Asianet News Hindi

गाजियाबाद में 23 की मौत : चार महीने पहले बनी थी श्मशान की छत, जानिए किस वजह से हुआ हादसा

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। यहां मुरादनगर इलाके में श्मशान घाट में छत गिर गई। इस हादसे में 23 लोगों की मौत हो गई। जबकि 38 लोगों का रेस्क्यू किया गया है। बताया जा रहा है कि सभी लोग मृतक रिश्तेदार के अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे।

18 people died 38 rescued after a shed collapsed in Muradnagar ghaziabad KPP
Author
Ghaziabad, First Published Jan 3, 2021, 5:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गाजियाबाद. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में रविवार सुबह बड़ा हादसा हो गया। यहां मुरादनगर इलाके में श्मशान घाट में छत गिर गई। इस हादसे में 23 लोगों की मौत हो गई। जबकि 38 लोगों का रेस्क्यू किया गया है। बताया जा रहा है कि सभी लोग मृतक रिश्तेदार के अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे। वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए की आर्थिक मदद का ऐलान किया है। उन्होंने घटना पर रिपोर्ट मांगी है। 

दिल्ली एनसीआर में रविवार सुबह से बारिश हो रही है। बताया जा रहा है कि बारिश की वजह से ही छत गिरी। ऐसे में सवाल उठने लगा है कि इस हादसे के लिए कौन जिम्मेदार है। बताया जा रहा है कि जो छत गिरी है, उसका निर्माण 4 महीने पहले ही हुआ था। इसमें खराब गुणवत्ता के सामान का इस्तेमाल किया गया था। 

क्यों हुआ ये हादसा? 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, रेस्क्यू करने पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने बताया कि श्मशान घाट की छत बनाने में खराब क्वालिटी के मेटेरियल का इस्तेमाल हुआ। इसके अलावा सीमेंट का भी इस्तेमाल काफी कम हुआ। एनडीआरएफ के मुताबिक, घटिया सामग्री भी इस हादसे की वजह हो सकता है।  

सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने मृतकों  के परिजनों को 2-2 लाख रुपए देना का ऐलान किया। इसके अलावा मण्डलायुक्त, मेरठ और एडीजी मेरठ जोन से घटना पर रिपोर्ट पेश करने को कहा है। 

राजनाथ सिंह ने जताया दुख : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गाजियाबाद हादसे पर दुख जताया है। उन्होंने कहा, गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मशान घाट की छत गिर जाने के कारण कई लोगों की मृत्यु के समाचार से मुझे अत्यंत दुख पहुंचा है। दुख की इस घड़ी में मैं मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं, साथ ही कामना करता हूं कि हादसे में घायल हुए लोग जल्द से जल्द स्वस्थ हों। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios