Asianet News HindiAsianet News Hindi

राम मंदिर फैसले के बाद बड़ी बैठक, अजीत डोभाल ने इस वजह से 30 धर्मगुरुओं को अपने घर बुलाया

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट में फैसला सुनाए जाने के एक दिन बाद एनएसए अजीत डोभाल ने महमूद मदनी, रामदेव समेत देश के 30 धर्मगुरुओं के साथ बैठक की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अजीत डोभाल ने कहा कि हमें उन लोगों से सतर्क रहने की जरूरत है, जो लोग अमन चैन के खिलाफ है।  

Ajit Doval held meeting with 30 religious leaders after Supreme Court verdict on Ram temple
Author
New Delhi, First Published Nov 10, 2019, 4:25 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट में फैसला सुनाए जाने के एक दिन बाद एनएसए अजीत डोभाल ने महमूद मदनी, रामदेव समेत देश के 30 धर्मगुरुओं के साथ बैठक की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अजीत डोभाल ने कहा कि हमें उन लोगों से सतर्क रहने की जरूरत है, जो लोग अमन चैन के खिलाफ है। उन्होंने कोर्ट के फैसले पर शांतिपूर्वक अमल करने की अपील की। 

डोभाल के घर पर हुई बैठक
- एनएसए अजीत डोभाल ने बाबा रामदेव, स्वामी परमात्मानंद, अवधेशानंद गिरि शिया मुस्लिम धर्म गुरु मौलाना कल्बे जवाद, मौलाना अरशद मदनी से मुलाकात की। यह मीटिंग डोभाल के घर पर ही बुलाई गई थी। 

- उन्होंने कहा, इस ऐतिहासिक फैसले को देश ने शांतिपूर्वक स्वीकार किया है। हमें याद रखना चाहिए कि कई ऐसे तत्व है देश और देश के बाहर, जो दो समुदाय के बीच में अमन और चैन नहीं देखना चाहते हैं। हमें ऐसे लोगों से सतर्क रहने की जरूरत है। 

- अजीत डोभाल ने कहा कि फैसले के बाद दोनों धर्मों के लोग इस बात पर विचार करने के लिए इकट्ठा हुए है कि कैसे हम कोर्ट के फैसले पर शांतिपूर्वक अमल करें।

सुप्रीम कोर्ट ने क्या फैसला दिया
राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया कि 2.77 एकड़ की विवादित जमीन पर मंदिर बनेगा। मस्जिद के लिए अयोध्या में ही अलग से 5 एकड़ जमीन दी जाएगी। फैसले के बाद ही तुषार गांधी ने सुप्रीम कोर्ट पर तंज कसा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios