Asianet News HindiAsianet News Hindi

अमित शाह VS पी. चिदंबरम: 10 साल बाद कुछ यूं बदल गया समयचक्र

सोशल मीडिया पर अमित शाह और पी चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस का वीडियो शेयर किया जा रहा है। जिसमें दोनों की तुलना की जा रही है। 25 जुलाई 2010 को सीबीआई ने अमित शाह को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था। उस समय देश के गृहमंत्री पी चिदंबरम थे। अब सीबीआई की गिरफ्त में पी चिदंबरम हैं और देश के गृहमंत्री अमित शाह हैं। 
 

amit shah arrested when p chidambaram home minister in 2010
Author
New Delhi, First Published Aug 22, 2019, 11:37 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया मामले में बुधवार रात को सीबीआई ने पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें गुरूवार दोपहर 2 बजे सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा। दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले के 27 घंटे बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। इससे पहले मंगलवार को कोर्ट ने मामले में जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। इस याचिका पर कोर्ट में खुद देश की दो बड़ी जांच एजेंसी ईडी और सीबीआई ने विरोध किया था। अब उनकी गिरफ्तारी के बाद सोशल मीडिया पर अमित शाह और पी चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस का वीडियो शेयर किया जा रहा है। इसमें दोनों की तुलना की जा रही है। 25 जुलाई 2010 को सीबीआई ने अमित शाह को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था। उस समय देश के गृहमंत्री पी चिदंबरम थे। अब सीबीआई की गिरफ्त में पी चिदंबरम हैं और देश के गृहमंत्री अमित शाह हैं। 

2010 में हुई थी अमित साह की गिरफ्तारी

यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान देश के गृहमंत्री पी चिदंबरम थे। उस वक्त सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस सुर्खियों में था। इसी मामले में अमित शाह पर कार्रवाई की गई थी। 25 जुलाई 2010 को उन्हें गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया था। चिदंबरम 29 नवंबर, 2008 से 31 जुलाई 2012 तक देश के गृह मंत्रीरहे थे। 25 जुलाई को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अमित शाह को सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। वे तीन महीने तक जेल में रहे थे। उन्हें 2 साल तक गुजरात से बाहर रहने का आदेश दिया गया। 29 अक्टूबर, 2010 को गुजरात की हाईकोर्ट ने अमित शाह को रिहा कर दिया था। बीजेपी ने उस वक्त यूपीए सरकार पर बदले की कार्रवाई का आरोप लगाया था। 2012 में उन्हें गुजरात जाने की इजाजत दी गई। 2015 में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया। 

 

9 साल बाद समय बदला, और चिदंबरम सीबीआई की गिरफ्त में

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम पर आईएनक्स मीडिया मामले में रिश्वत लेने का आरोप है। दिल्ली हाईकोर्ट ने मंगलवार को उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया था। सीबीआई के अधिकारी मंगलवार और बुधवार को उनके घर पहुंचे थे, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला। जिसके बाद उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया। रात 8 बजे पी चिदंबरम ने अचानक से आकर कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा -INX मीडिया मामले में आरोपी नहीं हैं। ना ही इस मामले में उनके और उनके परिवार के खिलाफ कोई चार्जशीट दायर की गई है। उन्हें और उनके बेटे कार्ति को इस मामले में फंसाया जा रहा है। हालांकि, वे थोड़ी देर बाद ही वहां से निकल गए। प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सीबीआई चिदंबरम के घर पहुंच गई। इसके बाद जांच एजेंसी ने उन्हें घर से हिरासत में ले लिया।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios