Asianet News Hindi

एंटीलिया केस: मनसुख हिरेन की मौत के मामले की जांच NIA को सौंपी गई, गृह मंत्रालय ने दिया आदेश

मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर 25 फरवरी को जिलेटिन की छड़ो से भरी कार मिली थी। इसके बाद मामले में सचिन वाजे को 13 मार्च को गिरफ्तार किया गया था। संबंधित एसयूवी के मालिक रहे कारोबारी मनसुख हिरेन की मौत के मामले में भी वीजे को ही संदिग्ध माना जा रहा है। हिरेन ठाणे जिले में पांच मार्च को मृत मिले थे। ऐसे में, एंटीलिया केस का सच जानने की तलाश में NIA की टीम जुटी हुई है।

Antilia case NIA recreate the seen by wearing a kurta pajama to sachin waje Outside Ambani House KPY
Author
Mumbai, First Published Mar 20, 2021, 10:31 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर 25 फरवरी को जिलेटिन की छड़ो से भरी कार मिली थी। इसके बाद मामले में सचिन वाजे को 13 मार्च को गिरफ्तार किया गया था। संबंधित एसयूवी के मालिक रहे कारोबारी मनसुख हिरेन की मौत के मामले में भी वीजे को ही संदिग्ध माना जा रहा है। हिरेन ठाणे जिले में पांच मार्च को मृत मिले थे। ऐसे में, एंटीलिया केस का सच जानने की तलाश में NIA की टीम जुटी हुई है। टीम ने अंबानी के घर के बाहर मुंबई पुलिस के पूर्व अधिकारी सचिन वाजे को बीती रात कुर्ता-पायजामा पहनाकर सीन को रीक्रिएट किया गया। NIA की ओर से दावा किया जा रहा है कि 25 फरवरी को सामने आए सीसीटीवी में कैद हुआ संदिग्ध सचिन वाजे ही था। इसके साथ ही एंटीलिया केस में एसयूवी के मालिक हिरेन की मौत की जांच को भी केंद्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दिया गया है। 

 

 इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आदेश जारी कर दिया है। हिरेन का शव ठाणे में एक क्रीक में पाया गया था। 3 मार्च को एनआईए ने मुंबई में मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर 20 जिलेटिन की छड़ें और एक धमकी भरे नोट के साथ पाए गए एसयूवी की जांच पहले ही अपने हाथ में ले ली है। यह घटना 25 फरवरी की है।

ATS कर रही थी मामले की जांच

हिरेन की मौत के मामले की जांच अभी तक महाराष्ट्र पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) द्वारा की जा रही थी, जिसकी निगरानी मुख्य अतिरिक्त महानिदेशक जय जीत सिंह और उप महानिरीक्षक शिवदीप लांडे कर रहे थे। हिरेन की डेड बॉडी गायब होने के एक दिन बाद 5 मार्च को मिली थी।

देर रात में किया गया सीन को रीक्रिएट
NIA टीम ने देर रात करीब 10:30 बजे क्राइम सीन रीक्रिएट किया। सचिन वाजे को पैदल चलाया गया। गाड़ी में बैठाकर भी जांच की गई। ये रीक्रिएशन करीब एक घंटे चला। इस दौरान NIA के साथ CFSL की टीम भी मौजूद थी। वहीं, मनसुख हिरेन की मौत के मामले की जांच भी अब NIA के पास जा सकती है। अभी मनसुख मामले की जांच ATS के पास ही है। ATS को सचिन वाजे का प्रोडक्शन वॉरन्ट मिला है।

सूत्रों के मुताबिक, मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि ATS ने कोर्ट में बताया कि उनके पास बयान और तकनीकी सबूत हैं, जिसके आधार पर सचिन वाजे मनसुख की हत्या के शक के दायरे में हैं। एंटीलिया केस में NIA ने कोर्ट से कहा कि सचिन वाजे जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। वकील मौजूद नहीं होने की वजह से उन्होंने सही जवाब नहीं दिए। अनुमति दिए जाने के बावजूद वकील नहीं पहुंचे।

दो और लग्जरी कारों को किया गया जब्त
एनआईए ने गुरुवार को दो और लग्जरी कार जब्त की हैं, जिसे लेकर कहा जा रहा है कि मुंबई के निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे इसका इस्तेमाल कर रहा था। एनआईए के हवाले से बताया जा रहा है कि एक टोयोटा लैंड क्रूजर प्राडो कार ठाणे के साकेत क्षेत्र में वाजे के आवास के बाहर खड़ी मिली। इसके अलावा एक मर्सडीज कार भी जब्त की गई, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि यह कहां से बरामद हुई।

मामले में अब तक जब्त किए गए वाहनों की संख्या 5 हो गई है, जिनमें एक अन्य मर्सिडीज, एक स्कोर्पियो और एक इनोवा कार शामिल है। वाहनों को यहां कुंबाला हिल स्थित एनआईए कार्यालय लाया गया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios