नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शाह ने ट्वीट कर खुद यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोरोना के शुरूआती लक्षण दिखने के बाद उन्होंने कोरोना का टेस्ट कराया था। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शाह को मेदांता के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया उनका हाल चाल लेने मेदांता अस्पताल जा सकते हैं। अमित शाह मोदी मंत्रिमंडल में पहले मंत्री हैं, जो कोरोना से संक्रमित हुए हैं। वहीं, उत्तर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह और तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारी लाल भी संक्रमित पाए गए हैं। 

अमित शाह ने लिखा, कोरोना के शुरूआती लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी तबीयत ठीक है, लेकिन डॉक्टर्स की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हो रहा हूं। मेरी अपील है कि आप में से जो भी लोग गत कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आए हैं, वे आइसोलेट कर अपनी जांच करवाएं।
 


क्वारंटीन हुए बाबुल सुप्रियो
केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने ट्वीट कर कहा, मैं कल शाम को गृह मंत्री अमित शाह से मिला था। मुझे डॉक्टरों ने कुछ दिनों के लिए क्वारंटीन होने की सलाह दी है। मैं अपनी जांच करा ली है। 

राहुल गांधी की जल्द ठीक होने की कामना


केजरीवाल ने भी की ठीक होने की कामना


 


उत्तरप्रदेश भाजपा अध्यक्ष भी संक्रमित

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, मुझे कोरोना के शुरुआती लक्षण दिख रहे थे जिसके चलते मैंने अपनी कोविड-19 की जांच कराई। जांच में मेरी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। मुझसे संपर्क में आने वाले सभी लोगों से मेरा निवेदन है कि वह गाइडलाइन के अनुसार स्वयं को क्वारंटाइन कर ले और अपनी जांच करा लें।

मप्र के सीएम शिवराज सिंह भी कोरोना पॉजिटिव
इससे पहले मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। उनका इलाज भोपाल में चल रहा है। हालांकि, शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को ट्वीट कर बताया कि उनकी तबीयत अब ठीक है, उनमें कोरोना का कोई लक्षण नहीं दिख रहा है। अगर उनकी रिपोर्ट निगेटिव आती है तो कल अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी। 

 

 

योगी की कैबिनेट मंत्री का कोरोना से निधन
इससे पहले यूपी सरकार की कैबिनेट मंत्री कमला रानी वरुण की रविवार को कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। उनका इलाज लखनऊ के पीजीआई में चल रहा था। बता दें कि 18 जुलाई को सिविल अस्पताल में उनके सैंपल की जांच की गई थी, जिसमें उनमें संक्रमण की पुष्टि हुई थी। उनके परिवार के कई अन्य लोग भी संक्रमित हैं। वो कानपुर के घाटमपुर सीट से भाजपा की विधायक थी।