Asianet News HindiAsianet News Hindi

Drugs Case: समीर पर एक और मुसीबत: वानखेड़े की शादी कराने वाला काजी आया सामने, कहा-हां मैंने पढ़ा था निकहानामा


एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) के खिलाफ मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) एक के बाद एक चौंकाने वाले खुलासे करन में लगे हुए हैं। इसी बीच एक काजी सामने आए हैं, जिन्होंने दावा किया है कि उन्होंने समीर वानखेड़े का निकाह पढ़ा था।

Aryan Khan drugs case, NCB zonal director Sameer Wankhede troubles increases, kazi admit he got him married to shabana
Author
Mumbai, First Published Oct 27, 2021, 1:58 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई, आर्यन खान ड्रग्स केस (Aryan Khan Drugs Case) की जांच कर रहे  एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) के खिलाफ मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) एक के बाद एक चौंकाने वाले खुलासे करने में लगे हुए हैं। मलिक ने वानखेड़े पर नए आरोपों को झड़ी लगी दी है। बुधवार सुबह मंत्री ने समीर वानखेड़े के निकाह की तस्वीर के साथ शादी का निकाहनामा ट्वीट किया। अब इस मामले में वानखेड़े का निकाह पढ़वाने वाले काजी भी सामने आ गए हैं। उन्होंने कहा कि हां मैंने समीर वानखेड़े और शबाना कुरैशी नाम की लड़की का निकाह कराया था। साथ ही दावा किया है कि मंत्री मलिक ने जो  निकाहनामा पेश किया है वह सही है।

काजी का दावा-मैं मुस्लिम का निकाह पढ़ता हूं, समीर मुसलमान थे
दरअसल, समीर वानखेड़े का निकाह करवाने का दावा करने वाले काजी का नाम मुजम्मिल अहमद है। जिन्होंने नवाब मलिक के आरोपों को सच बताते हुए कहा कि मैंने समीर वानखेड़े और शबाना नाम की लड़की का निकाह पढ़वाया था। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि समीर ने जब यह निकाह किया था तो उस वक्त वह एक मुसलमान थे। क्योंकि मैं किसी गैर मुस्लिम का निकाह नहीं पढ़ता हूं। शरियत के हिसाब से यह सब गलत है।

दावत में हजारों लोग आए थे, दीन में किया था निकाह
इनता ही नहीं काजी ने यह भी दावा किया है कि नवाब मलिक ने जो निकाहनामा पेश किया वह उर्दू में है। उस पर जो साइन हैं वह मेरे ही हैं। साल 2006 में समीर वानखेड़े मेरे पास निकाह पढ़वाने के लिए आए हुए थे। उन्होंने अपने साथ पिता को भी मुस्लिम बताया था। तभी तो मैं उनके निकाह को पढ़ने के लिए राजी हुआ था। उस दौरान समरी की दावत में हजारों लोग शामिल हुए थे। अगर वह मुसलमान नहीं  होते तो उन्होंने दीन में निकाह क्यों किया। 

नवाब मलिक ने ट्वीट में ये दावा किया है...
नवाब मलिक ने ट्वीट में दावा किया है कि ‘साल 2006 में 7 दिसंबर, गुरुवार को रात 8 बजे समीर दाऊद वानखेड़े और डॉ. शबाना कुरैशी के बीच निकाह हुआ था। यह निकाह मुंबई के अंधेरी (वेस्ट) के लोखंडवाला कॉम्पलेक्स में हुआ था। उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा- ‘निकाह में 33 हजार रुपए मेहर के रूप में अदा की गई थी। इसमें गवाह नंबर 2 अजीज खान थे। वह यासमीन दाऊद वानखेड़े के पति हैं, जो कि समीर वानखेड़े की बहन हैं।

समीर की पत्नी का दावा-मैं और मेरे पति जन्म से हिंदू 
वहीं एक दिन पहले वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर ने अपनी शादी की तस्वीर शेयर की थी। साथ ही लिखा है कि जो भी आरोप मेरे पति पर लगा रहे हैं, वह गलत हैं। मैं और मेरे पति समीर में जन्मे हिंदू हैं। हमने कभी किसी अन्य धर्म में धर्मांतरण नहीं किया। सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। समीर के पिता ने भी मेरी मुस्लिम सास से शादी की है जो अब नहीं हैं। समीर की पूर्व शादी विशेष विवाह अधिनियम के तहत हुई थी, 2016 में तलाक हो गया। हिंदू विवाह अधिनियम 2017 में हमारा विवाह हुआ।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios