Asianet News HindiAsianet News Hindi

कलेक्टर कर गए एक गलती, जब उठे सवाल तो अपने ऊपर ही लगाना पड़ा 5 हजार का जुर्माना


बीड जिले के कलेक्टर आस्तिक कुमार पांडे ने अपने ऑफिस में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्लास्टिक कप का इस्तेमाल किया था। इस बारे में जब कुछ पत्रकारों ने उनसे सवाल किया तो उन्होंने खुद के ऊपर  5 हजार का जुर्माना लगा लिया।
 

beed collector plastic take tea plastic then fine of rs 5000 on himself
Author
Beed, First Published Oct 10, 2019, 2:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बीड (महाराष्ट्र). आपने अधिकतर अधिकारियों को किसी संस्था या फिर व्यक्ति के ऊपर जुर्माना लगाते सुना होगा। क्या कभी आपने सुना है कि कोई अफसर अपने ऊपर ही जुर्माना लगा ले। लेकिन महाराष्ट्र के एक कलेक्टर ने उस समय सबको हैरान कर दिया, जब उन्होंने अपने ऊपर ही पांच हाजर का जुर्माना ठोक दिया। वो भी इस वजह से कि वह सिंगल यूज प्लास्टिक बैन के बाद भी अपने ऑफिस में चाय के लिए प्लास्टिक के कप का इस्तेमाल कर रहे थे।

रिपोर्टर ने चाय पीने से कर दिया था इंकार
जानकारी के अनुसार, बीड जिले के कलेक्टर आस्तिक कुमार पांडे ने विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन वापसी की सूचना देने के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई थी। इस दौरान उनके कार्यालय के कर्मचारियों ने पत्रकारों के लिए प्लास्टिक के कप में चाय परोस दी। उसी दौरान वहां बैठे एक जर्नलिस्ट ने प्लास्टिक बैन का हवाला देते हुए चाय पीने से इनकार कर दिया। इसके बाद अफसर ने रिपोर्टर की बात को गंभीरता से लिया और वहां से सारे डिस्पोजल को हटवा दिया।

इस तरह कलेक्टर ने लगाया अपने ऊपर 5 हजार का जुर्माना
पत्रकारों से बातचीत के दौरान पांडे ने कहा कि हमारे जिले के अधिकारी और मैं प्लास्टिक को पूरी तरह हटवाने में नाकाम रहे हैं। लेकिन अब इस पर कड़ी कारवाई की जाएगी। इसके बाद उन्होंने खुद पर 5000 रुपए का जुर्माना लगाया। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों पर पूर्ण तरीक से प्रतिबंध है। विधानसभा चुनाव के दौरान कोई भी उम्मीदवार अपने प्रचार में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं कर सकेगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios