Asianet News HindiAsianet News Hindi

Adani port के रास्ते पाकिस्तान से चीन भेजी जा रही रेडियो एक्टिव सामग्री DRI ने पकड़ी

सितंबर में 21 हजार करोड़ की हेराइन (Heroin) बरामदगी के बाद अडाणी (Adani ) पोर्ट एक बार फिर चर्चा में है। यहां रेडियो एक्टिव (Radio Active) पदार्थों से भरा कंटेनर मिला है। 

Adani Port Mundra Pakistan China Radio active Goods
Author
Ahmedabad, First Published Nov 19, 2021, 4:27 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अहमदाबाद। सितंबर में अडाणी पोर्ट (Adani port)  से  21 हजार करोड़ रुपए की 3,000 किग्रा हेरोइन (Heroin)  बरामद होने के बाद अब यहां रेडियो एक्टिव सामग्री की बरामदगी हुई है। यह पाकिस्तान (Pakistan)से चीन (China) भेजी जा रही थी। संदिग्ध रेडियो एक्टिव सामान की सनसनीखेज़ बरामदगी से कई सवाल खड़े हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि एक विदेशी जहाज़ पर लदे संदिग्ध रेडियो एक्टिव सामान वाले कंटेनरों का पता भी डायरेक्टोरेट ऑफ  रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) और सीमा शुल्क यानी कस्टम विभाग की टीम ने लगाया है। इस सामग्री को आगे की जांच के लिए जहाज से उतार कर जब्त कर लिया गया है। 

पाक, अफगानिस्तान की हैंडलिंग बंद की थी  
अडानी समूह (Adani Group) की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि खुफिया राजस्व निदेशालय (DRI) और सीमा शुल्क यानी कस्टम विभाग की टीम ने एक विदेशी जहाज पर कल संदेह के आधार पर कई कंटेनर की जांच की थी। इन्हें हालांकि गैर खतरनाक किस्म के सामान के तौर पर दर्शाया गया था पर इन कंटेनरों पर हाजर्ड क्लास 7 का चिन्ह था, जो रेडियो एक्टिव पदार्थों वाली सामग्री के लिए होता है। इन्हें पाकिस्तान (Pakistan)के कराची से भारत के मुंद्रा या किसी अन्य बंदरगाह नहीं] बल्कि चीन के शंघाई भेजा जा रहा था। सरकारी अधिकारियों ने आगे की जांच के लिए इन्हें मुंद्रा बंदरगाह पर उक्त जहाज से उतारकर रखा है। इस बीच सूत्रों ने बताया कि उच्च स्तरीय एजेंसियां और विशेषज्ञ इस मामले की जांच में जुटे हैं। करीब एक माह पहले ईरान के बंदर अब्बास पोर्ट के जरिए भेजी गई हेरोइन की डीआरआई और कस्टम्ज की टीम द्वारा बरामदगी के बाद अडानी पोर्ट ने कहा था कि यह 15 नवंबर से ईरान, पाकिस्तान या अफगानिस्तान से आने वाले किसी भी कंटेनरयुक्त कार्गो की हैंडलिंग नहीं करेगा।

यह भी पढ़ें
India-China Border Dispute: विदेश मंत्री जयशंकर ने माना कि हम चीन के साथ खराब दौर से गुजर रहे हैं
Uniform Civil Code की क्यों है देश में जरूरत? इलाहाबाद HC ने कहा- इसे लागू करने पर विचार करे संसद

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios