Asianet News HindiAsianet News Hindi

भारी नमी के चलते दिल्ली में एयर क्वालिटी फिर ‘बहुत खराब’, प्रदूषण का स्तर भी बढ़ा


निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के वरिष्ठ वैज्ञानिक महेश पालावत ने कहा, ‘‘हमारा अनुमान है कि बर्फबारी के चलते जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश से ठंडी, सूखी हवाएं चलेंगी। सूखी हवा से नमी में कमी आएगी। अगले 24 घंटे के बाद हवा की गुणवत्ता में सुधार होने लगेगा।’’ 

air pollution level rises in delhi
Author
New Delhi, First Published Nov 8, 2019, 12:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में गुरुवार को एयर क्वालिटी एक बार फिर ‘‘बहुत खराब’’ की श्रेणी में आ गई। हल्की बारिश के चलते नमी बढ़ने से ऐसा हुआ। 
दिल्लीवासी धूप निकलने और हवा की गति में सुधार आने के बाद पिछले तीन दिनों में कम प्रदूषित हवा में सांस ले रहे थे लेकिन पिछले कुछ दिनों में फिर नमी बढ़ने से प्रदूषण का स्तर भी बढ़ गया। रविवार को भी हल्की बारिश ने नमी बढ़ा दी थी जिससे शहर की आबोहवा दमघोंटू हो गई थी।

आग जलने और गाड़ी के धुएं से प्रदूषण को मिला बढ़ावा

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि भारी नमी और हल्की हवाओं के चलते प्रदूषकों का फैलाव बढ़ा और इसके चलते अधिक संख्या में सेकेंडरी पार्टिक्लस के निर्माण को बढ़ावा मिला। सेकेंडरी पार्टिक्लस वे हैं जो प्राईमरी प्रदूषकों और अन्य वायुमंडलीय घटकों जैसे सल्फर-डाइऑक्साइड और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड के साथ कैमिकल प्रभाव से पैदा होते हैं। ये वायुमंडलीय घटक आग जलने और वाहनों के धुएं से निकलते हैं। सेकेंडरी पार्टिक्लस में सल्फेट्स, नाइट्रेट्स, ओजोन और ऑर्गेनिक एरोसोल शामिल हैं। दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडैक्स (एक्यूआई) शाम चार बजे 309 था। ये बुधवार रात साढ़े नौ बजे 342 पहुंच गया।

जम्मू-कश्मीर में बर्फबारी, एयर क्वालिटी में आएगा सुधार 

पड़ोसी नोएडा (366), गाजियाबाद (365), ग्रोटर नोएडा (352) और फरीदाबाद (342) में भी वायु गुणवत्ता प्रभावित हुई। एक्यूआई 0-50 के बीच ‘अच्छा’, 51-100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101-200 के बीच ‘मध्यम’, 201-300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘अत्यंत खराब’, 401-500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 के पार ‘बेहद गंभीर’ माना जाता है। हालांकि, मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि हरियाणा और पंजाब में अच्छी बारिश हुई है, इससे दिल्ली के प्रदूषण में पराली जलाने का प्रभाव कम होगा। नासा की एक सैटेलाइट से ली गई तस्वीर में पराली जलाने की संख्या में कमी दिखाई दी। 

निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट वेदर के वरिष्ठ वैज्ञानिक महेश पालावत ने कहा, ‘‘हमारा अनुमान है कि बर्फबारी के चलते जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश से ठंडी, सूखी हवाएं चलेंगी। सूखी हवा से नमी में कमी आएगी। अगले 24 घंटे के बाद हवा की गुणवत्ता में सुधार होने लगेगा।’’ इस बीच, दक्षिण दिल्ली नगर निगम ने प्रदूषण पर लगाम लगाने के कामों में लापरवाही बरतने के चलते दो अधिकारियों और कई सफाई कर्मियों को निलंबित कर दिया।


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios