रांची. गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को झारखंड के चक्रधरपुर में चुनावी सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने राहुल गांधी को खुला चैलेंज दिया। उन्होंने कहा कि राहुल बाबा आप अपने 55 साल के शासन का हिसाब लेकर मैदान में आ जाओ। हम अपने पांच साल के शासन का हिसाब ले कर आ रहे हैं। 

इस दौरान शाह ने एनआरसी मुद्दे का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा  कि आप बताइए कि देश में घुसपैठिए जाने चाहिए या नहीं। कांग्रेस कहती है कि एनआरसी मत लाओ। घुसपैठियों को मत निकालो। राहुल बाबा जो बोलना है बोलो। लेकिन अब नरेंद्र मोदी पीएम हैं। भाजपा सरकार पूरे देश में एनआरसी लागू करेगी और चुन चुन कर घुसपैठिए निकालेगी। 

राम मंदिर मुद्दे का भी किया जिक्र
इस दौरान शाह ने एक बार फिर राम मंदिर मुद्दे का जिक्र किया। शाह ने पूछा कि क्या अयोध्या में राम मंदिर नहीं बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कहती थी अयोध्या केस जल्दी चलाने की जरूरत नहीं है। कपिल सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में कहते थे कि इस मामले में जल्दी सुनवाई की कोई जरूरत नहीं। हमने कोर्ट से अनुरोध किया कि मामले का जल्द निपटारा होना चाहिए। इसका क्या नतीजा हुआ, सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया। अब अयोध्या में रामलला का भव्य और आकाश को छूने वाला मंदिर बनेगा। 

"