नई दिल्ली. कोरोना पॉजिटिव मामले दिल्ली में हर दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि 31 जुलाई तक राज्य में 5.5 लाख से ज्यादा कोरोना के मामले हो जाएंगे। लेकिन, अब गृहमंत्री अमित शाह ने इस आंकड़े को लेकर लोगों को चिंता से मुक्त करने की कोशिश की है कि ऐसा नहीं होगा, बल्कि अब दिल्ली की स्थिति नियंत्रण में है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम आने वाले समय में इससे भी अच्छी स्थिति में पहुंच जाएंगे। 

 

अमित शाह ने कही ये बात

दरअसल, अमित शाह ने एक न्यूज एजेंसी को इंटरव्यू दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है। राज्य में अब स्थिति नियंत्रण में है। शाह कहते हैं कि दिल्ली में हर दिन 16 हजार से ज्यादा टेस्ट किए जा रहे हैं। वहीं, होम आइसोलेशन को लेकर चल रहे विवादों को लेकर गृह मंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन को लेकर किसी भी तरह का विवाद नहीं है। छोटी-छोटी बातों को तूल देने की कोई जरूरत नहीं है। अस्पतालों में सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए हैं। लोगों में अस्पतालों पर विश्वास बढ़ा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य में कोई कम्यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं है। 

इसके साथ ही अमित शाह ने कहा कि दिल्ली में 350 डेड बॉडीज अंतिम संस्कार के लिए पेंडिंग थीं। हमने इनका 2 दिन के भीतर ही अंतिम संस्कार करने का फैसला किया। उन शवों का अंतिम संस्कार उनके धर्मों के अनुसार ही किया गया और अंतिम संस्कार के लिए कोई बॉडी नहीं बची।

हमने 3 टीमों का गठन किया: शाह 

गृह मंत्री अमित शाह ने आगे कहा कि उन्होंने दिल्ली सरकार को तत्काल 500 ऑक्सीजन सिलेंडर, 440 वेंटिलेटर दिए हैं। एंबुलेंस के लिए दिल्ली सरकार को कहा है कि प्राइवेट कंपनियों के साथ मिलकर आप इनकी जरूरत पूरी कर सकते हैं। हमने 3 टीमों का गठन किया, जिसमें दिल्ली सरकार के और एम्स के डॉक्टर हैं, और ICMR के विशेषज्ञ हैं। उन्होंने सभी जगह की कमियों को ठीक करने के लिए हर प्रकार की कोशिश की है।

दिल्ली के लिए बनाएंगे रणनीति: शाह 

कोरोना को लेकर अमित शाह ने NCR की बैठक की है। सीएम अरविंद केजरीवाल को लूप में रखकर उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की जाएगी और एनसीआर के लिए समन्वित रणनीति हम बनाएंगे। टेस्टिंग बढ़ाना और अन्य व्यवस्थाओं को बढ़ाने का काम एनसीआर में भी किया जाएगा।