चाहिये।

शाह को जेल में होना चाहिए था
राकांपा प्रमुख ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, शाह और मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस के अभियान का सबसे बड़ा मुद्दा 'शरद पवार' है। पवार ने यहां कंचन के निकट उरुली में एक चुनावी रैली में शाह का नाम लिये बिना एक बार फिर "जेल" का जिक्र करते हुए कहा कि जिन्हें "अंदर" होना चाहिये था वे अब देश का प्रशासन चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें इससे कोई शिकायत नहीं है क्योंकि लोकतंत्र में हर किसी के पास उसके अधिकार होते हैं।

आर्टिकल 370 के बाद 371 भी होना चाहिए खत्म 
पवार ने कहा कि राकांपा जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने का स्वागत करती है। उन्होंने केन्द्र से अनुच्छेद 371 को भी खत्म करने के लिये कहा, जो नगालैंड और मेघालय समेत पूर्वोत्तर राज्यों में जमीन खरीदने से रोकता है।

हर समय न जपें मेरा नाम- पवार 
पवार ने मोदी, शाह और फड़णवीस पर निशाना साधते हुए कहा, "वे जहां भी जाते हैं, सिर्फ शरद पवार, शरद पवार, शरद पवार के बारे में बोलते हैं। मैं उन्हें कहना चाहूंगा कि आप हर समय मेरा नाम जप रहे हैं । ऐसा न हो कि आप सोते समय भी मेरा नाम जपते रहें, इससे आपके घर के लोगों के मन में कुछ संदेह पैदा हो सकता है।"

(यह खबर न्यूज एजेंसी पीटीआई भाषा की है। एसियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेटलाइन में बदलाव किया है।)